केरल में निपाह वायरस रोग का कोई नया मामला नहीं

नयी दिल्ली - केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि “केरल में निपाह वायरस रोग का कोई नया मामला नहीं है।” उन्होंने यह भी कहा कि निपाह पॉजिटिव रोगी की नैदानिकी स्थिति में और सुधार हो रहा है।


 आइसोलेशन वार्ड में 8 मरीज हैं और उनमें से 7 निपाह वायरस के लिए निगेटिव पाए गए हैं। 8वें मरीज के नमूने का प्वाइंट ऑफ केयर (पीओसी) लैब में परीक्षण किया जा रहा है। आइसोलेशन वार्ड के 4 अन्य रोगियों को छुट्टी दे दी गई जिनकी नैदानिकी स्थिति सुधर गई थी।


पुणे के राष्ट्रीय विरोलॉजी संस्थान ने सूअरों से तीन रक्त नमूने संग्रहित किए हैं और थोडुकुझा (इडुकी जिले) से चमगादड़ों के लगभग 10 नमूने एकत्र किए हैं।


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन व्यक्तिगत रूप से केरल में निपाह वायरस रोग की स्थिति की नियमित रूप से समीक्षा और निगरानी करते रहे हैं और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे केरल राज्य सरकार के साथ स्थिति की समीक्षा करें।


केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय स्थिति की रोकथाम एवं प्रबंधन में केरल सरकार को नियमित रूप से सभी प्रकार की सहायता उपलब्ध करा रहा है।