फिल्म ''अवंतिका'' सितंबर में होगी रिलीज


मुंबई - बॉलीवुड में हॉरर फिल्मों का अपना एक अलग ही दर्शक वर्ग है. ब्लैक एंड व्हाइट हो या कलर का दौर, हॉरर फिल्में हमेशा से ही पसंद की जाती आई हैं । कई निर्माता निर्देशकों ने तो अपनी पहचान ही इन हॉरर फिल्मों से बनाई है। लेकिन पिछले कुछ दौर में अश्लीलता हॉरर फिल्मों की एक पहचान बन गईथी, इसीलिए हॉरर फिल्मों का दर्शक वर्ग कुछ कम सा हो गया था। हाॅरर फिल्मों के साथ एक समस्या यह भी है कि इसे फैमिली या परिजनों के साथ नहीं देखा जा सकता था ।


हालांकि दक्षिण भारतीय हॉरर फिल्मों का टेलीविजन पर आना अब कुछ नई बात नहीं रही। *कंचना , काशमोरा और राजमहल* जैसी फिल्मों ने हिंदी टीवी चैनलों पर अपनी धूम मचा रखी है । अब मशहूर निर्माता-निर्देशक *एजाज़ अहमद* ऐसी ही एक रोमांचक फिल्म लेकर आ रहे हैं जिसका नाम है *अवंतिका*।


एजाज़ अहमद की मानें तो यह हॉरर फिल्मों की कैटेगरी में अपने आप में पहली फिल्म होगी जो दर्शक अपनी फैमिली के साथ बैठ कर देख सकते हैं। इस फिल्म में अखिलेश वर्मा और मोनिका चौधरी मुख्य भूमिका में दिखाई देंगे और उनका साथ देते नजर आएंगे कॉमेडियन सुनील पाल । एजाज अहमद ने इससे पहले *हु इज़ देयर*, *परछाई*, और *लाइफ की ऐसी की तैसी* जैसी मशहूर फिल्मों का निर्देशन किया है। एजाज़ अहमद हमेशा से अपने अलग किस्म के निर्देशन के लिए जाने जाते हैं । उनका कहना है कि यह फिल्म दर्शकों को बहुत पसंद आएगी। इसमें हर वो चीज है जो आज की हॉरर फिल्मों में मिसिंग है । *अवंतिका* अपने आप में बॉलीवुड के लिए एक नया अनुभव होगा।


यह अपने प्रकार की पहली हॉरर कॉमेडी फिल्म होगी । आपको बता दें कि आजकल हॉरर कॉमेडी का चलन सा चलने लगा है। *द ग्रेट ग्रैंड मस्ती* हो या *गोलमाल 3*, इन फिल्मों ने काफी अच्छा व्यवसाय किया है। खासकर ऐसी हॉरर कॉमेडी फिल्मों की टीवी चैनल्स पर काफी डिमांड है। इसी को मद्देनजर रखते हुए निर्माता-निर्देशक एजाज़ अहमद ने *अवंतिका* बनाई है। उम्मीद है कि यह फिल्म दर्शकों को पसंद आएगी, यह फिल्म सितंबर में रिलीज होगी।






 





टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर