शिक्षा देने से बड़ा कोई दान नहीं // ज़फरुल इस्लाम


नयी दिल्ली - दिल्ली के घोंडा इलाके में बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड तथा सोफ़िया एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी ने मिलकर जो लड़कियां किसी कारण से स्कूल नहीं जा पा रही हैं उनका दाखिला ओपन स्कूल या सीबीएसई पत्राचार से मुफ़्त कराकर उन्हें ट्यूशन देकर मुख्य धारा में जोड़ने व सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले नौवीं और दसवीं के विधार्थियों को जिनके माता पिता उन्हें ट्यूशन नहीं दिला पाते हैं उनके लिए मुफ्त ट्यूशन के लिए एक सेंटर सशक्त के नाम से खोला गया जिसका उद्घाटन दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष डॉ० ज़फरुल इस्लाम खान, मुख्य अतिथि मोहम्मद उमर सैफ़ी [ ऑल इन्डिया सैफ़ी काउंसिल , दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ] , बृजेश कुमार [ बिज़नेस हैड बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड ] तथा शकील सैफ़ी [ सिस्टम एनेलिस्ट तीस हज़ारी कोर्ट ] विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। 


ऐसा कहा जाता है कि किसी परिवार की एक लड़की को पढ़ाने का मतलब सात पीढ़ियों को पढ़ाने के बराबर समझा जाता है।  सोफ़िया संस्था की टीम ने उत्तर पूर्वी दिल्ली का एक सर्वे किया जिस में पाया कि इलाके में बहुत सारी ऐसी लड़कियां हैं जो किसी न किसी कारण से स्कूल नहीं जा पा रहीं हैं।  सोफ़िया की टीम ने बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड के साथ मिलकर यह शुरुआत करने का इरादा किया। 


अपने संबोधन में डॉ० इस्लाम ने कहा कि इल्म हासिल करना है तो जाओ भले ही तुम्हें चीन तक क्यों न जाना पड़े और यहां तो बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड और सोफ़िया संस्था ने मिलकर आपके इलाके में ऐसा सेंटर खोला है कि जिस से तमाम इलाके के बच्चों को फायदा मिलेगा और कंपनी सामाजिक दायित्व समझते हुए अपने पैसे का बिलकुल सही इस्तेमाल किया है , उन्होंने कहा कि शिक्षा देने से बड़ा कोई दान नहीं है। लोगों को भी चाहिए कि कंपनी के हर काम में सहयोग करें और उन लोगों की मदद करें जिस से ज्यादा से ज्यादा सेंटर खोले जा सकें और लड़कियों को पढ़ा कर उन्हें मुख्य धारा में जोड़ा जा सके। 


बृजेश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि सोफ़िया टीम का लड़कियों और महिलाओं के लिए लगातार काम करना एक सराहनीय कदम है और बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड की तरफ से सोफ़िया के साथ मिलकर यह दूसरा सशक्त सेंटर है जिस में बच्चों को ट्यूशन  साथ साथ ड्रॉप आउट लड़कियों को मुख्य धारा में जोड़ा जायेगा और बहुत जल्द ही इस इलाके में एक स्किल डेवलपमेंट सेंटर भी खोला जायेगा , जिस से यहां के युवा हुनर सीख़ कर आत्म निर्भर बन सकेंगे और अपने परिवार की आर्थिक रूप से मदद कर पाएंगे।


सुहेल सैफ़ी ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि सोफ़िया संस्था पिछले 15 सालों से समाज में महिलाओं तथा लड़कियों को उनके अधिकार के लिए जागरूकता पैदा करने के अलावा स्वास्थ्य ,शिक्षा तथा जीवन यापन के लिए व्यवसायिक ट्रेनिंग देकर उन्हें आत्म निर्भर बना रही है साथ ही मुख्य धरा से जोड़ने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही है। यह सेंटर आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा।  


इस अवसर पर रहीस सैफ़ी ,युसूफ ,फ़ुरक़ान ,मास्टर असग़र अली ,मुस्तक़ीम ,हाजी नाटी ,अरविन्द चौधरी ,मेघा आंनद ,कृति खन्ना ,पार्वती ,सुषमा ,बबिता ,सरफ़राज़,नदीम ,जोगिन्दर ,हिना ,शबाना ,रबिका वगैरह मौजूद थे।