नव प्रभात जन सेवा संस्थान की अनूठी पहल


नयी दिल्ली - जल प्रकृति की अनमोल धरोहर है। धरती के दो तिहाई हिस्से पर पानी भरा हुआ है, फिर भी पीने योग्य शुद्ध जल पृथ्वी पर उपलब्ध जल का मात्र एक प्रतिशत ही है। आज समय है कि हम पानी की कीमत समझें। यदि जल व्यर्थ बहेगा तो आने वाले समय में पानी की कमी एक महा संकट के रूप में हमारे सामने होगी, जिसका परिणाम भी हमें ही भुगतना पड़ेगा।


नव प्रभात जन सेवा संस्थान ने इस संकट को संज्ञान में लेते हुए और एक अनूठी पहल करते हुए अपने अगले कार्यक्रम का विषय भी यही चुना है। 


हमारे इस कार्यक्रम के अंतर्गत जल संचयन/वृक्षारोपण/पर्यावरण आदि सम्बद्ध अभियानों में सतत संलग्न और उत्कृष्ट उप्लब्धिधारक व्यक्ति/संस्थाएं भागीदारी हेतु सादर आमंत्रित हैं।


कार्यक्रम में शामिल होने की इच्छुक संस्थाओं/व्यक्तियों का विवरण, प्रमाणों/विशिष्ट कार्यों के अधिकतम 2-3 मिनट के वीडियो सहित नीचे दिए गए ईमेल पर 25 सितंबर,19 तक आमन्त्रित हैं।


नोट: एक जूरी द्वारा चयनित सभी संस्थाओं/व्यक्तियों को उपस्थित गणमान्य अतिथियों के साथ अपने अनुभवों और कार्यों को साझा करने का सुअवसर प्राप्त होगा तथा उन्हें मुख्य अतिथि की गरिमामय उपस्थिति में आकर्षक मोमेंटो/सर्टिफिकेट और शॉल ओढ़ाकर, ''सजग जल संरक्षक'' सम्मान से सम्मानित किया जाएगा।


कार्यक्रम की तिथि: 13 अक्टूबर,19
समय: 3.00 से 6.00 अपराह्न
स्थान: कांस्टीट्यूशन क्लब, रफ़ी मार्ग, नई दिल्ली।


अन्य किसी जानकारी के लिए संपर्क नम्बर:
सुमन (अध्यक्ष): 9999 513 602
राज कुमार दुबे (सचिव) :9999284602,
किशोर श्रीवास्तव (समन्वयक): 9599600313
प्रविष्टियां कृपया इस मेल पर भेजें: navprabhat.jss@gmail.com