विवाहिता महिलाएं अखंड सौभाग्य के लिए रखती हैं व्रत


विवाहिता महिलाएं अखंड सौभाग्य के लिए रखती हैं. व्रत भाद्र पद मास के शुक्ल पक्ष के तृतीया के हर तालिका तीज व्रत करती हैं यह व्रत अविवाहित युवतियां व विवाहित महिलाएं मनचाहा वर् के लिए निर्जला व्रत करती है। इस व्रत में फलाहार भी नहीं किया जाता है व्रत काफी कठिन होता है. 


शास्त्र के अनुसार तीज माता गौरी और भगवान शिव के नाम से स्थापना पूजन दीप जलाकर करना चाहिए ओम उमाय नमः: हर तालिका तीज  के दिन व्रत करने वाली महिला महापति देवी ने बताया यह व्रत पति व पुत्र के लंबी दीर्घायु के लिए करते हैं. यह 58 वर्ष की महिला है ,उन्होंने बताया कि यह व्रत बहुत कठिन होता है बिना पानी पिए से व्रत किया जाता है प्यास लगने के वजूद भी पानी नहीं पीते हैं.


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

मुंबई उपचुनाव में MEP का शानदार प्रदर्शन : दिल्ली MCD चुनाव में उम्मीदवार उतारने का फैसला