शेरी नशिस्त व काव्य गोष्ठी में जमकर गूंजे क़ौमी एकता के स्वर


पश्चिम विहार,नई दिल्ली ,समाज सारथी के तत्वावधान में व भारतीय विकास समिति दिल्ली प्रदेश पंजीकृत एवं जनवाणी समाचार स्पेशल  द्वारा प्रायोजित  काव्य गोष्ठी  जिसकी अध्यक्षता देश के जाने माने गीतकार ओजस्वी कवि डॉक्टर जयसिंह आर्य ने की। मुख्य अतिथि थे सुप्रसिद्ध शायर ग़ज़लकार शहादत अली निज़ामी और विशिष्ट अतिथि के रूप में सुप्रसिद्ध ग़ज़लकार जनाब सरफ़राज़ अहमद, संचालन शाइर असलम बेताब का रहा ।संयोजक थे युवा ग़ज़लकार रामश्याम हसीन।



इस काव्य से गोष्ठी में चार चांद लगाने वाले कविवर थे ज़नाब इब्राहिम अल्वी, दिवाकर ,डॉक्टर पन्नालाल ,गोपाल गुप्ता गोपाल,संजीव सक्सेना,ज़नाब अशरफ देहलवी,असलम बेताब,वसीम जहांगीराबादी,इरफान राही,मुकेश कुमार,रश्मि पहली किरण ,अजय मिश्रा ,सुरेंद्र खास, संजीव झा ,नेहा नाहटा, पूनम शर्मा, शकील बरेलवी, पवन परमार्थी ,रागिनी झा एहसास, प्रदीप सुमनाक्षर।
 इस अवसर पर समाचार पत्र जनवाणी के अंक का लोकार्पण डॉक्टर जयसिंह आर्य तथा शायर सरफ़राज़ अहमद फ़राज़ साहब  ने अपने कर कमलों से किया।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन