ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में भारत के सबसे बड़े पुरस्कारों का आयोजन

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को सभी कैटेगरी में सबसे अधिक पुरस्कार मिले और उसे दोपहिया वाहनों के लिए 'ओईएम ऑफ द ईयर' चुना गया, जबकि हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने चार पहिया वाहनों के लिए 'ओईएम ऑफ द ईयर' का प्रतिष्ठित खिताब जीता। इस समारोह के निर्णायक मंडल में अरविंद विजय मोहन, गरिमा अवतार, सिद्धार्थ शर्मा, आशीष झा, और देवव्रत सरकार शामिल थे।



प्रसिद्ध इंडियन-पंजाबी गायक जस्सी गिल और बब्बल राय ने बेहतरीन प्रस्तुति दी और उत्साह के स्तर को कई गुना बढ़ा दिया। दंगल-फेम एक्टर अपारशक्ति खुराना और अभिनेत्री गौहर खान ने एंटरटेनिंग होस्ट के तौर पर दर्शकों के लिए ग्लैमर का तड़का लगाया!


नई दिल्ली : भारत के सबसे बड़े और अग्रणी ऑनलाइन ऑटोमोबाइल लेन-देन बाजार ड्रूम ने हाल ही में ड्रूम प्री-ओन्ड (पुराने) ऑटोमोटिव अवार्ड्स एंड कॉन्फ्रेंस के दूसरे संस्करण का आयोजन किया। आईटीसी मौर्य में आयोजित इस कार्यक्रम में 500 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इसके अलावा इस कार्यक्रम में 50 से अधिक अवार्ड कैटेगरी के लिए 50 ओईएम प्रतिभागियों ने भाग लिया, जिससे यह ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के लिए भारत का सबसे भव्य पुरस्कार और सम्मेलन बन गया, जो इंडस्ट्री में अपनी तरह का पहला है। 


ड्रूम के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप अग्रवाल के स्वागत भाषण के साथ यह कार्यक्रम इंडस्ट्री से जुड़ी कई प्रसिद्ध हस्तियां उपस्थित थीं। इस बार ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में बदलाव पर टेक्नोलॉजी इनोवेशंस, इकोसिस्टम सर्विसेस, मेगा ट्रेंड्स और मैक्रो-इकोनॉमिक फेक्टर्स जैसे विषयों के असर को समझने के लिए नॉलेज-शेयरिंग सेशंस आयोजित किए गए थे। पैनलिस्ट और वक्ताओं में रूपम अस्थाना-सीईओ और डायरेक्टर, लिबर्टी जनरल इंश्योरेंस, जीतेन्द्र शर्मा-फाउंडर और एमडी, ओकिनावा स्कूटर्स, सोहिन्दर गिल, डायरेक्टर-जनरल एसएमईवी इंडिया, हिडीकी इशी- मैनेजिंग डायरेक्टर, पायनियर इंडिया, रमाशंकर पांडे-एमडी हेला इंडिया लाइटिंग और इंडस्ट्री एक्सपर्ट रणोजॉय मुखर्जी सहित कई नाम शामिल थे।


 भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के व्यापर प्रसार में ढांचागत कमियों को कैसे दूर किया जाए, ग्राहकों की मांगों पर अधिक जोर देने की जरूरत, और विभिन्न रास्तों और इंडस्ट्री रिवाइवल में ग्राहकों की भावना को ध्यान रखते हुए विस्तार कैसे किया जाए, इस बारे में बात की। बीमा के मोर्चे पर यह देखा गया कि बढ़ती एस्पिरेशनल आबादी और बढ़ती संपन्नता बिक्री को आगे ले जाएगी और नए बीमा उत्पाद की आवश्यकता होगी जो असेट-अंडरराइटिंग से मालिक/ ड्राइवर-अंडरराइटिंग में बदलाव लाएगा। फंडिंग के मोर्चे पर विशेषज्ञों ने बताया कि पुराने वाहनों के सेग्मेंट में क्रेडिट पेनिट्रेशन कम क्यों है और वैकल्पिक (गैर-वित्तीय) डेटा के इमर्जेंस, तेजी से डिजिटलीकरण और सेग्मेंट के फॉर्मलाइजेशन से मार्केट में और तेजी लाने में मदद मिल सकती है। ।


 भविष्य को देखते हुए यह अनुमान लगाया गया कि सेफ्टी, सिक्योरिटी और सुविधा प्रायमरी ड्राइवर होंगे और इससे ही जुड़े होंगे कनेक्टिविटी, लीजिंग और सबस्क्रिप्शन, ऑटोनोमी, शेयर्ड राइड्स और इलेक्ट्रिक वाहनों में इंडस्ट्री के भविष्य को आकार देंगे। इस तरह के इंडस्ट्री इनसाइट्स, व्यक्तिगत अनुभव, प्रमुख ट्रेंड्स और भविष्यवाणियों, में गहराई से समझ, और वन-टू-वन बातचीत से यह सम्मेलन निश्चित रूप से सभी लोगों के लिए बेहद समृद्ध अनुभव था!


इस अवसर पर बोलते हुए इंडस्ट्री एक्सपर्ट रणोजॉय मुखर्जी ने कहा, “मैं ड्रूम की तारीफ करता हूं कि उसने इस तरह की इवेंट के बारे में सोचा और इसे वास्तविकता बनाया। वाकई में इस समारोह का एक हिस्सा होना ही अपने आप में एक सम्मान है जो इकोसिस्टम के विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के बीच की खाई को पाटता है और उन्हें अपनी राय साझा करने और व्यावहारिक बातचीत करने को शेयर्ड प्लेटफार्म प्रदान करता है। मेरा मानना है कि इस तरह के प्लेटफॉर्म बेहतर और अधिक व्यापक तरीके से नीति निर्धारण में मदद कर सकते हैं, क्योंकि यह विभिन्न दृष्टिकोणों को साझा करने और नया नजरिया हासिल करने की अनुमति देता है। इसकी वजह से सभी स्टेकहोल्डर्स का दृष्टिकोण व्यापक होता है। ड्रूम प्री-ओन्ड ऑटोमोटिव अवार्ड्स 2019 इंडस्ट्री का एक अद्भुत उत्सव साबित हुआ, और मैं निश्चित रूप से अगली बार इस कार्यक्रम में भाग लेने को उत्सुक हूं


ड्रूम प्री-ओन्ड ऑटोमोटिव अवार्ड्स भारत के एकमात्र ऑटो अवार्ड्स हैं, जो पुराने वाहनों के उपयोग को स्वीकार करते हैं और इस साल नए वाहनों के लिए भी अद्भुत पुरस्कार रखे गए थे! चार प्रमुख कैटेगरी थीं- - पुराने वाहन, नए वाहन, बेस्ट ऑफ ड्रूम और स्पेशल अवार्ड्स- इन्हें ही सब-कैटेगरी में विभाजित कर कुल 50 अलग-अलग पुरस्कार दिए गए। इस इवेंट को जबरदस्त रेस्पांस मिला, जिसमें 50+ ओईएम से 200 से अधिक नामांकन प्राप्त हुए। पुराने वाहनों में, बजाज सीटी100 को कम्युटर बाइक ऑफ ईयर का पुरस्कार दिया गया, जबकि जीप कम्पॉस ने एसयूवी ऑफ द ईयर का अवार्ड जीता। नए वाहनों में, ओकिनावा प्रेज प्रो ने चमकदार प्रदर्शन कायम रखा और इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर ऑफ द ईयर का खिताब जीता, वहीं, किया सेल्टोस ने कनेक्टेड कार ऑफ ईयर का पुरस्कार जीता।


 ड्रूम के सीईओ और संस्थापक संदीप अग्रवाल ने कहा, “हमारे पुराने वाहनों के ऑटोमोटिव अवार्ड्स और सम्मेलन के दूसरे संस्करण के लिए हमें जो प्रतिसाद मिला है, वह उत्साह बढ़ाने वाला और खुशी देने वाला है। ड्रूम में हम हमेशा उन पहल में शामिल रहे हैं जो मोटर वाहन इकोसिस्टम में सभी स्टेकहोल्डर्स को साथ लाते हैं और ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के लिए मजबूत कम्युनिटी बनाते हैं। ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के भीतर इस तरह के प्रयास कितने महत्वपूर्ण हैं, यह समझने के लिए इस समारोह को मिले प्रतिसाद को देखा जा सकता है। मैं हर उस संगठन और व्यक्ति के प्रति आभार व्यक्त करना चाहूंगा, जिन्होंने अपनी सक्रिय भागीदारी और उपस्थिति के साथ इस अद्भुत अनुभव प्राप्त किया। उनकी उपस्थिति हमारे लिए दुनिया जीत लेने जैसी है और अगले साल ग्रांड गाला के साथ वापस आने को प्रेरित करेगी!”