Tuesday, January 7, 2020

NCC युवाओं को एक जिम्‍मेदार नागरिक बनाने के लिए प्रतिबद्ध : एनसीसी महानिदेशक

नयी दिल्ली - गणतंत्र दिवस परेड के पूर्व एनसीसी शिविरों के आयोजन का मुख्‍य उद्देश्‍य गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजधानी में आयोजित विभिन्‍न सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के माध्‍यम से युवाओं को देश की समृद्ध पंरपरा और इतिहास से अवगत कराना है। एक महीने तक आयोजित होने वाले इन शिविरों में कुल 2155 एनसीसी कैडेट  भाग ले रहे हैं। इनमें 710 लड़कियां भी हैं। ये सभी कैडेट 28 राज्‍यों और संघ शासिल प्रदेशों के हैं। इनमें जम्‍मू कश्‍मीर और पूर्वोत्‍तर राज्‍यों से आए कैडेट भी शामिल हैं।



लघु भारत की तस्‍वीर पेश करने वाले इन शिविरों का आने वाले दिनों में रक्षा मंत्री, रक्षा राज्‍य मंत्री,चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ तथा थल,नौसेना और वायुसेना प्रमुख भी दौरा करेंगे।शिविर का समापन 28 जनवरी को प्रधानमंत्री के दौरे के साथ होगा शिविर के दौरान कई तरह के कार्यक्रम आयोजित होंगे। इन शिविरों में रहने वाले कैडेटों को 26 जनवरी को राजपथ में आयोजित गणतंत्र दिवस परेड में हिस्‍सा लेने का मौका मिलेगा।


राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चोपड़ा ने कहा है कि एनसीसी राष्ट्र निर्माण में अहम योगदान देने वाले युवाओं को जिम्मेदार नागरिक बनाने के लिए  प्रतिबद्ध है । एनसीसी के गणतंत्र दिवस शिविर (आरडीसी) के आयोजन के मौके पर वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, डीजी एनसीसी ने राष्ट्र निर्माण में युवाओं को सशक्त बनाने, सामाजिक जागरूकता, सामुदायिक विकास, पर्यावरण संरक्षण, खेल और साहसिक कार्य में एनसीसी की प्रमुख भूमिका पर प्रकाश डाला।


लेफ्टिनेंट जनरल चोपड़ा ने कहा कि एनसीसी के प्रशिक्षण के तौर तरीके बदलते समय के साथ बदल रही युवाओं की आकांक्षाओं और समाज की उम्‍मीदों के अनुरूप हैं। उन्‍होंने कहा  “अब ज्‍यादा ध्‍यान युवाओं के व्‍यक्तित्‍व के विकास, उनमें नेतृत्‍व क्षमता विकसित करने और कौशल विकास के जरिए उन्‍हें भविष्‍य के लिए तैयार करने पर दिया जा रहा है।  


 


Labels: