क्यूएस रैंकिग में जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल भारत में नंबर वन

नई दिल्ली, जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (जेजीएलएस) ने पहली बार क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2020 में करीब एक दशक में ही जेजीएलएस को दुनिया भर में रैंक हासिल गया है, जबकि नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी स्थान दिया गया है। क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2020 को गया है।



भारत के केवल दो लॉ स्कूलों ने शीर्ष स्थान हासिल किया है। क्यूएस क्वैक्वेरेल के क्षेत्रीय निदेशक अश्विन फर्नांडीस के आधार पर क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में, यह भारत में शीर्ष संस्थान भी है। ओ दिया गया है, जबकि भारत में यह पहले स्थान पर रहा है आॅफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु को 151-200 रेंज में पीछे छोड़ की है।” लाॅ में क्यूएस सब्जेक्ट रैंकिंग शैक्षणिक समुदाय और नियोक्ताओं से विषेशकर लाॅ में अनुसंधान के क्षेत्र में संस्थानों की वैश्विक प्रासंगिकता को विषय के प्रति संवेदनशील है और विशेष रूप से वैसे विश्वविद्यालयों या संस्थानों पर केंद्रित है जिनका लाॅ पर अधिक फोकस है। इसलिए केवल सर्वश्रेष्ठ 300 हैं।”


ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के उपलब्धि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह वास्तव में सुनहरा दिवस है। भारत में नंबर 1 लॉ स्कूल के रूप में प्रतिष्ठित क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020 द्वारा दुनिया में शीर्ष 150 में शामिल होना एक ऐतिहासिक उपलब्धि है। जेजीयू के कुलपति, संकाय सदस्यों, छात्रों और उन कर्मचारियों को मेरी बधाई, जिनके एक दशक से अधिक के अथक प्रयासों के कारण पी. जिंदल को श्रद्धांजलि के रूप में ओ की परिवर्तन पैदा करने की शक्ति और राष्ट्र निर्माण पर इसके प्रभाव पर गहरा विश्वास करते थे। हमार विजन भारत में एक विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय स्थापित कर आकांक्षाओं को पूरा करे। सच्चाई यह है कि प्रतिष्ठा और वैश्विक मान्यता हासिल की है क्यूएस रैंकिग में जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल भारत में नंबर एक लाॅ स्कूल जेजीएलएस दुनिया भर में टॉप 150 लाॅ स्कूलों में षामिल ों में षामिल ने क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग में स्थान हासिल किया जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (जेजीएलएस) ने पहली बार यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2020 में स्थान हासिल कर इतिहास रचा है। इस वैश्विक पहचान हासिल की है।


हासिल करने वाले करने वाले करने वाले करने वाले सभी लॉ स्कूलों में 101-150 बैंड में स्थान दिया गया है, जबकि नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी (एनएलएसआईयू एनएलएसआईयू), बेंगलुरु को 151-200 बैंड में यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग 2020 को क्वैक्वेरेली साइमंड्स द्वारा लंदन से अभी गया है। भारत के केवल दो लॉ स्कूलों ने लॉ सब्जेक रैंकिंग में रैंक हासिल किया है, जिनमें क्यूएस क्वैक्वेरेल के क्षेत्रीय निदेशक श्री अश्विन फर्नांडीस ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि पहली बार, यूनिवर्सिटी रैंकिंग में, हम न केवल एक युवा संस्थान है - बल्कि यह भी कि ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी को लॉ में 101-150 रेंज में स्थान
पहले स्थान पर रहा है। इसने भारत के प्रतिश्ठित नेषनल लाॅ स्कूल यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु को 151-200 रेंज में पीछे छोड़ दिया, जिसने भारत में दूसरी रैंक हासिल रैंकिंग शैक्षणिक समुदाय और नियोक्ताओं से मिली प्रतिष्ठा के साथ-साथ में अनुसंधान के क्षेत्र में संस्थानों की वैश्विक प्रासंगिकता को मापता है। इसकी कार्यप्रणाली संवेदनशील है और विशेष रूप से वैसे विश्वविद्यालयों या संस्थानों पर केंद्रित है जिनका लाॅ इसलिए केवल सर्वश्रेष्ठ 300 लाॅ स्कूल विश्व स्तर पर इस सूची में जगह बना जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के बेनफैक्टर बेनफैक्टरऔर फाउंडर चांसलर श्री नवीन चांसलर श्री नवीन चांसलर श्री नवीन जिंदल ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह वास्तव में जेजीयू और जेजीएलएस के इतिहास में एक
है। भारत में नंबर 1 लॉ स्कूल के रूप में जेजीएलस की मान्यता और विषय के आधार पर यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020 द्वारा दुनिया में शीर्ष 150 में शामिल होना एक ऐतिहासिक कुलपति, संकाय सदस्यों, छात्रों और उन कर्मचारियों को मेरी बधाई, जिनके एक
दशक से अधिक के अथक प्रयासों के कारण इसे यह अद्भुत पहचान मिली है।


हमने अपने पिता ओ जिंदल को श्रद्धांजलि के रूप में ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) की स्थापना की, जो शिक्षा शक्ति और राष्ट्र निर्माण पर इसके प्रभाव पर गहरा विश्वास करते थे। हमार भारत में एक विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय स्थापित करने की थी जो भारत और विश्व के युवाओं की यह है कि जेजीयू और जेजीएलएस ने सिर्फ एक दशक में हासिल की है जिसने हमें असीम संतुष्टि प्रदान की है। लेकिन इससे भी लाॅ स्कूल जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (जेजीएलएस) ने पहली बार लाॅ में प्रतिष्ठित है। इसने बहुत कम सभी लॉ स्कूलों में 101-150 बैंड में स्थान दिया ), बेंगलुरु को 151-200 बैंड में अ भी जारी किया
जिनमें जेजीएलएस मुझे खुशी है कि पहली बार, लाॅ विशय युवा संस्थान है - बल्कि यह भी कि जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी को लॉ में 101-150 रेंज में स्थान नेषनल लाॅ स्कूल भारत में दूसरी रैंक हासिल प्रतिष्ठा के साथ-साथ इसकी कार्यप्रणाली संवेदनशील है और विशेष रूप से वैसे विश्वविद्यालयों या संस्थानों पर केंद्रित है जिनका लाॅ स्कूल विश्व स्तर पर इस सूची में जगह बना पाते
ने इस महत्वपूर्ण के इतिहास में एक की मान्यता और विषय के आधार पर यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020 द्वारा दुनिया में शीर्ष 150 में शामिल होना एक ऐतिहासिक बात है।