पियरसन ने छात्रों की लर्निंग जारी रखने के लिए 500 से अधिक अध्यापकों को किया प्रशिक्षित


नई दिल्ली : युनेस्को की रिपोर्ट के मुताबिक 22 देशों में 290 मिलियन से अधिक छात्रों पर कोरोना वायरस महामारी का असर हुआ है। इस माहौल में वर्चुअल लर्निंग छात्रों के लिए एकमात्र समाधान बनकर रह गई है, लेकिन यह उन शिक्षकों के लिए चुनौती का कारण है जो पढ़ाने के ऑनलाईन तरीकों में सक्षम नहीं हैं। इसी समस्या को दूर करने तथा अध्यापकों एवं छात्रों की मदद करने के लिए दुनिया की अग्रणी लर्निंग कंपनी पियरसन ने अध्यापकों को ऑनलाईन अध्यापन तकनीकों में शिक्षित करने की पहल की है।


पियरसन ने 30 स्कूलों में 500 से अधिक अध्यापकों के लिए ऑनलाईन प्रशिक्षण सत्रों का आयोजन किया और उन्हें ऑनलाईन लर्निंग प्लेटफॉर्म के उपयोग में सक्षम बनाया, साथ ही इस मुश्किल समय में छात्रों को भी डिजिटल अध्ययन के तरीकों पर प्रशिक्षण दिया गया। सत्र के दौरान कई महत्वपूर्ण विषयों को कवर किया गया जैसे अध्याय की योजना, अंग्रेज़ी लिखने और पढ़ने के तरीके में सुधार की रणनीतियां, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान पढ़ाने के लिए इंटरैक्टिव रणनीतियां, गणित को रोचक बनाने के लिए योजनाएं, फिनिक्स और ऑनलाईन कक्षा की योजनाएं और इसे इंटरैक्टिव तरीके से अंजाम देना।


कंपनी ने पियरसन के अनूठे इंटरैक्टिव डिजिटल मोबाइल ऐप ‘एक्टिव ऐप’ के लिए निःशुल्क एक्सेस की घोषणा भी की है- जो अध्यापकों को प्रशिक्षण के संसाधन उपलब्ध कराएगा। यह ऐप छात्रों को ई-बुक्स, वीडियो, गतिविधियों, गेम्स, एनिमेशन के ज़रिए रोचक तरीके से लर्निंग के अवसर प्रदान करता है। ऐप के माध्यम से छात्र किसी भी समय, किसी भी स्थान पर यूज़र-फ्रैंडली इंटरफेस के ज़रिए लर्निंग को आसान बना सकते हैं।


रामानंदा एसजी, वाईस प्रेज़ीडेन्ट, सेल्स एण्ड मार्केटिंग, पियरसन इंडिया ने कहा, ‘‘लॉकडाउन के चलते छात्रों और अध्यापकों के बीच दूरियां बन गई हैं, जिसका असर स्कूलों एवं अन्य शैक्षणिक संस्थानों में छात्रों की पढ़ाई पर पड़ रहा है। हम खासतौर पर दूसरे स्तर के शहरों डिजिटल लर्निंग में अध्यापकों के सामने आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए तत्पर हैं। ये सत्र अध्यापकों और छात्रों को निरंतर लर्निंग में सक्षम बनाएंगे और उन्हें समय का सदुपयोग करने में मदद करेंगे। इसके अलावा एक्टिव ऐप के ज़रिए अभिभावक भी अपने बच्चों की पढ़ाई पर निगरानी रख सकेंगे, क्योंकि वे भी इस दौर में घरेलू कामों और घर से काम करने के संघर्ष से जूझ रहे हैं। हम इस मुश्किल समय में छात्रों की लर्निंग को जारी रखते हुए अध्यापकों एवं अभिभावकों को सहयोग प्रदान करने के लिए तत्पर हैं।’’ उपयोगकर्ता प्लेस्टोर/ऐप स्टोर से ‘एक्टिव ऐप’ को डाउनलोड कर सकते हैं और अकाउन्ट बना सकते हैं। एक्टिवेशन के लिए उपयेागकर्ता को +आइकन पर क्लिक करना होगा और स्कूल अथवा पाठ्यपुस्तक में दिए गए कोड को एंटर करना होगा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर