किसानों की समस्याओं को लेकर ज्ञापन सौंपा

नोएडा, प्रदेशव्यापी मुहीम के तहत भारतीय किसान यूनियन भानु के कार्यकर्ताओं ने किसानों की समस्याओं को लेकर गौतमबुद्ध नगर ज़िलाधिकारी कैम्प कार्यालय सेक्टर 27 नोएड़ा पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। प्रशासन की तरफ़ से अपर ज़िलाधिकारी बलराम सिंह ने ज्ञापन लिया।



राष्ट्रीय महासचिव बेगराज गुर्जर ने ज्ञापन में देश, उत्तर प्रदेश के किसानों की समस्याओं को उठाते हुए कहा कि गौतमबुद्ध नगर में प्राधिकरणों द्वारा किसानों की ज़मीनें अधिग्रहण हो जाने के कारण किसान व मज़दूर बेरोज़गार हो गए। जिससे गुजर बसर करने के लिए इन्होंने अपने घरों व दुकानों को किराए पर दिया हुआ है। कोविड 19 की महामारी के चलते लोकडाउन से किराएदार  बेरोज़गार होने से ज़्यादातर अपने घर  चले गए व जो मकानों में रह रहे हैं उनका किराया माफ़ करना पड़ा। 


इस कारण अब मकान मालिक ही भूखे मरने के कगार पर पहुँच गए हैं और अब बिजली का बिल व बच्चों के स्कूलों की फ़ीस भी देने में असमर्थ हैं। इसलिए चार महीने के ( मार्च,अप्रेल,मई व जून )बिजली के बिल व बच्चों के स्कूलों की फ़ीस माफ़ की जाये । गन्ना किसानों का मिलों पर बकाया अविलम्ब भुगतान कराया जाय।गन्ने का मूल्य पाँच सौ रुपए प्रति कुंतल किया जाय। आंधी तूफ़ान व ओला से हुए किसानों की फसलों के नुक़सान की भरपाई का मुआवज़ा अविलम्ब दिया जाये। 


कोविड 19 महामारी में लोकडाउन से बेरोज़गार हुए किसान मज़दूरों को दस हज़ार रुपए महीना भत्ता दिया जाय। सभी किसानों के बैंकों के क़र्ज़े माफ़ किए जाय, राष्ट्रपति जी के नाम ज्ञापन में देश में कहीं भी किसान क़र्ज़ में डूबकर आत्महत्या करता है तो उनके परिजनों को एक करोड़, पुलिस या अर्धसैनिक बल के जवान ड्यूटी करते समय दुर्घटना में मृत्युं होने पर दो करोड़, सेना ( जल, थल, एयरफ़ोर्स एवं बी एस एफ) के जवान को शहीद होने पर पाँच करोड़ मुआवज़ा दिया जाये । इन्ही इत्यादि समस्याओं को लेकर ज्ञापन दिया। 
इस मौक़े पर प्रदेश महामंत्री बीसी प्रधान, नोएडा महानगर अध्यक्ष अरुण शर्मा, संयोजक प्रेम सिंह भाटी, ओमप्रकाश गुर्जर, करमबीर गुर्जर, जगबीर नागर, लटसाहब लोहिया कौशेंद्र यादव आदि मौजूद रहे।