शैक्षणिक सफलता में अपने पिता की भूमिका को सकारात्मक मानते हैं 76.3% छात्र

नयी दिल्ली : फादर्स डे की पृष्ठभूमि में ब्रेनली ने एक बच्चे की शिक्षा में पिता की भूमिका का आकलन करने के लिए अपने भारतीय यूजर बेस के बीच सर्वेक्षण किया। छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन शिक्षण मंच ब्रेनली ने 2,137 प्रतिभागियों से प्राप्त प्रतिक्रियाओं के जरिये दिलचस्प जानकारी हासिल की। वर्तमान स्थिति का आकलन करने और भारतीय छात्रों व अभिभावकों से जानकारी साझा करने के लिए ब्रेनली नियमित रूप से अपने प्लेटफॉर्म पर समय-प्रासंगिक सर्वेक्षण करता है।



ब्रेनली के तीन-चौथाई से अधिक यूजर्स (76.3%) ने स्वीकार किया कि पिता अपने बच्चों की शैक्षणिक सफलता में अभिन्न भूमिका निभाते हैं। ब्रेनली ने यह भी जांचा कि क्या देशव्यापी लॉकडाउन के कारण पिताओं की भागीदारी बढ़ गई थी, और इसके सकारात्मक परिणाम मिले। उत्तरदाताओं के लगभग पांचवें हिस्से (21.4%) ने कहा कि हाल ही में उनके पिता की भागीदारी बढ़ गई थी। बड़ी संख्या में छात्रों (48.6%) ने भी कहा कि शिक्षाविदों में उनके पिता की भागीदारी लॉकडाउन से पहले और उसके बाद के दोनों परिदृश्यों के दौरान समान रही।


48% यानी सर्वेक्षण में भाग लेने वाले लगभग आधे बच्चों ने कहा कि उनके पिता किसी भी ऑनलाइन मदद का उपयोग नहीं करते, जबकि कुल उत्तरदाताओं में से लगभग एक-तिहाई ने इसके विपरीत बात की। तात्पर्य यह है कि 34.1% पिता अपने बच्चों को होमस्कूल करते समय डिजिटल ऐप्लिकेशंस और साधनों सहित नई-नई तकनीकों का लाभ उठा रहे हैं। यह उल्लेखनीय है कि माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाई में मदद करने के लिए सक्रिय प्रयास कर रहे हैं। इसका श्रेय एआई-एमएल-इनेबल्ड ऑनलाइन प्लेटफार्मों को जाता है जिन्होंने सभी हितधारकों के लिए ओवरऑल लर्निंग के अनुभव में क्रांति ला दी है।


ब्रेनली के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर राजेश बायसनी ने अनुकूल आंकड़ों पर टिप्पणी करते हुए कहा,“ ब्रेनली जैसे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म न केवल छात्रों, बल्कि उनके माता-पिता के बीच तेजी से लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं। हमारा मानना है कि यह चलन तब भी जारी रहेगा जब तक कि स्कूल ऑफ़लाइन मोड पर वापस नहीं आ जाते क्योंकि माता-पिता ने ऑनलाइन लर्निंग साधनों से लाभ उठाना सीख लिया है और वे इसका आनंद उठा रहे हैं।


पिछले महीने मदर्स डे के अवसर पर ब्रेनली द्वारा किए गए एक अन्य सर्वेक्षण से भी इसी तरह का ट्रेंड सामने आया था, जिसमें 48.5% उत्तरदाताओं ने बताया था कि उनके पिता उन्हें पढ़ाई में मदद करते हैं। हालांकि, पिछले सर्वेक्षण ने यह भी बताया कि शुरुआत में 44.4% ने घर से सीखने के दौरान अपने पिता से कोई शैक्षणिक मदद नहीं ली। इस वजह से ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्मों के साथ बच्चे की शैक्षणिक गतिविधियों में पिता की बढ़ती भागीदारी को लॉकडाउन के दौरान एक सकारात्मक कदम के रूप में देखा जा रहा है।