Saturday, July 11, 2020

BSDU के छात्रों ने 3-इन-1 कोविड सेफ्टी डिवाइस का आविष्कार किया

जयपुर : भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) में स्कूल ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप स्किल्स के छात्रों ने डॉ. रवि कुमार गोयल की सलाह के तहत एक ऐसा 3-इन-1 कोविड 19 सेफ्टी डिवाइस का आविष्कार किया है, जो एक ही बार में मानव शरीर का तापमान लेता है, मौजूदगी दर्ज करता है और सैनिटाइजर रिलीज करता है।



यह उपकरण सौर और ग्रिड ऊर्जा स्रोत का उपयोग करते हुए अपने काम को अंजाम देता है। इस अनोखे डिवाइस में मशीन में बॉडी टेम्परेचर सेंसिंग यूनिट है, साथ ही एक ऑटोमैटिक हैंड सैनिटाइजर डिस्पेंसिंग यूनिट, एक डिस्प्ले, फेस रिकग्निशन के लिए एक कैमरा, एक वायरलेस कम्युनिकेशन पैनल, एक अलार्म सिस्टम, एक पॉवर सप्लाई और एक प्रोसेसिंग यूनिट भी होती है, जिससे यह एक बहुउपयोगी मशीन साबित होती है।

पेटेंट का प्रकाशन वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के डिपार्टमेंट फार प्रमोशन आफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड के कंट्रोलर जनरल आफ पेटेंट्स के पेटेंट आॅफिस जरनल में 26 जून, 2020 को किया गया है। इसे ‘हाइब्रिड ऑटोमैटिक सेनिटाइजर डिस्पेंसिंग डिवाइस विद ह्यूमन बाडी टेम्परेचर डिटेक्शन एंड मानिटरिंग ‘शीर्षक के साथ प्रकाशित किया गया है। ‘

बीएसडीयू के उप कुलपति प्रो. अचिंत्य चौधरी ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के प्रकोप के दौरान हमारे छात्रों ने अपनी ऊर्जा का इस्तेमाल ऐसे अनूठे, रचनात्मक और शानदार आविष्कारों की दिशा में किया, जिन्हें हमें ‘न्यू नार्मल‘ के दौरान अपने जीवन में समायोजित करने में मदद मिलेगी। जिस तरह से हमारे छात्र रचनात्मक रूप से अपनी कुशलता को साबित कर रहे हैं और ‘आत्मनिर्भर भारत’ की ओर अग्रसर हैं, यह देखकर हमें प्रसन्नता का अनुभव होता है।

कोरोना महामारी के वर्तमान दौर में बीएसडीयू के छात्र भी नए-नए समाधान लेकर आए हैं। इसी क्रम में छात्रों ने एक ऐसी नई हैंड सैनिटाइजर डिस्पेंसिंग मशीन बनाई है, जिसमें चेहरे की पहचान करने के साथ-साथ शरीर का तापमान मापने का उपकरण भी है, और यह सब पूरी तरह से संपर्क रहित है।

स्कूल ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप स्किल्स के प्राचार्य डॉ. रवि कुमार गोयल ने कहा, ‘‘वर्तमान अनिश्चित और  चिंताजनक समय ने दुनियाभर में अपना असर छोड़ा है और लोगों के जीवन को बदल दिया है। इस मुश्किल समय के दौरान हमारे छात्रों द्वारा किया गया अभिनव आविष्कार इस उद्देश्य के साथ सामने आया है कि देश के नागरिक आवश्यक सावधानी बरतते हुए अपने जीवन को सुरक्षित कर सकें। यह 3-इन-1 कोविड-19 सेफ्टी डिवाइस पर्यावरण की देखभाल के लिहाज से भी उपयुक्त है और इसे ईकोसिस्टम के अनुकूल रखते हुए देश की ताकत को दर्शाने के लिए हमारे छात्रों द्वारा की गई एक अनूठी पहल है।‘‘


Labels: