कोरोना एक अंतराष्ट्रीय साज़िश का परिणाम - डॉ.बिस्वरूप राय चौधरी

डॉ. बिस्वरूप राय चौधरी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना कोई नई बीमारी नही है। यह वायरस पहले से ही मौजूद था। पर, इसे लेकर निहित स्वार्थी तत्वों ने अंतराष्ट्रीय स्तर पर एक साज़िश रच दी जिसका खामियाजा दुनियाभर के आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। डॉ. चौधरी ने कोरोना संक्रमण को अंतरराष्ट्रीय साज़िश का परिणाम बताते हुए कहा कि यह साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं है कि SARS-CoV-2 एक नया वायरस है। कोविड -19, केस फ़ैटैलिटी रेट (CFR) और रेट ऑफ़ ट्रांसमिशन (RO) के संदर्भ में एक सामान्य फ़्लू की तरह ही है। यह बच्चों, वयस्कों, यहां तक कि बुजुर्ग लोगों के लिए भी जानलेवा बीमारी नहीं है।



नई दिल्ली : जाने-माने मेडिकल न्यूट्रिशनिस्ट (खानपान विशेषज्ञ) और राजस्थान की श्रीधर यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल साइंसेज के विभागाध्यक्ष डॉ. बिस्वरूप रॉय चौधरी का कहना है कि कोरोना एक अंतरराष्ट्रीय साज़िश है जिसे बिना दवा के कुछ प्राकृतिक आहारों को विशेष तरीके से सेवन करके ठीक किया जा सकता है। खानपान की इस विधि को 3 स्टेप फ्लू आहार विधि का नाम दिया गया है। इस बारे में सलाह और उपचार की विधि जानने के लिए उन्होंने पूरे देश में एक हेल्पलाइन +91 8587059169  भी शुरू की है। 



दिल्ली के प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में मीडिया को संबोधित करते हुए, डॉ चौधरी ने दावा किया है कि 3 स्टेप फ्लू आहार की इस अनूठी विधि से बिना किसी दवा का इस्तेमाल किये वह अब तक 5000 से अधिक रोगियों को ठीक कर चुके हैं। स्टेप फ्लू आहार के साथ 7 दिनों के भीतर 95% रोगी ठीक हो गए, जबकि 14 दिनों के भीतर 100% रोगी पूरी तरह निरोग हो गए।
 डॉ. बिस्वरूप रॉय चौधरी के नेटवर्क ऑफ़ इन्फ्लुएंजा केयर एक्सपर्ट्स (N.I.C.E) कार्यक्रम के तहत एक नई पहल की गई है जिसमें लोगों को मुफ्त सलाह और कोरोना से लड़ने के इन विशेष और अलग तरीकों के बारे में जानकारियां दी जाती हैं। इसके लिए एक देशव्यापी टेलीफोन हेल्पलाइन शुरू की गई है जिसके जरिये डॉ. चौधरी के अलावा 200 से ज्यादा एक्सपर्ट्स पूरे भारत में उनके द्वारा तैयार किये गए तरीकों से कोरोना संक्रमितों का इलाज़ करते हैं और उन्हें मुफ्त सलाह देते हैं। 
पिछले 40 दिनों में डॉ चौधरी ने अपने क्रांतिकारी 3 स्टेप फ्लू आहार की विधि से 5 हज़ार से ज़्यादा मरीजों को बिना दवा के ठीक किया है। उनका कहना है कि उनकी इस इलाज विधि में मृत्यु-दर शून्य है। 


 डॉ चौधरी ने अपनी इस अनूठी विधि से अब तक 5000 से अधिक रोगियों को ठीक करने का दावा करते हुए  कहा कि कोरोना रोगियों के उपचार में 3 स्टेप फ़्लू आहार बेहद प्रभावी सिद्ध हुई है। इस तरीके से आहार लेने के 24 घंटों के भीतर 90 % से अधिक रोगियों में तापमान कम हो गया जबकि 48 घंटे में 60 प्रतिशत रोगियों का जब टेस्ट किया गया तो वे कोविड-19 नेगेटिव निकले। 3 स्टेप फ्लू आहार के साथ-साथ जब रोगियों को डीआईपी डाइट भी साथ में दी गयी तो 7 दिनों के भीतर ही 95% रोगी ठीक हो गए जबकि 14 दिनों में 100% रोगियों को ठीक किया गया। उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि कोविड-19 रोगियों का दवाओं और ऑक्सीजन सिलेंडर की सहायता लिए बिना घर में ही  सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है।  बिस्वरूप रॉय चौधरी का कहना है कि नेटवर्क ऑफ़ इन्फ्लुएंजा केयर एक्सपर्ट्स (N.I.C.E) ने देशभर में एक 24X7 हेल्पलाइन-+91 8587059169 शुरू की गई है


मास्क से पैदा हो रही समस्यायों का ज़िक्र करते हुए डॉ. बिस्वरूप रॉय चौधरी ने कहा “सिर्फ मास्क पहनने से सांस की बीमारियों से नहीं बचा जा सकता है, न ही कोरोना को यह फैलने से रोक सकता है। हां, इस बात की आशंका रहती है कि  कभी-कभी यह आपको और ज़्यादा बीमार भी कर सकता है।”  डॉ चौधरी ने कहा कि कोरोनोवायरस शारीरिक रूप से लोगों को कम और मानसिक रूप से ज्यादा परेशान कर रहा है। इस मौके पर चेस्ट फिजिशियन और नागपुर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन हेल्थ सर्विसेज के पूर्व डिप्टी डायरेक्टर डॉ. के. बी. तुमाने और दिल्ली के डॉ. तरुण कोठारी, एमबीबीएस, एमडी ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित किया।