दक्षिणी दिल्ली नगर निगम शिक्षा विभाग का "घर- घर जाकर दाखिला अभियान" 
नयी दिल्ली - दक्षिणी दिल्ली नगर निगम शिक्षा विभाग,पश्चिमी क्षेत्र-शिक्षा समिति अध्यक्ष सुर्यान के दिशा निर्देशों में "घर- घर जाकर दाखिला अभियान" के तहत अध्यापकों ने इस मुहिम को जारी रखा। जहां एक तरफ निगम के अध्यापक कोविड में ड्यूटी देने से नहीं घबराये वहीं दूसरी तरफ घर-घर  जाकर बच्चों का दाखिला करने से भी पीछे नहीं रहे । 


 

वैसे तो भिन्न- भिन्न तरह के सर्वेक्षण में अध्यापकों की ड्यूटी लगती रह्ती है। किन्तु इस वर्ष कोरोना आपात की वजह से दाखिले की इस मुहिम को तीव्र गति देना आवश्यक हो गया था । अध्यापकों के साथ- साथ प्रधानाचार्य व क्षेत्र की डी डी ई नीरा सहित सभी अधिकारियों ने  बढ़- चढ़ कर हिस्सा लिया। 


 

पश्चिमी क्षेत्र के सभी वार्डॉ मेँ यह कार्य सुचारू रूप से हुआ रन्होला ,बापरोला, कोटला हस्तसाल ,उत्तम नगर ,नवादा,जनक पुरी, तिलक नगर , राजौरी , चौखन्डी, चान्द नगर, बिंदापुर , महावीर एन्क्लेव 2/3 और सभी 145 विद्यालय , पश्चिमी क्षेत्र एक तरफ नजफगढ से जुड़ा हुआ है तो दूसरी तरफ पश्चिम विहार नार्थ डी एम सी से, ऐसे ही एक तरफ द्वारका से जुड़ा है तो दूसरी तरफ दिल्ली कैंट से ।


 

सभी क्षेत्रों में दाखिला अभियान में शिक्षकों ने बढ़चढ कर कार्य किये, रैलियां निकाली, विज्ञापन सम्बन्धी पत्र वितरित किये , बच्चों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी जिस के चलते बहुत से अभिभावकों ने बच्चों का दाखिला निगम विद्यालयों में करवाया । सभी अध्यापकों ने मास्क का उपयोग किया।कोविड को मात देकर इस मुहिम को काफी सफलता मिली ।