कविता // आजादी वे ले आए,हम उससे प्यार करें 



राधा शर्मा 


झंडा 
ध्वज का मान जरूरी है
निज शान का ध्यान जरूरी है 
दुश्मनों से चौकसी जरूरी है
चाहे गोली से वार करना हो
या फिर
जान भी अपनी देनी हो
निज शान का ध्यान जरूरी है 
स्वदेशी वसन हो
चाल भी अपनी देशी हो
देश का झंडा हो ऊँचा सदा
मरे भी तो तिरंगा कफन हो
निज शान................


=====================


 आजादी वे ले आए,हम उससे प्यार करें 
     भारत है स्वर्ग सामान,
     हम सब है इसकी संतान! 
      देते वीर जहाँ बलिदान,
     दुष्टों का करते संहार!
                   आजादी...................
    आओ उनका मान करें,
    वीरों का सम्मान करें!
    स्वच्छ राष्ट्र निर्माण करें,
   सबसे सद्व्यवहार करें!
                     आजादी..................
  भ्रष्टाचार मिटाकर हम,
   आरक्षण-शोषण हटाकर हम!
  आजादी दी हमें जिन्होंने,
  हम उसका सत्कार करें!
  आओ उससे प्यार करें !
                      आजादी ................