लक्ष्मी रिमोट (इंडिया) का ‘आत्मनिर्भर भारत’ में योगदान;अपनी विनिर्माण क्षमता को बढ़ाया

देश में चल रहे 'आत्मनिर्भर भारत' अभियान के अनुसार बढ़ाई गयी क्षमता के जरिए एलआरआईपीएल न केवल स्थानीय बल्कि दुनिया भर की मांगों को भी पूरा करने में सक्षम होगी।  इसके अलावा, कंपनी के पास हर दिन 40,000 अडाप्टर्स और पावर सप्लाईज्, 12,000-15,000 सेट-टॉप-बॉक्सेस, 20,000 मोबाइल चार्जर्स और 30,000 एवी केबल्स बनाने की स्थापित क्षमता है, जिससे इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग सर्विसेस (ईएमएस) क्षेत्र की कई अलग-अलग कंपनियों की मांगे पूरी की जा रही हैं।



नई दिल्ली : भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत में योगदान देते हुए लक्ष्मी रिमोट (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड (एलआरआईपीएल) ने अपनी नोएडा फैक्ट्री की विनिर्माण क्षमता में वृद्धि की है। अब यहां हर दिन 1.25 लाख रिमोट कंट्रोल्स बनाए जाने लगे हैं। भारत में रिमोट कंट्रोल्स की सबसे बड़ी विनिर्माता कंपनियों में से एक एलआरआईपीएल ओईएम के लिए रिमोट कंट्रोल विनिर्माण में अग्रसर बनने के उद्देश्य से आगे बढ़ रही है। 


एलआरआईपीएल की यह घोषणा न केवल विनिर्माण में विकास की तेज गति को दर्शाती है, बल्कि इस क्षेत्र के प्रति आर्थिक भावनाओं को भी बढ़ावा देती है। स्थानीय विनिर्माण पर जोर देते हुए, बाजार में नौकरी के अवसरों को बढ़ाना भी एलआरआईपीएल का लक्ष्य है। यह कंपनी 60 से अधिक कंपनियों की आवश्यकताओं को पूरा करती है, कंपनी ने कई बड़े उद्यमों के साथ साझेदारी की है, उनमें डाइकिन, ब्लू स्टार, वोल्टास, हैवेल्स, ओरिएंट इलेक्ट्रिक, बजाज, लुमिनस, लीवप्युअर, व्हर्लपूल, लॉयड, अम्बर, उषा, हेलोनिक्स, कैरियर मिडीया, रीको आदि शामिल हैं।


लक्ष्मी रिमोट (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के एमडी और सीईओ विजय कुमार सचदेवा ने बताया, "भारत हमारे लिए सबसे बड़ा मार्केट है। इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्षेत्र तेजी से विकसित हो रहा है और एलआरआईपीएल अपने आधुनिकतम और स्थायी बुनियादी ढाँचे, क्षमता और मानवी शक्ति के साथ नयी सामान्य दुनिया की जरूरतों को पूरा करने के लिए तैयार है।  भारतीय बाजारों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और अपने ग्राहकों को सर्वोत्तम मूल्य प्रदान करने के लिए लगातार कई चुनौतीपूर्ण कदम उठा रहे हैं। आत्मनिर्भरता के लक्ष्य के अनुसार, हम एलआरआईपीएल में स्थानीय विनिर्माण को बढ़ावा देने और देश में रोजगार के अवसर बढ़ाने के उद्देश्य को लेकर आगे बढ़ रहे हैं।”   


 सचदेवा ने आगे कहा, “स्थानीय कंपनियों और निर्माताओं का समर्थन करके इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में घरेलु विनिर्माण को बढ़ाने के लिए 'मेक इन इंडिया' अभियान में किए जा रहे प्रयासों के कारण नए विकास पहले से ही हो रहे हैं।  हमारे आगामी प्रयासों में अधिक सफलताएं और अधिक ऊंचाइयां हासिल करने के लिए यह हमें प्रेरित करेगा।"


लक्ष्मी रिमोट की विनिर्माण सुविधाएं 5 एकड़ में फैली हैं, जहां सर्वोत्तम उपकरण और सेवाएं उपलब्ध हैं। सांचों के निर्माण से लेकर कैबिनेट्स के निर्माण, डिजाइन और पीसीबी के निर्माण और असेंबली से लेकर अंतिम उत्पादों के निर्माण और कड़ी गुणवत्ता प्रक्रिया तक एलआरआईपीएल में संपूर्ण उत्पादन प्रक्रिया को नियंत्रित किया जाता है। कंपनी में विभिन्न कौशल निपुण 1200 से अधिक अनुभवी कर्मचारी काम करते हैं। कंपनी के पास अपनी मजबूत अनुसन्धान और विकास टीम है जो भविष्य की मांगों को पूरा करने के प्रयास में आरएफ प्रौद्योगिकी, ब्लूटूथ तकनीक, वौइस् कंट्रोल और टच स्क्रीन रिमोट तकनीक पर काम कर रही है।