मस्ती भरी रही 89वीं 'सुनो सुनाओ' काव्य गोष्ठी

नयी दिल्ली, आई पी एक्सटेंशन स्थित आईपैक्स भवन में महासंघ के प्रधान सुरेश बिंदल के सानिन्ध्य में निर्बाध चलती आ रही, नवांकुर और स्थापित कवियों की, "कवियों द्वारा, कवियों के लिए, कविता" मासिक काव्य गोष्ठी ‘सुनो सुनाओ’ ने अपना 89वां सफल ऑनलाइन आयोजन किया।



इस ऑनलाइन गोष्ठी में देश के विभिन्न राज्यों के जाने-माने रचनाकारों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। सभी रचनाकारों ने अपनी-अपनी रचनाएँ  पढ़ कर गोष्ठी को जीवंत बना दिया।इस बार की ऑनलाइन 'सुनो सुनाओ' गोष्ठी में जानी मानी कवयित्री सुषमा भंडारी को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया | आरंभ में सुनो सुनाओ की संयोजिका कवयित्री सुषमा सिंह ने काव्य गोष्ठी मेें शामिल हुए सुषमा भंडारी सहित तमाम सहभागी रचनाकारों का शाब्दिक अभिनन्दन किया।



इस बार गोष्ठी में ऑनलाइन रचना सुनने और सुनाने के लिए सपना 'अहसास', अनुपम गुप्ता, कृष्ण नरेडा, अर्चना वर्मा, लखनऊ से शालिनी अवस्थी, मुम्बई से राजुल अशोक, सिम्भावली, हापुड़ से राम आसरे गोयल, उर्वशी 'उर्वी',  गोरखपुर से राजेश राज, सुषमा सिंह और अंत में गोष्ठी की अतिथि सुषमा भंडारी ने अपनी रचनाओं  से गोष्ठी में रस-रंग भर दिया ।



ऑनलाइन 'सुनो सुनाओ' काव्य गोष्ठी में सुनने और रचनाकारों का उत्साह बढ़ाने के लिए कई श्रोताओं ने इस ऑनलाइन गोष्ठी में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई और आनंद लिया | इनमें सुरेश बिंदल, प्रमोद अग्रवाल, महावीर गोयल और बृज भूषण गुप्ता आदि उपस्थित थे ।