ई-कॉमर्स इनेबलर ने 30 फीसदी के एबिटडा मार्जिन के साथ 5.5 मिलियन डॉलर की कमाई की

3 सदस्यों की टीम द्वारा स्थापित किए गए शॉपमैटिक की टीम में अब 120 सदस्य हैं और यह भारत, सिंगापुर, मलेशिया, हॉन्गकॉन्ग और अन्य बाजारों में संचालन कर रहा है। कंपनी ई-कॉमर्स क्षेत्र में निरंतर कुछ नया करने के प्रयास कर रही है और जल्द ही अपने प्लेटफॉर्म में नई ऑफरिंग शामिल करेगा।



नई दिल्ली : अग्रणी अंतरराष्ट्रीय ई-कॉमर्स इनेबलर शॉपमैटिक ने भारतीय बाजार में 5 वर्ष पूरे कर लिए हैं और 2020 के पहली छमाही में निर्धारित लक्ष्य से 190% से ज्यादा कुल 5.5 मिलियन डॉलर की अभूतपूर्व कमाई की है। देश के एसएमई और आंत्रप्रेन्योर सेक्टर को सर्विस देते हुए कंपनी तेजी से बढ़ रही है और अपेक्षा से एक वर्ष पूर्व ही इसने 30 फीसदी का एबिटडा मार्जिन हासिल किया है। कंपनी को पिछली तिमाही में ट्रांजेक्शन और जीएमवी में 80 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है, जो कोविड-19 के कारण डिजिटलीकरण के विस्तार का नतीजा है।


शॉपमैटिक ने 5 वर्ष पूर्व अक्टूबर 2015 में भारतीय बाजार में प्रवेश किया था और इसका लक्ष्य था ऐसे लाखों आंत्रप्रन्योर की मदद करना, जो अपने बिज़नेस को ऑनलाइन करना चाहते थे, किन्तु मौजूदा बाजार में जटिल हल, ज्यादा लागत और विभिन्न वेंडर द्वारा अत्यधिक क्लेम के कारण संशय की स्थिति में थे।


2016 में कंपनी ने 10 हजार यूजर रजिस्टर किए और अगस्त वन, सीड कैपिटल व अन्य निवेशकों के माध्यम से 5.7 मिलियन डॉलर का निवेश अर्जित किया। इन 5 वर्षों में शॉपमैटिक ने अन्य कंपनियों का अधिग्रहण भी किया और ग्राहक आधार में विस्तार करने के लिए साझेदारियां भी कीं।


मई 2020 में, जब महामारी के कारण अर्थव्यवस्था में मंदी की आहट सुनाई दे रही थी, जब शॉपमैटिक ने अपनी ऑफरिंग का विस्तार करते हुए भारतीय किराना स्टोर के लिए हल मुहैया कराया। इस पहल के माध्यम से उन्हें अपनी ऑनलाइन उपस्थिति स्थापित करने में मदद मिली, जिसमें कंपनी की सोच को दर्शाते हुए सरल और सुव्यवस्थित कैटलॉग की सुविधा भी दी गई। इसके अलावा प्लेटफॉर्म ने इनवेंट्री मैनेजमेंट, सुरक्षित और त्वरित ऑनलाइन पेमेंट, कॉन्टैक्टलेस डिलिवरी और सेल्फ पिकअप की सुविधा भी दी। ग्राहक केंद्रित अपनी पहल, सस्ती सुविधा और बहुआयामी पोर्टफोलियो की मदद से शॉपमैटिक ने जून 2020 तक 5 लाख व्यापारियों को जोड़ा है और पहली तिमाही के अंत तक ट्रांजेक्शन, जीएमवी और रेवेन्यू में 200 फीसदी तक इजाफा देखने को मिला है।


बात करते हुए शॉपमैटिक के सीईओ मि अनुराग अवुला ने कहा कि “भारत में 5 वर्ष पूरे करने के बाद पीछे मुड़कर कई मुकामों से भरपूर प्रोत्साही यात्रा को देखने में सुखद एहसास होता है, जिसने एसएमई सेक्टर में क्रांति लाई है। हमें शॉपमैटिक प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सफलता हासिल करने वाले आंत्रप्रेन्योर को देखकर खुशी होती है। भारतीय एसएमई और आंत्रप्रेन्योर की बेहतर समझ के साथ हम आगे भी अपनी सुविधाओं को बेहतर बनाते रहेंगे ताकि यूजर को डिजिटल दुनिया में आगे रहने में मदद मिल सके। इस खास मुकाम को हासिल करते हुए मैं हमारे प्रमुख घटकों ग्राहक, साझेदार और कर्मचारियों का धन्यवाद करना चाहूंगा, जो हमारी इस खूबसूरत यात्रा में हमारे साथ जुड़े।”


एक ई-कॉमर्स सॉल्यूशन मुहैया कराने वाली कंपनी होने के नाते शॉपमैटिक ई-कॉमर्स की कई सुविधाओं को एक प्लेटफॉर्म में लेकर आती है, ताकि एसएमई, आंत्रप्रेन्योर को उनका बिज़नेस ऑनलाइन स्थापित करने में मदद मिल सके। जरूरत के अनुसार ऑनलाइन स्टोर बनाने से लेकर, सोशल मीडिया और चैट कॉमर्स के माध्यम से उत्पाद बेचना, शिपिंग की समस्या हल करना और डिजिटल माध्यम से प्रचार करने तक, शॉपमैटिक ऑनलाइन बिज़नेस को सरल बनाता है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर