नुन्हारिया मेहरा समाज ने किया समाज, शिक्षा, साहित्य, चिकित्सा क्षेत्रो में नाम रोशन करने वालो का सम्मान

० संवाददाता द्वारा ० 

छिन्दवाड़ा - नुन्हारिया महरा समाज छिन्दवाड़ा का वार्षिक मिलन समारोह, सम्मान समारोह एवं युवक युवती परिचय सम्मलेन षष्ठी माता मंदिर भवन में कोरोना प्रोटोकाल को ध्यान में रखते हुए संपन्न किया गया l कार्यक्रम अध्यक्ष किशनलाल नागलकर , मुख्य अतिथि सिरपत सरनकर ने दीप प्रज्वलित किया एवं राष्ट्रगान कर कार्यक्रम का श्रीगणेश किया l कार्यक्रम में जिला के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने अपनी उपस्थिति दी l नुन्हारिया मेहरा समाज आयोजक टीम से सभी ने उपस्थित सदस्यों का स्वागत एवं सत्कार किया l कार्यक्रम में महिला एवं मातृशक्ति की गरिमामयी उपस्थित एवं सहभागिता ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई l
कोरोनाकाल के कारण सभी सामूहिक कार्यक्रम एवं गतिविधियाँ की गति धीमी हो गई है l पिछले 2 वषों में ऐसे आयोजन नहीं हो पा रहे हैl नुन्हारिया मेहरा समाज छिन्दवाड़ा ने कोरोना प्रोटोकाल को ध्यान में रखते हुए सामाजिक परिचय एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया l कार्यक्रम में आये सामाजिक लोगो का आपसी परिचय के साथ एकजुटता की पहल की गई l समाज के सक्रीय कार्यकर्ता कोमल भावरकर द्वारा बताया गया कि नुन्हारिया समाज का सामाजिक क्षेत्र में आजादी से पहले 1940 से हमारे बुजुर्गों में कार्य की नीव रखी थी जिसे हम सब को बनाये रखना सामाजिक जिम्मेदारी है l परासिया समिति के ब्लाक अध्यक्ष विजय बुनकर ने सामाजिक रूप से एकजुट एवं अखंडता से कार्य करने का निवेदन किया l

 शिवप्रसाद भावरकर ने समाज विकास हेतु सामाजिक बुराई, रूढ़ीवादिता और अन्धविश्वास को समाप्त करने की बात रखी गई एवं समाज में सौहार्द भाव के लिए एकजुटता की बात कही l देवराव बुनकर ने बताया कि समाज के हर वर्ग को स्वावलंबन वाली शिक्षा लेनी चाहिए जिससे स्वयं आत्मनिर्भर हो सके l कार्यक्रम में वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता एवं पत्रकार रविभाऊ झोड़ ने अपने वक्तव्य रखे l वरिष्ठ कासामाजिक कार्यकर्ता संजय भावरकर ने अपने उद्घोषण में कहा कि समाज के सभी छात्र-छात्राओं को जिन्होंने बोर्ड परीक्षा में 90 प्रतिशत अंक अर्जित किये है को 10000 रूपये प्रोत्सहन राशी प्रदान की जाएगी, बालीबाल राष्ट्रिय विजेता कु. मोनिका वस्त्राने को सम्मान एवं 5000 रूपये की नगद प्रोत्साहन प्रदान की गई l

समाज में सामाजिक एकता एवं अखंडता के लिए कार्य करने वाले कार्यकर्ता एवं विशेष उपलब्धि पाने वाले सदस्यों साहित्य क्षेत्र में संतोष भावरकर, श्याम कुमार कोलारे, सामाजिक उत्थान में रविभाऊ झोड़, श्रीपत सरनकर, महगू आठनेरिया, वविता सातनकर, शिक्षा क्षेत्र में डॉ दीपचंद भावरकर, मेडिकल क्षेत्र में डॉ संजय भावरकर, डॉ ऋषिकेश भावरकर, डॉ भावना कोलारे आदि को सम्मान पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया l

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर