नेक्स्ट एजुकेशन - भारत का अग्रणी के-12 शैक्षणिक समाधान प्रदाता

० योगेश भट्ट ० 

नई दिल्ली : महामारी के बीच, एडटेक (एजुकेशन टेक्‍नोलॉजी) ने छात्रों के स्कूल नहीं जाने की स्थिति में उन्हें बेहतर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच सुनिश्चित कर डांवाडोल हो रहे शिक्षा क्षेत्र को एक नया जीवन प्रदान किया। सीखने की प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करने और यह सुनिश्चित करने के लिए कि छात्रों पर अधिक बोझ न पड़े, माता-पिता और स्कूल प्रशासन को एक साथ आने की जरूरत थी ताकि आवश्यक कदम उठाते हुए यह तय करने की कोशिश की जाए कि अन्य लॉजिस्टिक्स और तकनीकी चुनौतियों के बावजूद सीखने की प्रक्रिया बंद न होने पाएं। और यहीं पर नेक्स्ट एजुकेशन का प्रवेश होता है।

नेक्स्ट एजुकेशन की स्थापना साल 2007 में ब्यास देव रल्हन और रवींद्रनाथ कामथ द्वारा तकनीकी आधारित समाधानों के माध्यम से शिक्षा क्षेत्र में क्रांति लाने के नजरिए से की गई थी। कंपनी के पास भारत में अन्य एडटेक समाधान प्रदाताओं की तुलना में मौजूदा परिवेश से ऊपर के स्तर पर बने रहने के लिए व्यापक समाधान हैं। कंपनी के पास 1800 से अधिक लोगों की इन-हाउस प्रतिभा है, जो 18,000 से अधिक स्कूलों में 12,000,000 से ज्‍यादा छात्रों की जरूरतों को पूरा करती है। इनमें से कुछ स्‍कूल क्राइस्ट इंटरनेशनल स्कूल, श्री राम ग्लोबल स्कूल, ग्रीन पार्क इंटरनेशनल स्कूल हैं।

नेक्स्ट एजुकेशन बी2बी2सी मॉडल पर काम करता है और अभिनव समाधानों की पेशकश करता है, जिन्हें पूरी तरह से इन-हाउस विकसित किया गया है। ये समाधान आईसीएसई, सीबीएसई और 29 से अधिक भारतीय राज्य बोर्डों में 8 भाषाओं में विस्तृत हैं, और इसमें अत्याधुनिक डिजिटल सामग्री, एक एकीकृत और इंटरैक्टिव पाठ्यक्रम, और एक क्लाउड-आधारित प्लेटफॉर्म शामिल है जो स्कूलों की सभी शैक्षणिक, प्रशासनिक और मूल्यांकन आवश्यकताओं को पूरा करता है। इन सेवाओं के अलावा, कंपनी चौबीसों घंटे सहायता और सेवा भी प्रदान करती है। इनके स्थान पर, कंपनी ने एमईएनए क्षेत्र के साथ ही अफ्रीकी बाजार में उपस्थिति दर्ज कराई है और वैश्विक उपस्थिति हासिल की है।

देश के शैक्षिक परिदृश्य को बदलने के उद्देश्य से, कंपनी तकनीकी का उपयोग करने और एआर और वीआर-सक्षम शिक्षण उपकरण, एसटीईएम पाठ्यक्रम और ब्लॉक-आधारित कोडिंग सिस्टम जैसे अद्वितीय शिक्षण समाधान तैयार करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। उनकी कुछ अत्याधुनिक पेशकशों में नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफॉर्म, टीचनेक्स्ट, एकेडमिक पार्टनरशिप प्रोग्राम, नेक्स्ट करिकुलम, नेक्स्ट 360 और शिक्षा व तकनीकी के बीच के अंतर को भरने और फिजिकल से डिजिटल की दिशा में निर्बाध संक्रमण को सुनिश्चित करने के लिए कई अन्य उपाय शामिल हैं।

नेक्स्ट एजुकेशन के सीईओ ब्यास देव राल्हन ने कहा, “नेक्स्ट एजुकेशन में, हम के-12 सेक्टर के सभी हितधारकों को ध्यान में रखते हुए उत्पाद और समाधान विकसित करते हैं। हमारा ध्यान यह सुनिश्चित करने पर है कि शिक्षार्थियों की वर्तमान और आने वाली पीढ़ी हमारी पेशकशों से लाभान्वित हो सकें। हम हमेशा बेहतरीन सेवाएं देने के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे।" शिक्षा क्षेत्र में एक दशक से अधिक के अनुभव के साथ, नेक्स्ट एजुकेशन के पास स्कूल प्रबंधन को स्कूल बनाने और संचालित करने के बारे में उपयोगी जानकारी और सलाह प्रदान करने की विशेषज्ञता और अनुभव है। वे एक स्वस्थ स्कूल पारिस्थितिकी का निर्माण करते हैं जो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सुनिश्चित करता है।

टिप्पणियाँ