रिलायंस जियो की बादशाहत बरकरार, मई में जोड़े 31 लाख यूजर्स

० संवाददाता द्वारा ० 

• जियो के कुल कनेक्शन 40 करोड़ 87 लाख से अधिक हुए • वोडा-आइडिया के करीब 7 लाख 60 हजार कनेक्शन घटे, एयरटेल के 10.27 लाख बढ़े • देश का वायरलेस सब्सक्राइबर बेस 114 करोड़ 55 लाख हुआ
• 79 लाख 70 हजार ने किया मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए आवेदन

नई दिल्ली : टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया यानी ट्राई द्वारा मंगलवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक मई 2022 में रिलायंस जियो ने 31 लाख 11 हजार से अधिक ग्राहक अपने नेटवर्क से जोड़े हैं। टेलीकॉम सेक्टर में 40 करोड़ 87 लाख ग्राहक बेस के साथ रिलायंस जियो नंबर वन की पोजिशन पर काबिज है। देश की दिग्गज कंपनी वोडा-आइडिया यानी वीआई को मई माह में एक बार फिर भारी नुकासान हुआ है। अप्रैल के मुकाबले मई में 7 लाख 60 हजार ग्राहक वोडा-आइडिया का नेटवर्क छोड़ कर चले गए। करीब 25 करोड़ 84 लाख यूजर्स के साथ वह मार्किट में तीसरे नंबर पर है। यूजर्स के मामले में भारती एयरटेल दूसरे नंबर पर काबिज है। एयरटेल ने मई में 10 लाख 27 हजार के करीब यूजर्स जोड़े हैं। एयरटेल के कुल यूजर्स की तादाद मई में 36 करोड़ 21 लाख के करीब रही।

वायरलेस सब्सक्राइबर यानी भारत के मोबाइल कनेक्शन मार्किट में रिलायंस जियो 35.69 फीसदी ग्राहकों के साथ नंबर वन की पोजीशन पर बना हुआ है। भारती एयरटेल 31.62% और वोडाफोन आइडिया 22.56 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरे और तीसरे नंबर पर काबिज हैं। 9.85 फीसदी हिस्सेदारी के साथ बीएसएनएल चौथे नंबर पर है। ट्राई के आंकड़े बताते हैं कि मई में कुल मोबाइल कनेक्शन में इजाफा हुआ है। अप्रैल के मुकाबले मई में करीब 28 लाख 45 हजार नए कनेक्शन जुड़े हैं। 

रूरल सब्सक्रिप्शन नंबर में भी करीब 20 लाख 77 हजार की बढ़ोतरी देखी गई। ग्रामीण भारत में कुल कनेक्शन की संख्या 51 करोड़ 88 लाख से बढ़कर, मई में 52 करोड़ 9 लाख के करीब हो गई है। देश में वायरलेस सब्सक्राइबर बेस 114 करोड़ 55 लाख से अधिक हो गया है। वहीं मई माह में कुल 79 लाख 70 हजार ग्राहकों ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए आवेदन किया।

टिप्पणियाँ