एएएफटी यूनिवर्सिटी के ओरिएंटेशन प्रोग्राम में एक्टर सुनील शेट्टी ने स्टूडेंट्स को किया प्रोत्साहित

० योगेश भट्ट ० 

रायपुर : भारत की प्रमुख मीडिया एवं आर्ट्स यूनिवर्सिटी, एएएफटी यूनिवर्सिटी ने अपने ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया। इस ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन रायपुर, छत्तीसगढ़ में किया गया था। इस प्रोग्राम में 500 से अधिक स्टूडेंट्स ने भाग लिया। एएएफटी विश्वविद्यालय के चांसलर संदीप मारवाह ने छात्रों के साथ बातचीत की, उन्हें बाधाओं को दूर करने, ईमानदारी से काम करने और अपने-अपने क्षेत्रों में अपना नाम बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। मुख्य अतिथि के रूप में एक्टर, आन्त्रप्रेन्योर और समाजसेवी सुनील शेट्टी का शानदार स्वागत किया गया। अभिनेता सुनील शेट्टी ने यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स से अपने आन्त्रप्रेन्योरशिप के अपने सफर और मानवीय कार्यों के बारे में बात की।

विश्वविद्यालय ने हाल ही में अपना एड-टेक प्लेटफॉर्म - एएएफटी ऑनलाइन लॉन्च किया, जिसे मोहित मारवाह और अक्षय मारवाह द्वारा सह-स्थापित किया गया है, जिसका उद्देश्य अभिनव और उन्नत स्तर के पाठ्यक्रमों के साथ अपनी पहुंच बढ़ाना है। यह एडटेक कई तरह के उद्योग-उन्मुख मीडिया और क्रिएटिव पाठ्यक्रम जैसे फोटोग्राफी, ज्वैलरी डिजाइनिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग और कई अन्य पाठ्यक्रमों की ऑनलाइन पेशकश करता है। इसमें वन-टू-वन सेशन और रियल-वर्ल्ड एप्लीकेशन लर्निंग जैसे फीचर्स हैं।

ओरिएंटेशन प्रोग्राम में उद्योग के विशेषज्ञों और आईआईएम रायपुर में कम्युनिकेशन के अध्यक्ष प्रो संजीव पाराशर, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ किरणमयी नायक, गायक और निदेशक ईशान मित्रा, जैसे प्रतिष्ठित हस्ति शामिल हुई। साथ में, एबीपी न्यूज के वरिष्ठ एंकर और संपादक अखिलेश आनंद भी शामिल हुए। इस कार्यक्रम में सुनील शेट्टी ने कहा, “एएएफटी यूनिवर्सिटी, स्टूडेंट्स को आने वाले कल के लीडर्स के रुप में तैयार कर रही है। मैं छात्रों की एक ऐसी पीढ़ी बनाने के उनके दृष्टिकोण और मिशन का समर्थन करता हूं जो केवल पारंपरिक तरीके से ही नहीं,बल्कि आज की शिक्षा भी प्रदान कर रहे हैं। इसके अलावा, उनमें खुद की पहचान बनाने का विश्वास और साहस का निर्माण करें। मैं एएएफटी और स्टूडेंट्स के साथ एक लंबे और खुशहाल सफर की कामना करता हूं।”

संदीप मारवाह ने कहा, “हम सुनील शेट्टी के आभारी हैं कि वे हमारे इस ओरिएंटेशन कार्यक्रम में शामिल हुए। सुनील कड़ी मेहनत, दृढ़ता और नई सोच के प्रतीक हैं- उनमें वे सारी खूबियां हैं जो हम अपने छात्रों में डालना चाहते हैं। वे एक रोल मॉडल है और हमारे स्‍टूडेंट्स को अपने-अपने क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिये प्रेरित करते रहेंगे।“ एएएफटी यूनिवर्सिटी को भारत का पहला समर्पित कौशल-निर्माण यूनिवर्सिटी होने का खिताब मिला हुआ है। यह 50 से अधिक व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करता है।

 इसने रचनात्मकता और व्यावहारिक अनुभव के साथ ज्ञान का संयोजन कर एक शैक्षणिक संस्थान के रूप में अपना स्थान कायम रखा है। 30 वर्षों की विरासत के साथ, एएएफटी का लक्ष्य विभिन्न प्लेटफार्मों पर नवीन कौशल-निर्माण कार्यक्रमों के माध्यम से अपने छात्रों को शिक्षित करना है, जबकि प्लेसमेंट और रोजगार की उच्च दरों के साथ वैश्विक बाजार में प्रतिस्पर्धा के माप को बढ़ाना है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन