कोविड टीकाकरण में मीडिया की भूमिका पर यूनिसेफ द्वारा कार्यशाला आयोजित

० संवाददाता द्वारा ० 

भरतपुर । भरतपुर में ‘कोविड टीकाकरण में मीडिया की भूमिका’ पर आयोजित कार्यशाला में बताया गया कि भरतपुर में टीकाकरण के प्रति विशेष समुदाय में टीकाकरण को लेकर भ्रान्तियॉ हैं, उनकों दूर करने में मीडिया की विशेष भूमिका है। राजस्थान में कल तक 11 करोड 28 लाख टीकाकरण के अन्तर्गत आ चुके हैं। भरतपुर संभाग में 64 प्रतिशत को टीकाकरण किया जा सका है, इसके लिए जागरूकता की जरूरत है।

राजस्थान यूनिसेफ जयपुर स्थित मीडिया एडवोकेसी संस्था लोक संवाद संस्थान, प्रेस इन्फोरमेशन ब्यूरों व पब्लिक रिलेशन सोसायटी आफ इण्डिया, जयपुर के चेप्टर के संयुक्त तत्वावधान में कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में उभर कर आया कि संक्रामक बीमारियों की रोकथाम में टीकाकरण की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इस कार्यक्रम को जन-जन तक पहुॅचाने के अभियान में मीडिया की भागीदारी जरूरी है।

यूनिसेफ के स्वास्थ्य सलाहकार कमलेश बंस ने अपने विस्तृत प्रस्तुतीकरण में बताया कि भारत में कोविड-19 टीकाकरण का कवरेज 200 करोड को पार कर चुका है। यह अपने आप में रिकॉर्ड है। राजस्थान में लगभग 20 प्रतिशत आबादी इससे वंचित है। इसको शत-प्रतिशत करना टीकाकरण अभियान से जुडे सभी संस्थाओं के लिए चुनौती है।ब्ंसल ने यह भी बताया कि टीकाकरण अभियान में पिछडे जिले भरतपुर, अलवर और सवाईमाधोपुर जैसे जिलों में विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए।

राजस्थान यूनिसेफ के संचार विशेषज्ञ अंकुश सिंह ने मीडियाकर्मियों का आवहान किया कि टीकाकरण अभियान के लिए चुनौती बनी मिथ्या धारणाओं और अंधविश्वासों को उजागर करें ताकि जन सामान्य इनसें भ्रमित न हों।कार्यशाला में आरसीएचओ डॉ अमर सिंह सैनी, सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी डॉ मनीष जैन, पब्लिक रिलेशन्स सोसायटी ऑफ इण्डिया जयपुर चेप्टर के अध्यक्ष रविशंकर शर्मा, जयपुर से आये वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज व जयदेव, लोक संवाद संस्थान के सचिव कल्याण सिंह कोठारी ने भी विचार रखें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन