टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है

० योगेश भट्ट ० 
नई दिल्ली-गढ़वाल भवन, पंचकुइयां रोड में देवभूमि स्पोर्ट्स फाऊंडेशन (पंजीकृत) ट्रस्ट का टी-20 नाॅक-आउट क्रिकेट टूर्नामेंट जो कि ट्रस्ट के सदस्य स्व0 विरेन्द्र सिंह राणा की स्मृति में आयोजित किया जा रहा है। उसकी विधिवत घोषणा की गई। जिसमे ट्रस्ट के सह आयोजक, कार्यकारी सदस्य, गवर्निंग बांडी, प्रायोजक, सहायक सदस्यों व उत्तराखण्ड की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने शिरकत करी।
बैठक में मुख्य अतिथि बीर सिंह पंवार (पूर्व निगम पार्षद एवं पूर्वी दिल्ली स्टेंडिंग कमेटी चैयरमैन) , मनवर सिंह रावत (संस्थापक -मयूर पब्लिक स्कूल ,दिल्ली एवं पूर्व उपाध्यक्ष,गढ़वाली कुमाऊनी जोनसारी ,दिल्ली सरकार ) एवं आदित्य घिल्ड़ियाल (GM -New Holland Tractor, Noida) एवं अजय सिंह बिष्ट (अध्यक्ष-गढ़वाल भवन),देवभूमि स्पोर्ट्स फाउंडेशन के संस्थापक चैयरमैन सत्येन्द्र सिंह रावत, महासचिव दीपक रावत, कोषाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह नेगी एवं उपरोक्त टूर्नामेंट के सह-आयोजक महावीर सिंह राणा (संस्थापक अध्यक्ष- माता पार्वती देवी चैरिटेबल ट्रस्ट रजि•) , दलवीर सिंह रावत (अध्यक्ष-उत्तराखंड जन मोर्चा) तथा बैठक में उपस्थित सभी सम्मानित महानुभावों ने उपरोक्त कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु संकल्प लिया।

ट्रस्ट के नवनिर्वाचित अध्यक्ष महावीर सिंह राणा ने मंच संचालन करते हुए ट्रस्ट के उद्देश्य एवं आगामी कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा टूर्नामेंट की तिथियों, स्टेडियम, क्रिकेट ग्राउंड, प्रथम पुरस्कार राशि एक लाख रूपये तथा द्वितीय पुरस्कार राशि इकसठ हजार रूपए तथा कई अन्य महत्वपूर्ण एवं आकर्षक पुरूस्कार खिलाडियों को देने के बारे में जानकरी दी। और यह भी बताया ट्रस्ट उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाडियों को अपने मंच के माध्यम से उनको हर संभव सहयोग,प्रमोट एवं उनके उज्जवल भविष्य हेतु सदैव प्रार्थमिकता देगा।

 राणा ने जानकरी दी, ट्रस्ट T-20 क्रिकेट टूर्नामेंट की शुरुआत (Opening Ceremony) आगामी 16 अक्टूबर,2022 को नोयडा क्रिकेट स्टेडियम में उत्तराखण्ड की लोक-कला संस्कृति सहित भव्य रूप से करने जा रहा है। तथा बाकी के नाॅक-आउट मैच विनय मार्ग क्रिकेट मैदान मे खेले जायेगे, और समापन फाईनल मैच पुन: नोयडा क्रिकेट स्टेडियम में खेला जायेगा। और टूर्नामेंट का समापन विजेता टीम एवं प्रतिभावान खिलाड़ियों को ट्राफी एवं आकर्षक पुरूस्कार तथा रंगारंग उत्तराखण्ड भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ होगा। उपरोक्त टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में उत्तराखण्ड के प्रतिभाशाली खिलाड़ीयो की 32 टीमे भाग ले रही है। तथा आज ही ट्रस्ट के टूर्नामेंट हेतु टीमों के आनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को प्रारम्भ करने की घोषणा के साथ ट्रस्ट की ओफिसियल वेवसाईट को भी लांच किया गया www.devbhumisports.com

ट्रस्ट की उपरोक्त महत्वपूर्ण बैठक में गढ़वाल हितैषिणी सभा ,गढ़वाल भवन के अध्यक्ष अजय सिंह बिष्ट,महासचिव द्वारिका प्रसाद भटट् रूपचन्द बरोली विकास चमोली सुधीश नेगी,श्रीमति यशोदा घिल्ड़ियाल,श्रीमती मनोरमा भटट्,श्रीमति विजया लक्ष्मी नोटियाल,सलाहकार- कीरत सिंह रावत, नारायण सिंह रावत,गढ़देशीय भ्रातृ मण्डल रजि• ,गढ़वाल सदन के अध्यक्ष महावीर सिंह नेगी,उपाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह रावत,पूर्व अध्यक्ष अमर सिंह राणा वीर सिंह राणा,पूर्व महासचिव मंगल सिंह नेगी,कोषाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह रावत,सलाहकार महावीर सिंह पंवार,

टिहरी उत्तरकाशी जन-विकास विकास परिषद से अध्यक्ष - रामचन्द्र सिंह भण्डारी,महासचिव- देवेन्द्र जोशी,वरिष्ठ उपाध्यक्ष- विजय जड़धारी,उपाध्यक्ष- सुरेशानन्द बसलियाल,सलाहकार- महावीर सिंह केमवाल, लाखीराम डबराल,पूर्व अध्यक्ष  आजाद सिंह नेगी,प्रताप सिंह नेगी, उत्तराखंड फिल्म नाट्य संस्थान-अध्यक्षा संयोगिता ध्यानी गंगोत्री सामाजिक संस्था अध्यक्ष गम्भीर सिंह नेगी एवं सहयोगीगण
उत्तराखंड जन-मोर्चा से अध्यक्ष दलबीर सिंह रावत,महासचिव सुरेश चौबे, लायन क्लब नोयडा से वायस चैयरमैन सीमा रावत,देवभूमि परिवार (दिल्ली विश्वविद्यालय) के अध्यक्ष अमन डोभाल एवं गार्गी जोशी,

व्यवसायी  दरबान सिंह नेगी, हीरा सिंह राणा,डा• संजय भटट् ,  शुभम नेगी, नरेन्द्र सिंह नेगी,  संजय नेगी,वरिष्ठ अधिवक्ता  दुष्यंत,गढ़वाल हीरोज के अध्यक्ष भगवान सिंह नेगी,वरिष्ठ खेल पत्रकार राजेन्द्र सजवान, योगेश भटट्, बाबी ढोंडियाल (DDCA UMPIRE)आदि गणमान्य महानुभाव उपस्थित थे। सभी ने टूर्नामेंट को सफल बनाने हेतु संकल्प लिया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन