नेक्स्ट 360 के लॉन्च के साथ नेक्स्ट एजुकेशन 2000 स्कूलों, 10 लाख छात्रों और 50,000 शिक्षकों तक पहुँच जाएगा

० योगेश भट्ट ० 
नेक्स्ट 360 छात्रों के लिए शिक्षण को जीवन जीने के तरीके के रूप में अपनाने और उन्हें एक अभूतपूर्व भविष्य के लिए तैयार करने के लिए कंपनी के दृष्टिकोण के अनुरूप है। अपनी तरह का अनूठा शैक्षणिक कार्यक्रम छात्रों, शिक्षकों, अभिभावकों और शैक्षणिक संस्थानों को कई गुणा लाभ देता है। यह एक ऐसा पाठ्यक्रम प्रदान करता है जो शिक्षकों को अच्छी संरचना और विस्तृत कार्य योजना प्रदान करते हुए प्रभावशाली दृश्य-श्रव्य, व्यावहारिक गतिविधियों, सिमुलेशन, पाठ योजनाओं, पुस्तकों और आंकलनन को समेकित रूप से एकीकृत करता है। एक समग्र शिक्षण-ज्ञान अर्जन दृष्टिकोण के साथ डिजाइन और विकसित किया गया, यह कार्यक्रम भाषा के विकास पर जोर देते हुए एक कौशल-आधारित शिक्षण दृष्टिकोण प्रदान करता है।

नई दिल्ली : विश्वव्यापी महामारी से उत्पन्न लॉकडाउन के दौरान सभी उम्र के शिक्षार्थियों के बीच पढ़ाई के नुकसान में वृद्धि हुई थी। पिछले तीन वर्षों के दौरान किए गए कई तरह के शोध से यह संकेत मिलता है कि शैक्षिक युक्तियों का पुनर्मूल्यांकन करने और छात्रों में नए युग के कौशल विकसित करने में मदद करने के लिए प्रौद्योगिकी का तत्काल उपयोग करने की आवश्यकता है। आज के शिक्षकों को प्रौद्योगिकी एकीकरण के माध्यम से छात्रों में 21वीं सदी के कौशल का संचार करने के लिए अध्यापन-शिक्षण के लिए एक भविष्यवादी दृष्टिकोण में अवस्थांतर करने की आवश्यकता है। एनईपी 2020 इक्कीसवीं सदी के कौशल की पहचान तीन मुख्य श्रेणियों के तहत करता है। 

ये हैं - सीखने के कौशल, जैसे कि महत्वपूर्ण सोच, रचनात्मकता, सहयोग और संचार; लचीलापन जैसे कि जीवन कौशल, नेतृत्व, पहल, उत्पादकता और सामाजिक कौशल; और साक्षरता कौशल, जैसे कि सूचना, मीडिया और प्रौद्योगिकीय कौशल। मौजूदा शैक्षिक मॉडल में कौशल अधिग्रहण में अंतर को पाटने के इरादे से, एसएएएस (SaaS) आधारित प्रौद्योगिकी-संचालित कंपनी नेक्स्ट एजुकेशन भारत में के-12 क्षेत्र में क्रांति ला रही है, जिसने अपने प्रमुख समाधान, नेक्स्ट 360 को लॉन्च करने की घोषणा की है। यह एक व्यापक शैक्षणिक कार्यक्रम है जो छात्रों में 21वीं सदी के कौशल का विकास और सुधार करेगा।

नेक्स्ट एजुकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, ब्यास देव रलहान ने कहा कि, “शिक्षार्थियों की वर्तमान पीढ़ी कोविड-19 के सामाजिक-आर्थिक प्रभाव से असमान रूप से प्रभावित है। भारतीय स्कूल मुश्किल स्थिति में हैं, और यह उचित समय है कि हम गुणवत्ता-संचालित, विकास-उन्मुख शिक्षाशास्त्र के लिए दूरगामी प्रभाव उत्पन्न करने वाले एक सचेत बदलाव की शुरुआत करें। हमारा समाधान, नेक्स्ट 360, ठीक यही प्रदान करता है। यह एक उपयुक्त ऑल-इन-वन, किफ़ायती और व्यापक शैक्षणिक कार्यक्रम है, जिसे 21वीं सदी की शिक्षा प्राप्त करने में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।"

कार्यक्रम के तहत, छात्रों को एक अकादमिक किट और अपने किस्म के अनूठे शिक्षण संसाधन प्रदान किए जाएंगे। नेक्स्ट ओएस द्वारा समर्थित, पुरस्कार विजेता सामग्री, अनुकूल आंकलन से लैस एक सर्वश्रेष्ठ प्लैटफॉर्म समाधान, एक पूर्ण सॉफ्टवेयर स्टैक, सेल्फ-लर्निंग छात्र ऐप और अभिनव अनुभवात्मक शिक्षण समाधान तक पहुंच प्रदान करते हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन