नये पत्रकारों को पुरानी पीढी से बहुत कुछ सीखने की आवश्यकता है

० आशा पटेल ० 
जयपुर। पिंकसिटी प्र्रेस क्लब एवं राजस्थान प्रगतिशील लेखक संघ के संयुक्त तत्वावधान में पिंकसिटी प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष, वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार श्री ईशमधु तलवार की स्मृति में ‘‘साहित्य और पत्रकारिता की संस्कृति‘‘ पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर प्रेस क्लब अध्यक्ष मुकेश मीणा, प्रेस क्लब के पूर्व महासचिव एवं श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष हरीश गुप्ता, सुश्री सुनीता चतुर्वेदी, प्रगतिशील लेखक संघ के महासचिव प्रेम चन्द गांधी ने मुख्य वक्ता प्रसिद्ध साहित्यकार-मीडिया विशेषज्ञ राजेश बादल विशिष्ट वक्ता वरिष्ठ साहित्यकार-कवि कृष्ण कल्पित, कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार एवं रचनाकार फारूक आफरीदी एवं वरिष्ठ पत्रकार सन्नी सेबेस्टियन को पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

प्रसिद्ध पत्रकार एवं मीडिया विशेषज्ञ राजेश बादल ने मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए स्व. श्री ईशमधु तलवार के जीवन पर प्रकाश डाला और उनके साथ साहित्य एवं पत्रकार जगत की यादें ताजा की। उन्होनें कहा कि पिछले दो दशकों में पत्रकारिता और साहित्य की दुनियां में जो बदलाव हुए है वे बहुत चिन्ताजनक है।वरिष्ठ कवि-साहित्यकार कृष्ण कल्पित ने स्व. तलवार के व्यक्तित्व एवं उनके कृतित्व की चर्चा करते हुए कहा कि जयपुर मेंएक सांस्कृतिक आंदोलन को गति देने का जो कार्य किया वह ऐतिहासिक है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ पत्रकार एवं रचनाकार फारूक आफरीदी ने कहा कि लोकतंत्र को बचाने के लिए पत्रकारिता एवं साहित्य के क्षेत्र में स्व. तलवार का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

वरिष्ठ पत्रकार सन्नी सेबेस्टियन ने कहा कि पत्रकारिता और साहित्य के अर्न्तसंबंध आज के समय में बदलते जा रहे हैं और नये पत्रकारों को पुरानी पीढी से बहुत कुछ सीखने की आवश्यकता है।प्रेस क्लब अध्यक्ष मुकेश मीणा ने बताया कि प्रेस क्लब ने क्लब के पूर्व अध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार स्व. श्री ईशमधु तलवार की स्मृति में एक पुरस्कार प्रति वर्ष क्लब के स्थापना दिवस पर एक पत्रकार को दिया जाएगा। प्रेस क्लब महासचिव रघुवीर जांगिड़ ने सभी का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर उपाध्यक्ष पंकज शर्मा, कोषाध्यक्ष राहुल गौतम प्रेस क्लब कार्यकारिणी सदस्य संतोष शर्मा, पुष्पेन्द्र सिंह राजावत, दिनेश कुमार शर्मा अधिकारी, वरिष्ठ पत्रकार एवं संस्थापक सदस्य जगदीश शर्मा, पूर्व अध्यक्ष सत्य पारीक, राधारमण शर्मा, किशोर शर्मा, पूर्व महासचिव रोशन लाल शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार सुनीता चतुर्वेदी, बृहस्पति शर्मा, अशोक थपलियाल, श्याम माथुर, आशा पटेल, देवेन्द्र शास्त्री, गजेन्द्र रिझवानी, कवि ओमेन्द्र, सम्पत सरल, नवल किशोर शर्मा, सहित अनेक पत्रकार एवं साहित्यकार उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयपुर में 17 प्रदेशों के प्रतिनिधियो ने प्रभावी शिक्षा प्रणाली तथा नई शिक्षा नीति पर मंथन किया

"मुंशी प्रेमचंद के कथा -साहित्य का नारी -विमर्श"

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनरल इंश्योरेंस एजेंट एसोसिएशन का राजस्थान रीजन का वार्षिक अभिकर्ता सम्मेलन

हिंदी के बदलते स्वरूप के साथ खुद को भी बदलने की तरफ जोर

अर्न्तराष्ट्रीय इस्सयोग समाज के साधकों द्वारा अखंड साधना भजन