नेक्‍स्‍ट एजुकेशन एडटेक सोल्यूशंस प्रदान कर 15 साल की उत्‍कृष्‍टता का जश्न मनाया

० योगेश भट्ट ० 
नई दिल्ली : नेक्‍स्‍ट एजुकेशन, भारत में तेजी से बढ़ती, टेक्‍नोलॉजी से संचालित कंपनी भारत में किंडरगार्टन से लेकर 12वीं कक्षा की शिक्षा क्षेत्र में बड़ा बदलाव ला रही है। कंपनी इस साल अपनी 15वीं वर्षगांठ मना रही है। नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने पिछले कई सालों में कई उपलब्धियां हासिल करने के साथ ही कई सम्‍मान प्राप्‍त किये हैं। कंपनी इस समय पूरे भारत में 18 हजार से ज्यादा स्कूलों और यूएई में पढ़ने-पढ़ाने के नए जमाने के सोल्यूशंस प्रदान कर रही है।

2007 में आईआईटी के 2 छात्रों रवीन्‍द्रनाथ कामत और ब्‍यास देव रल्‍हाल द्वारा निगमित, नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने के-12 सेक्‍टर के लिए बी2बी एसएएएस बेस्ड संपूर्ण समाधान प्रदान करने वाली कंपनी के रूप में खुद को सफलतापूर्वक स्थापित किया है। कंपनी का लक्ष्य शिक्षा को सभी लोगों तक पहुंचाना है। शिक्षा के क्षत्र में नई तकनीक से आए बदलाव के माध्यम से कंपनी ने इन सालों में कई नए बेहतरीन सोल्यूशन प्रदान करने में कामयाबी हासिल की है। पिछले डेढ़ दशक से कंपनी ने अपने शिक्षकों और छात्रों के लिए बेहतरीन और परफेक्ट सोल्यूशंस की एक रेंज पेश की हैं, जिसमें नेक्‍स्‍टकरिकुलम, नेक्‍स्‍टलैब्स, नेक्‍स्‍टओएस, टीचनेक्‍स्‍ट और नेक्‍स्‍टस्कूल प्रमुख हैं।

 नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने स्कूल के संपूर्ण पाठ्यक्रम को समेटते हुए नेक्‍स्‍ट 360 नामक अभियान चलाया है, जिसमें सभी तरह के लर्निंग मैनेजमेंट सोल्यूशन, प्रशासनिक सहायता के उपकरण, डिजिटल कॉन्टेंट, वर्चुअल लेब्स, एकीकृत सिलेबस और तकनीकी सहायता आदि सभी कुछ प्रदान किया जाता है। इन नए-नए प्रॉडक्ट्स और सोल्यूशंस ने भारत में रोजना प्राइवेट स्कूल में पढ़ने जाने वाले 10 फीसदी बच्चों की जिंदगी को बदला है। नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने भारत के साथ-साथ विदेश में स्थित स्कूलों से भी साझेदारी की है।

नेक्‍स्‍ट एजुकेशन के सीईओ ब्‍यास देव रल्हान ने कहा, “अपनी शुरुआत से ही हमने कई बिल्डिंग सोल्यूशंस की परिकल्पना की है, जो छात्रों को 21वीं सदी के लिए जरूरी कौशल से लैस कर उन्हें भविष्य के लिए तैयार करेंगे। हमारा ध्यान हमेशा से छात्रों, शिक्षण संस्थाओं और अन्य हितधारकों को बेहतरीन सोल्यूशन प्रदान करना है। शुरुआत से ही हमने अपने ऑफर का स्तर ऊपर उठाया है और अपने पार्टनर स्कूलों को तकनीक से लैस समाधान उपलब्ध कराए हैं, जिससे शिक्षा तक सभी लोगों की पहुंच बढ़ गई है और यह किफायती हो गई है। हमारी आने वाले सालों में अपने विकास की रफ्तार बनाए रखने की योजना है। अभी हम शिक्षा क्षेत्र में नई तकनीक को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रहे हैं।“

अपने सफर के दौरान नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने कई उल्लेखनीय उपलब्धियां और सम्‍मान हासिल किए हैं। 2013 में नेक्‍स्‍ट एजुकेशन को नेशनल एचआरडी नेटवर्क की ओर से मानव संसाधन के सर्वश्रेष्ठ प्रबंधन का पुरस्कार दिया गया। कंपनी को 2014 में ग्लोबल लर्न टेक कॉन्फ्रेंस और अवॉडर्स में बेस्ट स्कूल बुक सोल्यूशंस के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 2015 में नेक्‍स्‍ट एजुकेशन को एसोचैम द्वारा शिक्षा में इनोवेशन एक्सिलेंस अवॉर्ड हासिल हुआ। एक बार फिर, एजुकेशन इनोवेशन अवॉर्ड्स द्वारा 2020 में कंपनी को बेस्ट क्लास रूम टेक सोल्यूशंस के तहत तकनीक में सक्षम अभिनव टीचिंग-लर्निंग विधियां मुहैया कराने के लिए सम्‍मानित किया।

इसके अलावा, नेक्‍स्‍ट एजुकेशन को 2013 में वर्ल्ड एजुकेशन समिट द्वारा के-12 शिक्षा के लिए बेस्ट मल्टी मीडिया कॉन्टेंट के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 2015 में अध्यापन के शिक्षाशास्त्र में नवचार के पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जबकि 2016 में प्री-स्कूल के सिलेबस में इनोवेशन के लिए नेक्‍स्‍ट एजुकेशन को पुरस्कार दिया गया। नेक्‍स्‍ट एजुकेशन छात्रों को अपने पाठ अच्छी तरह समझने की इजाजत देता है। इसके साथ ही आर्टिफिशियल इंटिलजेंस पर आधारित लर्निंग प्लेटफॉर्म से छात्रों को व्यक्तिगत रूप से पढ़ने का अनुभव दिया जाता है। 

कंपनी वर्चुअल रिएलिटी, मशीन रिएलटी और गेमिफिकेशन में कई आधुनिक तकनीकी समाधान प्रदान कर रही है। हाल ही में लॉन्च किया गया सोल्यूशन नेक्‍स्‍ट 360 इस साल 400 फीसदी की दर से विकास करेगा। इसके दो साल में दोगुना होने की उम्मीद है। अगले कुछ सालों में नेक्‍स्‍ट एजुकेशन ने 5 गुना वृद्धि करने का अनुमान लगाया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद