भारतीय नौसेना के द्वारा 30 अक्टूबर से 03 दिसंबर तक 1500 किलोमीटर का दौड़ आयोजन


० संवाददाता द्वारा ० 
नयी दिल्ली यह अभियान दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ में नौसेना को बढ़ावा देने का एक उत्कृष्ट अवसर प्रदान करता है। यह अभियान भारतीय नौसेना द्वारा इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के सहयोग से चलाया जा रहा है और इसे हरियाणा पर्यटन विभाग तथा टाटा मोटर्स द्वारा सहयोग दिया जा रहा है। 30 अक्टूबर से 03 दिसंबर तक 1500 किलोमीटर 35 दिन में 35 मैराथन दौड़ चलने वाला दौड़ अभियान 'आजादी का अमृत महोत्सव' और नौसेना दिवस समारोह के उत्सव के हिस्से के रूप में आयोजित किया जा रहा है। यह अभियान भारतीय नौसेना के पारम्परिक-मैराथन धावकों द्वारा 5 सप्ताह की अवधि में दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में चलाया जाएगा। एक टीम में 12-15 पारम्परिक-धावक शामिल होंगे और हर दिन एक पूर्ण मैराथन ( 42.20 किलोमीटर ) या उससे अधिक दूरी तक दौड़ेंगे। साथ ही स्थानीय युवा एथलीटों और गांवों एवं कस्बों से सशस्त्र बलों की तैयारी में जुटे हुए युवाओं को भी टीम में शामिल किया जायेगा और वे लोग भी कुछ दूरी तक दौड़ में हिस्सा लेंगे।

इस दौड़ अभियान को कार्मिक प्रमुख वीएडीएम दिनेश के. त्रिपाठी द्वारा 30 अक्टूबर को राष्ट्रीय समर स्मारक से झंडी दिखाकर रवाना किया जाएगा। अभियान 03 दिसंबर 2022 को नौसेना दिवस समारोह के साथ संपन्न होगा। इस दौड़ अभियान के दौरान कुछ महत्‍वपूर्ण उपलब्धियां भी हासिल की जाएंगी। इनमें शामिल हैं: -'आज़ादी का अमृत महोत्सव' मनाना और नौसेना दिवस (1971 के युद्ध के दौरान समुद्र में नौसेना द्वारा किया गया हमला तथा भारतीय नौसेना की जीत) को याद करना।दौड़ के मार्ग में स्थानीय आबादी के बीच अग्निपथ योजना और भारतीय नौसेना के बारे में जागरूकता फैलाना। सेवानिवृत्त सैनिक/वीर नारियों के साथ मार्ग में बातचीत।आम जन के बीच स्वास्थ्य तथा फिटनेस जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए जीवन शैली गतिविधि के रूप में प्रतिदिन दौड़ने को प्रोत्साहित करना।

 इस आयोजन को हरियाणा पर्यटन अपना सहयोग दे रहा है, इसलिए यह हरियाणा को एक पर्यटन केंद्र के रूप में बढ़ावा देने तथा उत्तर भारत की संस्कृति एवं परंपराओं को प्रदर्शित करने में भी सहायता करेगा।मार्ग में जिला प्रशासन के अधिकारियों के दैनिक आधार पर अभियान को झंडी दिखाने की संभावना है। विभिन्न अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले स्थानीय एथलीटों ने भी दौड़ का हिस्सा बनने के लिए अपनी इच्छा/उपलब्धता का संकेत दिया है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद