“ग्लोबल डिजिटल हेल्थ समिट” में 35 देशों के डॉक्टर और मेडिकल फील्ड की दिग्गज हस्तियां भागीदारी करेंगी

० योगेश भट्ट ० 
नई दिल्ली : भारत की पहली ग्लोबल डिजिटल हेल्थ समिट नई दिल्ली के विज्ञान भवन में 28 और 29 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी। इसमें दुनिया भर में चिकित्सा जगत से जुड़ी प्रभावशाली हस्तियां, बड़े-बड़े डॉक्टर, नीति विशेषज्ञ और बौद्धिक वर्ग के लोग काफी बड़ी तादाद में शामिल होंगे। समिट में शामिल होने के लिए कुल 1464 लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। 35 देशों में मेडिकल क्षेत्र से जुड़ी 700 से ज्यादा हस्तियों और 9 देशों के राजदूतों ने समिट में भाग लेने की पुष्टि कर दी है। ग्लोबल हेल्थ समिट के उद्घाटन संस्करण में केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह भाग लेंगे। राष्ट्रमंडल की सचिव माननीय पैट्रिशिया स्कॉटलैंड इस अवसर पर विशेष मुख्य वक्ता होंगी। डिजिटल हेल्थ के क्षेत्र में दुनिया की दिग्गज हस्तियां भी अपनी मौजूदगी से समारोह में चार चांद लगाएंगी।

 दो दिवसीय सम्मेलन में सभी को डिजिटल रूप से डॉक्टरों से परामर्श की सुविधा देने के लिए डिजिटल इकोसिस्टम बनाने में सामने आ रही कठिनाइयों और मुख्य मुद्दों पर चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त सम्मेलन में इस बात पर विचार किया जाएगा कि हेल्थ प्रोफेशनल और संस्थान किस तरह डिजिटल टेक्नोलॉजी अपना सकते हैं। इस सम्मेलन में रिटर्न ऑन इनवेस्टमेंट (आरओआई) के मुख्य मुद्दे पर चर्चा की जाएगी। स्वास्थ्य रक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे छोटे संस्थानों और व्यक्तिगत रूप से डॉक्टरों को डिजिटल हेल्थ की सुविधा अपनाने की राह में आ रही रुकावटों पर भी विचार  यह इवेंट दुनिया भर के प्रमुख डिजिटल हेल्थ असोसिएशन के साथ साझेदारी में आयोजित किया जाएगा।

 इसमें ग्लोबल हेल्थ कनेक्टर पार्टनरशिप (अमेरिकन टेलीमेडिसिन असोसिएशन, एचएलटीएच, यूरोपियन कनेक्टेड हेल्थ अलायंस, कॉमनवेल्थ सेंटर फॉर डिजिटल हेल्थ, अफ्रीकन हेल्थ फेडरेशन, द डिजिटल हेल्थ सोसाइटी, हेल्थ पार्लियामेंट शामिल है।) इसके अलावा इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए द इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर टेलीमेडिसिन एंड हेल्थ और इंटरनेट गवर्नेंस- डायनेमिक कोलिएशन ऑन डिजिटल हेल्थ ने भी हाथ मिलाया है। इस समिट में भाग लेने वाले कुछ महत्वपूर्ण नेताओं और हेल्थ केयर प्रैक्टिशनर, जिनके इस समिट में हिस्सा लेने की संभावना है, उनमें शामिल हैं :

संयुक्त राष्ट्र में आईजीएफ, डिजिटल हेल्थ पर डायनेमिक कोलिएशन के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र प्रताप गुप्ता ने कहा, “हम इस सम्मेलन में प्रभावशाली हस्तियों, बड़े-बड़े डॉक्टरों, नीति निर्माण में विशेषज्ञ और बौद्धिक विचारधारा के लोगों की बड़ी संख्या में भागीदारी की संभावना से बेहद उत्साहित हैं। ग्लोबल समिट नई तकनीक को अपनाने के सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर डॉक्टरों और इंडस्ट्री को जागरूक करेंगी। इससे उन्हें य़ह भी पता चलेगा कि किस तरह डिजिटल हेल्थ मेडिकल प्रैक्टिस को बदल सकती है। इस सम्मेलन के माध्यम से हम सभी लोगों के लिए डिजिटल हेल्थ की सुविधा हासिल करने के लिए खास दिशा तय करना चाहते हैं। यह केवल एक सम्मेलन नहीं है, बल्कि इससे हम डिजिटल हेल्थ के लिए सामुदायिक प्रैक्टिस की आधारशिला रख रहे हैं।

इस डिजिटल समिट में चिकित्सा और स्वास्थ्य रक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले लोगों और आविष्कारकों की पहचान की जाएगी और उन्हें पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। ग्लोबल डिजिटल हेल्थ इनोवेशन अवॉर्ड हासिल करने के लिए सावर्जनिक और निजी क्षेत्र के सभी निजी क्षेत्र के सभी डॉक्टर आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए वे स्टार्टअप भी अप्लाई कर सकते हैं, जो डिजिटल हेल्थ के क्षेत्र में काम कर सकते हैं। पुरस्कारों के वितरण में नॉमिनेशन की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। पुरस्कार समारोह 29 अक्टूबर 2022 को आयोजित किया जाएगा, जिसमें विजेताओं को पुरस्कार दिए जाएंगे।

इस समिट को ग्लोबल सलाहकार बोर्ड ने विकसित किया है, जिसमें दुनिया भर के दिग्गज नेता शामिल हैं। सम्मलेन में अमेरिका, यूरोपीय संघ, अफ्रीका, ब्रिटेन और दक्षिण पूर्व एशिया के डिजिटल हेल्थ के प्रति गहरी समझ रखने वाले कई दिग्गज नेता शामिल होंगे। समिट में होने वाली गतिविधियों के नतीजे एक रिपोर्ट के रूप में सामने आएंगे, जो भविष्य में डिजिटल हेल्थ को अपनाने का रोडमैप तय करेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद