देश भर के 60 विभूतियों को “समर्पण समाज गौरव 2022 “ और 18 युवाओं को “ समर्पण युवा जाग्रति 2022 “ अवॉर्ड से नवाज़ा

० आशा पटेल ० 
जयपुर । समर्पण संस्था ने दुर्गापुरा स्थित सियाम ऑडिटोरियम में आयोजित समर्पण समाज गौरव अवार्ड समारोह में देश भर से चयनित 60 विभूतियों को 14 श्रेणियों में “समर्पण समाज गौरव 2022 “ और 18 युवाओं को “ समर्पण युवा जाग्रति 2022 “ अवार्ड से सम्मानित किया ।इस अवसर पर मुख्य अतिथि सिक्किम के पूर्व राज्यपाल व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस एन भार्गव ने कहा कि “ उत्कृष्ट कार्यों से ही देश आगे बढ़ता है । समाज में अच्छाई का विकास करने वाले ही धरती के वरदान साबित होते हैं । युवा पीढ़ी द्वारा देश को समर्पित होकर किये जा रहे कार्य विकास को गति प्रदान करते है ।

उन्होंने कहा कि “संस्था द्वारा शिक्षा व सामाजिक विकास में किये जा रहे कार्य अनुकरणीय है ।”
समारोह में 14 श्रेणियों में दिए गए अवार्ड में मुख्य रूप से समाज सेवा के लिए “ मदर टेरेसा समर्पण समाज गौरव “ अहमदाबाद के रबारी धरमशी भाई सरतानभाई को, शिक्षा के लिए “डॉ. राधाकृष्णन समर्पण समाज गौरव “ जयपुर के योगी मनीष विजयवर्गीय को , सामाजिक न्याय के लिए “ डॉ. अम्बेडकर समर्पण समाज गौरव “ चुरू के एडवोकेट श्री सुनील मेघवाल को , चिकित्सा में “ डॉ. विधान चंद्र राय समर्पण समाज गौरव” जयपुर के प्रोफ़ेसर डॉ. राजीव सक्सेना को , साहित्य में “ मुंशी प्रेमचंद समर्पण समाज गौरव “ चौमू के इंजीनियर सुरेश चन्द्र बुनकर को , शोध का आविष्कार के लिए “ डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम समर्पण समाज गौरव “ जयपुर की डॉ. यदु शर्मा को , 

खेलकूद में “मेजर ध्यानचंद समर्पण समाज गौरव “ बिहार के श्री अमित पाण्डेय को , आध्यात्म में “बाबा हरदेव सिंह समर्पण समाज गौरव “ जयपुर की बीके सुषमा दीदी को, पर्यावरण में “ सुंदर लाल बहुगुणा समर्पण समाज गौरव “ उत्तर प्रदेश के श्री नवीन कुमार दीक्षित को , कला एवं संस्कृति में “भूपेन हजारिका समर्पण समाज गौरव” नागौर के हिदायत खाँ को, महिला सशक्तिकरण में “ रानी लक्ष्मीबाई समर्पण समाज गौरव “ दिल्ली की दिव्या कपूर को , पत्रकारिता में “ कुलदीप नैय्यर समर्पण समाज गौरव” जयपुर के मनीष कुमार शर्मा को, उधमिता में धीरूभाई अंबानी समर्पण समाज गौरव “ जयपुर के श्री जे. डी. माहेश्वरी को, योग में “महर्षि पतंजलि समर्पण समाज गौरव “ जयपुर के योगाचार्य ढाका राम को दिया गया ।
समारोह की अध्यक्षता सेवानिवृत्त आई ए एस व राजस्थान लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष हनुमान प्रसाद ने की ।इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता व विश्व हिन्दी साहित्य परिषद के कुलाधिपति डॉ. एच. सी. गणेशिया ने भी अपने विचार व्यक्त किये ।समारोह में प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय जयपुर की क्षेत्रीय संचालिका राजयोगिनी बीके सुषमा दीदी, वाणिज्य कर विभाग के पूर्व उपायुक्त श्री शंकर लाल मेहरानियां , सेवानिवृत्त सहायक शासन सचिव श्री युवराज शर्मा, वरिष्ठ समाजसेवी व होटल ग्रांड सफ़ारी के प्रबन्ध निदेशक श्री पवन गोयल , एन. एस मीडिया व शकुन होटल एवं रिसॉर्ट्स के प्रबन्ध निदेशक श्री जे. डी. माहेश्वरी, समाज सेविका व व्यवसायी श्रीमती सुनिता दामिनी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे ।

सेवानिवृत्त आई ए एस डॉ. बी.एल. जाटावत, अनिल कुमार अग्रवाल, लेखिका व समाज सेविका पुर्णिमा पाठक शर्मा , सिविल कॉन्ट्रैक्टर मदन लाल वर्मा विशेष आमंत्रित अतिथि के रूप में उपस्थित रहे ।
संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट डॉ. दौलत राम माल्या ने सभी का स्वागत अभिनंदन करते हुए संस्था की विचारधारा को विस्तृत रूप में बताया । पूर्व जिला न्यायाधीश व संस्था के मुख्य सलाहकार उदय चन्द बारूपाल ने सम्मान की चयन प्रक्रिया पर अपना उद्बोधन दिया ।इस अवसर पर कोरियोग्राफर अंजु माथुर के निर्देशन में एक लोक नृत्य प्रस्तुत किया गया । मुम्बई की पार्श्व गायिका विद्याश्री ने भुपेन हज़ारिका का गीत प्रस्तुत किया । विद्या आश्रम स्कूल के विद्यार्थियों ने रेफ़री स्मिता शर्मा के निर्देशन में ताईक्वान्डो का प्रदर्शन किया ।मंच संचालन दूरदर्शन समाचार वाचक गौरव शर्मा ने किया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद