जयपुर जेईसीसी में होगा इंडिया स्टोनमार्ट 2022 का आयोजन 10 से 13 नवंबर तक -भारत और विदेश से 350 प्रदर्शक लेंगे हिस्सा

० आशा पटेल ० 
जयपुर । प्रतिष्ठित इंडिया स्टोनमार्ट 22 का 11वां संस्करण 10 से 13 नवंबर तक जयपुर के सीतापुरा औद्योगिक क्षेत्र में जयपुर एग्जीबिशन और कन्वेंशन सेंटर (जेईसीसी) में आयोजित किया जाएगा। इसका आयोजन सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ स्टोन्स (सीडीओएस) द्वारा किया जा रहा है, जिसमें फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) सह-आयोजक है। राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास एवं निवेश निगम लिमिटेड (रीको) इसका प्रमुख प्रायोजक है।
इंडिया स्टोनमार्ट 2022', स्टोन इंडस्ट्री की सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी होगी, जिसमें प्राकृतिक पत्थरों, सहायक उत्पादों और सेवाओं की दुनिया को व्यापक रूप से प्रदर्शित किया जाएगा। यह आयोजन स्टोन इंडस्ट्री के विभिन्न हितधारकों जैसे घरेलू और विदेशी उत्पादकों, निर्यातकों, आयातकों, उपभोक्ताओं को एक साथ लाएगा। साथ ही खरीदारों, विशेषज्ञों, प्रौद्योगिकी प्रदाताओं, आर्किटेक्ट्स, बिल्डरों, डेवलपर्स, कॉरपोरेट्स आदि को एक छत के नीचे लाएगा। इंडिया स्टोनमार्ट 2022 विश्वभर के उपभोक्ताओं के बीच अपने उत्पादों, सेवाओं और ब्रांड छवि को बढ़ावा देने के लिए प्रदर्शकों को एक आदर्श मंच प्रदान करेगा और साथ ही उनके व्यापार के दायरे और संभावनाओं को बढ़ाने के लिए व्यावसायिक संबंध और नेटवर्किंग स्थापित करने का अवसर देगा। यह जानकारी एसीएस, उद्योग, राजस्थान सरकार, वीनू गुप्ता ने दी।

एसीएस, उद्योग ने आगे बताया कि भारत और विदेशों से 350 से अधिक प्रदर्शकों के भाग लेने की उम्मीद है, जो कि 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से भी होंगे। गुजरात और ओडिशा के भी अपने स्टेट पवेलियन होंगे। अंतरराष्ट्रीय पवेलियन में तुर्की, ईरान और पुर्तगाल द्वारा प्रदर्शन किया जाएगा। इटली और चीन से भी आयोजन में भागीदारी की पुष्टि की गई है।पिछले संस्करणों की तरह एक ही छत के नीचे प्राकृतिक पत्थरों, क्वार्ट्ज पत्थर के स्लैब, खनन और प्रोसेसिंग मशीनरी, हेवी अर्थ मूविंग मशीनरी, उपकरण, उपभोग्य वस्तुओं का व्यापक प्रदर्शन होगा।

इंडिया स्टोनमार्ट 2022 में व्यापार प्रतिनिधिमंडल और विभिन्न देशों और भारत के अन्य हिस्सों से बड़ी संख्या में ट्रेड विजिटर्स/ बायर्स के आने की उम्मीद है। अब तक 47 देशों के 500 से अधिक अंतरराष्ट्रीय आगंतुक पहले ही मार्ट में हिस्सा लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। इसके दौरान आयोजित होने वाले अन्य कार्यक्रम जयपुर आर्किटेक्चरल फेस्टिवल, बायर-सैलर मीट और शिल्पग्राम होंगे। रीको के प्रबंध निदेशक, शिवप्रसाद नकाते ने हाल ही में आगामी मेगा ईवेंट की व्यवस्थाओं की समीक्षा की थी। उन्होंने ले-आउट, लॉजिस्टिक अरेंजमेंट, आर्किटेक्चर फेस्टिवल, ब्रांडिंग आदि के संबंध में दिशा-निर्देश दिए थे।गौरतलब है कि पिछले साल कोविड के कारण इस द्विवार्षिक प्रदर्शनी का आयोजन नहीं किया गया था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद