सोनपुर मेले को ऐतिहासिक बनाने वाले बरबट्टा निवासी चार दशकों बाद दोहराया गया इतिहास

० 
संत कुमार गोस्वामी ० 
बिहार = सोनपुर।2 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद इस वर्ष सोनपुर मेले का आयोजन हुआ, पहली बार सोनपुर मेले के मुख्य मंच पर सारण से जुड़े मंत्री विधायकों की भरमार रही। मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव गृह जिला गोपालगंज थे जबकि विशिष्ट अतिथि राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश सिंह सारण से सटे सिताब दियारा के मूल निवासी थे । कार्यक्रम की अध्यक्षता सारण जिले के प्रभारी मंत्री सह विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह द्वारा की गई । जबकि मंचासीन कला संस्कृति मंत्री जितेंद्र कुमार राय छपरा के मरहौरा से विधायक  तथा श्रम मंत्री सुरेंद्र नाम गरखा से। डुमरी निवासी राजद विधान पार्षद डॉ सुनील कुमार सिंह थे । 

सोनपुर मेले के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता की जिम्मेवारी जिला प्रभारी मंत्री सुमित कुमार सिंह को मिलने से सोनपुर क्षेत्र के युवाओं में हर्ष व्याप्त था इस कारण से पूरे मेला परिसर में सबसे ज्यादा बैनर पोस्टर उनके ही नजर आ रहे थे सोनपुर इलाके में प्रवेश द्वार पर जगह-जगह उनके समर्थकों के द्वारा तोरण द्वार बनाया गया था। सोनपुर मेले के इतिहास में बाबू लगन देव सिंह का बड़ा योगदान रहा है। सोनपुर के बड़े जमींदारों में शुमार रहे स्वर्गीय बाबू लगन देव सिंह ने अपने निजी जमीन में कई गांव को बसाया सोनपुर के विकास में भी उनके परिवार का बड़ा योगदान रहा सोनपुर स्टेशन केंद्रीय विद्यालय डीआरएम कार्यालय सब उनके ही जमीन में बना। 

 मंत्री सुमित कुमार सिंह के मीडिया प्रभारी अनूप नारायण सिंह ने बताया कि यह गौरवशाली क्षण था जब सोनपुर के माटी से जुड़े मंत्री सुमित कुमार सिंह मंच पर इस ऐतिहासिक मेले के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता कर रहे थे पूरे इलाके के युवाओं में इस बात को लेकर हर्ष व्याप्त था लोगों ने स्वता ही जगह-जगह सुमित कुमार सिंह के समर्थन में तोरण द्वार बनाए थे। मंत्री सुनील सिंह के समर्थन में युवराज सिंह ऋतुराज सिंह और राज सिंह के द्वारा बरबट्टा से लेकर सरकारी गाछी तक युवाओं के जत्थे के द्वारा मोटरसाइकिल जुलूस हुई निकाली गई थी। 

वरिष्ठ अधिवक्ता ओम कुमार सिंह ने कहा कि आज सोनपुर की धरती भी धन्य हो गई कई दशकों के बाद यह उनके परिवार के लिए भी गौरवशाली छन रहा जब परिवार का दामाद सोनपुर मेले के उद्घाटन सत्र के मंच पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहा था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद