आयरलैंड सरकार के प्रयास से नई दिल्ली में शुरू होने वाले इन-पर्सन एजुकेशन फेयर में आएंगे कई आयरिश संस्थान


० नूरुद्दीन अंसारी ० 
नई दिल्ली, भारतीय छात्रों के आयरलैंड में शिक्षा संबंधी तमाम लक्ष्य से एजुकेशन इन आयरलैंड ने नई दिल्ली में महामारी के बाद अपना पहला इन-पर्सन एजुकेशन फेयर आयोजित किया है। आयरिश उच्च शिक्षा संस्थानों को बढ़ावा देते आयरिश सरकार के नेशनल ब्रांड एजुकेशन इन आयरलैंड एक बार फिर ऑन-ग्राउंड मेलों का आयोजन कर प्रतिभागियों को जानकारी प्राप्त करने का अधिक से अधिक अवसर देगा और शैक्षणिक वर्ष 2023-2024 में विदेश में पढ़ने के इच्छुक भारतीय छात्रों को महत्वपूर्ण सूझबूझ प्रदान करेगा।

 दिल्ली के द ललित होटल में 19 नवंबर आयोजित मेले में 16 प्रमुख आयरिश एचईआई भाग लेकर प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर देंगे, विमर्श करेंगेे, उपलब्ध प्रोग्राम के बारे में बताएंगे, इनटेक, ऑफर मंजूर करने, कैंपस लाइफ, आवास, अंतर्राष्ट्रीय छात्र सहायता सेवा, छात्रवृत्ति, संस्कृति और बहुत कुछ के बारे में बात करेंगे। और यह किसी एजेंट की सेवा लिए बिना आसानी से एक जगह मुमकिन होगा। नई दिल्ली के अलावा, एजुकेशन इन आयरलैंड के मेले पुणे, मुंबई, चेन्नई और बंगलुरु में आयोजित किए जाएंगे।

आयरलैंड विदेशी छात्रों का स्वागत करने में सबसे आगे रहा है। यह सभी छात्रों को अच्छे कैरियर का भरोसा देता है और भारतीय छात्रों को अधिक आरओआई देता है जो विदेश में शिक्षा के किसी अन्य स्थान पर नहीं मिलता है। मेलों के बारे में बात करते हुए एजुकेशन इन आयरलैंड के भारत और दक्षिण एशिया क्षेत्रीय प्रबंधक श्री बैरी ओश्ड्रिसकोल ने कहा, ‘इन-पर्सन एजुकेशन फेयर दो साल के बाद आयोजित हो रहे हैं और हम भारत के अलग-अलग शहरों में फिर से मेले आयोजित कर यह चाहते हैं कि छात्र आयरिश उच्च शिक्षा संस्थानों के प्रतिनिधियों से आमने-सामने बैठ कर बात करें ताकि वे सही कोर्स और जॉब की संभावनाएं समझें। इन मेलों में छात्रों को उपलब्ध सभी अवसरों के बारे में और यह जानकारी भी मिलेगी कि आयरलैंड मंे उनके लिए कितनी अधिक संभावनाएं हैं।’’

आयरलैंड में हाल के वर्षों में मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी, क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डेटा एनालिटिक्स, साइबर सुरक्षा, अकाउंटिंग/फाइनैंस और एमबीए जैसे कोर्स के साथ सब से हट कई कोर्स की मांग बढ़ती दिख रही है।  ओ’ड्रिसकॉल ने बताया, “मैंने आयरलैंड और एचईआई के कोर्स में भारतीय छात्रों की दिलचस्पी बढ़ती देखी है। अंडरग्रैजुएट और पोस्टग्रैजुएट स्तर पर 5000 से अधिक भारतीय छात्र विदेश में पढ़ने के लिए आयरलैंड को चुनते हैं। आयरलैंड में पढ़ने के कई लाभ हैं। इनमें एक सबसे प्रमुख लाभ यह है कि पोस्टग्रैजुएट स्तर पर छात्र अपना कोर्स पूरा करने के बाद दो साल तक ‘स्टे-बैक’ के विकल्प का लाभ उठा सकते हैं। यह छात्रों को प्रगतिशील क्षेत्रों में रोजगार ढूंढ़ने के लिए एक वर्ष की अवधि तक आयरलैंड में रहने का सुनिश्चित अवसर देता है।’’

आयरिश शिक्षा प्रणाली को नियमितता के लिए पूरी दुनिया के सर्वोच्च 10 रैंक में स्थान प्राप्त है। इसलिए आयरलैंड संपूर्ण कैरियर बनाने के इच्छुक छात्रों की पहली पसंद बन सकती है। आयरलैंड दुनिया की सबसे स्थिर, सुरक्षित और उत्साहवर्धक अर्थव्यवस्थाओं में से एक है इस लिहाज से भी अच्छे करियर और अच्छी जिन्दगी की चाहत रखने वाले छात्रों के लिए यहां एक साथ दोनों का आनंद मिलता है। मेले में आए सभी छात्र निम्नलिखित प्रमुख आयरिश संस्थानों से संपर्क करने, संभावना जानने, सीधे आवेदन करने और फिर कोर्स, प्रवेश प्रक्रिया, रोजगार के अवसर, कैम्पस रिक्रूटमेंट, छात्रवृत्ति, इंटेक आदि सभी जानकारियां एक जगह निःशुल्क प्राप्त करने का अवसर पाएंगे।

प्रतिभागी एचईआई की सूची ,अटलांटिक टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी,गॉलवे विश्वविद्यालय,बलिन बिजनेस स्कूल।साउथ ईस्ट टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी,डबलिन सिटी यूनिवर्सिटी,टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, बलिन,डंडालक इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी,टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी ऑफ शैनन मिडलैंड्स, मिडवेस्ट,
ग्रिफ़िथ कॉलेज,,ट्रिनिटी कॉलेज डबलिन,मेयूथ यूनिवर्सिटी,यूनिवर्सिटी कॉलेज कॉर्क,मुंस्टर टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी,यूनिवर्सिटी कॉलेज डबलिन,नेशनल कॉलेज ऑफ आयरलैंड,यूनिवर्सिटी ऑफ लाइमरिक

विदेश में, विशेष कर आयरलैंड में पढ़ने के इच्छुक छात्रों के लिए जानकारी प्राप्त करने के सबसे अच्छा शिक्षा मेले में भागीदारी करना और आयरिश सरकार के आधिकारिक प्रतिनिधियों से सलाह लेना है। वीजा प्रक्रिया से लेकर आवास और शिक्षा पाठ्यक्रमों तक और फिर विदेश जाने तक अर्थात् हर एक चरण की जानकारी मिलेगी और वे वहां उपस्थित अधिकारियों से आमने-सामने बैठ कर बात करते हुए कोई भी संशय दूर कर पाएंगे। अधिक जानकारी के लिए देखें https://bit.ly/PREINOV

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अतरलाल कोलारे बने नुन्हारिया मेहरा समाज के प्रांतीय अध्यक्ष

दादा लख्मी फ़िल्म देश ही नहीं बल्कि विश्व में हलचल मचा सकती है - हितेश शर्मा

भोजपुरी एल्बम दिल के लुटल चैना 5 दिसंबर को होगा रिलीज

Delhi MCD Election वार्ड 117 से आप उम्मीदवार तिलोत्तमा चौधरी की जीत की राह आसान

दिल्ली मूल ग्रामीणों की 36 बिरादरी अपनी अनदेखी से लामबंद