संदेश

मई 3, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वर्चुअल टूर के माध्यम से कलाकार जामिनी राय को श्रद्धांजलि

चित्र
नयी दिल्ली - जामिनी राय 20वीं सदी भारतीय कला के सबसे आरंभिक और सबसे उल्लेखनीय आधुनिकतावादी थे। 1920 के बाद से विधा के सार की उनकी खोज ने उन्हें नाटकीय रूप से अलग अलग विजुअल शैली के साथ प्रयोग करने का अवसर दिया। लगभग छह दशकों तक फैले उनके कैरियर में कई महत्वपूर्ण परिवर्तनशील पड़ाव आए और उनकी कलाकृतियां सामूहिक रूप से उनकी आधुनिकतावाद की प्रकृति और उनके समय के कला प्रचलनों से अलग हटने में उनकी प्रमुख भूमिका को दर्शांती हैं। 20वीं सदी के आरंभिक दशकों में पेंटिंग की ब्रितानी अकादमिक शैली में प्रशिक्षित, जामिनी राय एक कुशल चित्रकार के रूप में विख्यात हो गए। 1916 में अब कोलकाता के गवर्नमेंट आर्ट स्कूल से स्नातक करने के बाद उन्हें नियमित रूप से कमीशन मिलता रहा। 20वीं सदी के आरंभिक तीन दशकों में बंगाल में सांस्कृतिक अभिव्यक्तियों में बहुत बड़ा बदलाव देखा गया। राष्ट्रीय आंदोलन की बढ़ती भावना साहित्य और विजुअल कलाओं में सभी प्रकार के बदलावों को प्रेरित कर रही थी। अबनींद्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित द बंगाल स्कूल और नंदलाल बोस के तहत शांतिनिकेतन में कला भवन ने यूरोपीय नैचुरलिज्म और माध्यम के रूप में

कोरोना योद्धाओं को सलामी देने के लिए भारतीय वायु सेना द्वारा फ्लाई पास्ट

चित्र
नयी दिल्ली - भारतीय वायु सेना ने 3 मई  को दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में अपने कई विमानों के साथ फ्लाई पास्ट करने की योजना है। इस उड़ान गतिविधि में आईएएफ की प्रशिक्षण गतिविधि को शामिल किया गया है और इसमें ऐसे परिवहन विमान और हेलिकॉप्टर शामिल होंगे, जो कोविड-19 से संबंधित आपूर्ति में उपयोग किए जाते रहे हैं। कोरोना योद्धाओं के लिए यह हवाई सलामी दिल्ली के आसमान पर सुबह 10-10.30 बजे के बीच देने की योजना है। लड़ाकू विमान संयोजन राजपथ और दिल्ली के ऊपर से उड़ान भरेगा, जिसे दिल्ली के नागरिक अपनी छत से देख सकेंगे। इस परेड में सुखोई-30 एमकेआई, मिग-29 और जगुआर जैसे विमान शामिल होंगे। इसके अलावा, सी-130 परिवहन विमान भी लड़ाकू विमानों की तरह ही दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में प्रदर्शन करेंगे। अनुमानित रूप से विमान हवाई सुरक्षा विशेषकर पक्षियों से संबंधित गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए 500 मीटर से 1,000 मीटर की ऊंचाई तक उड़ान भरेंगे। इसके अलावा हेलिकॉप्टरों के माध्यम से सुबह 9.00 बजे पुलिस युद्ध स्मारक और उसके बाद कोविड-19 के उपचार में लगे दिल्ली के अस्पतालों पर 10-10.30 बजे के बीच पुष्प वर्षा करने

जिंदल स्टेनलेस अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार से ब्रिटिश सेफ्टी काउन्सिल द्वारा सम्मानित

चित्र
नई दिल्ली :  जिंदल स्टेनलेस (हिसार) लिमिटेड (जेएसएचएल) को ब्रिटेन-स्थित ब्रिटिश सेफ्टी काउन्सिल द्वारा प्रतिष्ठित 'अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार 2020 मेरिट' से सम्मानित किया गया है। श्रमिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में यह सम्मान विश्व स्तर पर प्रतिष्ठित सम्मानों में से एक है। इस पुरस्कार से सम्मानित 500 से अधिक वैश्विक कंपनियों में जेएसएचएल स्टील और स्टेनलेस स्टील उद्योग की एकमात्र भारतीय कंपनी है। यह पुरस्कार जेएसएचएल की प्रतिबद्धता और कार्यस्थल पर वैश्विक सुरक्षा मानकों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के मद्देनज़र कंपनी को दिया गया है। जिंदल स्टेनलेस के प्रबंध निदेशक अभ्युदय जिंदल ने इसे एक महत्वपूर्ण उपलब्धि के रूप में स्वीकार किया और जेएसएचएल टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा, "श्रमिकों की सुरक्षा कंपनी के लिए हमेशा ही प्राथमिकता है। यदि आज हम COVID-19 जैसे अभूतपूर्व संकट का सामना दृढ़ता से करने के लिए तैयार हैं तो वो इसीलिए क्यूंकि हमने कार्यस्थल में सुरक्षा को हमेशा महत्व दिया है। भारतीय स्टेनलेस स्टील उद्योग में अग्रणी होने के नाते हम सुनिश्चित करते हैं कि हमारी विनिर

कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में एयर फोर्स द्वारा फ्लाई पास्ट

चित्र

Eid की Shopping के लिए सतर्क रहें

चित्र