संदेश

नवंबर 26, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

फिल्म "लवर पॉइंट" में अभिनेत्री पूजा पोद्दार की जबरदस्त एक्टिंग

चित्र
हिंदी फिल्म लवर पॉइंट इन दिनों उत्तर प्रदेश झांसी के सिनेमा घरों में दिखाई जा रही है। इस फिल्म के प्रोड्यूसर सचिन गोस्वामी ने खास बातचीत में उन्होंने बताया कि यह एक हॉरर फिल्म है, यह फिल्म दर्शकों को देखना जरूर चाहिए।  इसका सस्पेंस मनोरंजन से भरपूर और बेहतरीन तरीके से विभिन्न लोकेशन पर सूट की गई है।   यह फिल्म मुंबई मेरठ आदि सिनेमा घरों में पहले ही काफी लोगों द्वारा पसंद की जा चुकी है। इस फिल्म में अभिनेत्री पूजा पोद्दार की प्रभावशाली भूमिका है।  इस फिल्म के प्रोड्यूसर सचिन गोस्वामी का फ़िल्मी क्षेत्र में अच्छा अनुभव है वह हिंदी सीरियल में भी काम कर चुके हैं उनका कहना है कि अगर जुनून और उम्मीदें है तो आदमी कुछ भी कर सकता है। यह अपने खुद के प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले और भी फिल्म बनाने की योजना बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही अपनी अगली योजना और प्रोजेक्ट का एलान करेंगें।  

मिस्र से 6090 एमटी प्याज भारत खरीदेगा

चित्र
नयी दिल्ली - विभिन्न राज्य सरकारों की ओर से अब तक 2265 एमटी की कुल मांग प्राप्त हुई है जिसमें  आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, केरल एवं सिक्किम से आई मांग  शामिल है। यही नहीं, इसमें दिल्ली में आपूर्ति के लिए नैफेड की ओर से आई मांग भी शामिल है। अन्य राज्यों से जल्द से जल्द अपनी मांग प्रस्तुत करने का अनुरोध किया गया है, ताकि केन्द्र सरकार इसे सुनिश्चित कर सके। उपभोक्ता कार्य विभाग में सचिव अविनाश के.श्रीवास्तव ने राज्यों की मांग का आकलन करने के लिए राज्य सरकारों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। एमएमटीसी ने मिस्र से 6090 एमटी प्याज की पहली खेप के लिए ऑर्डर दिया है जो मुंबई के नावा शेवा (जेएनपीटी) पर पहुंचेगी। प्रति किलोग्राम 52-55 रुपये के एक्स-मुंबई रेट पर वितरण के लिए राज्य सरकारों को प्याज की पेशकश की जा रही है। प्याज को प्रति किलोग्राम 60 रुपये के एक्स-दिल्ली रेट पर भी उपलब्ध कराया जाएगा। राज्य सरकारें स्वयं ही संबंधित स्थान से स्टॉक हासिल कर सकती हैं और इसके साथ ही आवश्यकता पड़ने पर नैफेड के जरिये ढुलाई की सुविधा पाने का भी विकल्प उनके पास होगा। आयातित प्याज की आपूर्ति दिसम्बर म

युवाओं के लिए बेहतरीन संदेश है फ़िल्म "LOVERS POINT" Producer सचिन गोस्वामी

चित्र

देश के राजनैतिक दलों की चुप्पी 7 करोड़ व्यापारियों के लिए घातक

चित्र
देश भर में हुए विरोध मार्च में व्यापारियों ने बेहद रोष और आक्रोश के साथ अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट के खिलाफ नारे लगाए और अपने हाथों में विभिन्न प्लेकार्ड  " अमेज़न -फ्लिपकार्ट गो बैक-गो बैक  ", "अमेज़न फ्लिपकार्ट के पंजे से -ई कामर्स को मुक्त कराओ"," विषाक्त ई कॉमर्स -नहीं चलेगा ,नहीं चलेगा" ," प्रीडेटरी प्राइसिंग -डीप डिस्कॉउंटिंग, बंद करो-बंद करो" ," अमेज़न फ्लिपकार्ट -ईस्ट इंडिया कंपनी का दूसरा रूप " जैसे नारो के साथ अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट का जबरदस्त विरोध किया ! नयी दिल्ली - कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट द्वारा देश के ई कॉमर्स एवं रिटेल बाजार को विकृत किये जाने के खिलाफ चलाये जा रहे देशव्यापी अभियान के अंतर्गत आज कैट ने देश के 500 से अधिक जिलों एवं 300 से अधिक शहरों में " विरोध मार्च " निकाल कर सभी जिलों के कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन देकर सरकार से मांग की गई की अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट को दूसरी ईस्ट इंडिया कंपनी बनने से रोका जाए! विरोध प्रदर्शन में देश भर में लगभग 10 लाख व्याप