संदेश

अगस्त 9, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

उत्तर प्रदेश में 450 करोड़ कोविड फंड से प्रदेश के सभी जनपद में कोविड अस्पतालों की स्थापना

चित्र
आगामी 15 दिनों  के भीतर पूरे प्रदेश में कोरोना मृत्यु दर को 1 प्रतिशत से कम पर लाने का लक्ष्य रखा गया है अतः इसके लिए सभी अधिकारियों को और अधिक दृढ़ता के साथ प्रयास करने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को लेकर कमिश्नरी सिस्टम लागू होने के उपरांत जनपद में अपराधों पर अंकुश लगाने  में विशेष सफलता प्राप्त की गई है इसके लिए सभी पुलिस के अधिकारी धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने पुलिस के अधिकारियों को स्पष्ट एवं स्वतंत्रता प्रदान करते हुए कहा है कि अपराधियों एवं माफियाओं के विरुद्ध बहुत ही शक्ति के साथ पेश आकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए और कोई भी अपराधी जेल से बाहर न रहने पाए। गौतमबुद्धनगर -उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने उद्बोधन में कहा कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी प्रदेशवासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित करने तथा कोरोना पॉजिटिव मरीजों का यथा समय इलाज संभव कराने के उद्देश्य से सरकार के द्वारा लगातार प्रयास सुनिश्चित किए जा रहे हैं।  मुख्यमंत्री नोएडा कोविड अस्पताल के शुभारंभ अवसर पर सेक्टर 39 नोएडा में नवनिर्मित नोएडा

आईआईटी रोपड़ के वैज्ञानिक कृषि को अधिक टिकाऊ और लाभदायक बनाने के लिए अत्याधुनिक समाधान विकसित करेंगे

चित्र
भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डी.एस.टी.) ने कृषि एवं जल के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी नवाचार केंद्र (टी.आई.एच) स्थापित करने के लिए 110 करोड़ रुपये की राशि को मंजूरी। इस योजना के तहत आईआईटी रोपड़ के वैज्ञानिक कृषि को किसानों के लिए अधिक टिकाऊ और लाभदायक बनाने के लिए अत्याधुनिक समाधान विकसित करेंगे। जल और मिट्टी गुणवत्ता मूल्यांकन, जल उपचार और प्रबंधन, कृषि स्वचालन और सूचना प्रणाली, पराली प्रबंधन प्रणाली और शहरी खेती, पानी व मिट्टी में खतरनाक पदार्थों का मानचित्रण और उनके उपचार, कृषि क्षेत्रों में और कृषि वस्तुओं के प्रबंधन में आईओटी प्रौद्योगिकियों की तैनाती। यह हब कृषि और पानी के क्षेत्र में स्टार्टअप, स्नातक और स्नातक शोध छात्रों, नई कंपनियों का समर्थन करेगा।  रोपड़ : भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डी.एस.टी.) ने कृषि एवं जल के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी नवाचार केंद्र (टी.आई.एच) स्थापित करने के लिए 110 करोड़ रुपये की राशि को मंजूरी दी है। ‘अवध’ के रूप में संक्षिप्त (कृषि एवं जल प्रौद्योगिकी विकास केंद्र), जिसका उदेश्य पराली प्रबंधन, जल गुणवत्ता में सुधार, प

आज़मगढ़ में गौवंश के शवों की बरामदगी साम्प्रदायिक साजिश की आशंका

चित्र
प्रदेश में कोरोना संकट लगातार बढ़ता जा रहा है. आज़मगढ़ समेत कई जनपदों में कोरोना पॉज़िटिव रोगियों के लापता हो जाने की खबरें हैं. अस्पतालों में जगह की कमी के कारण संक्रमितों को इलाज नहीं मिल पा रहा है. किसान, मज़दूर, गरीब बेरोज़गारी का शिकार हैं. ऐसे में यह जनता का ध्यान मूल मुद्दों से हटाने का प्रयास भी हो सकता है. लखनऊ -रिहाई मंच ने आज़मगढ़ में गौवंश के शवों की अचानक बरामदगी को साजिश कहते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने कहा कि जनपद आज़मगढ़ की अलग-अलग नहरों में गोवंश के शवों के पाए जाने सूचनाएं मीडिया-सोशल मीडिया में आ रही हैं. कई स्थानों पर इस तरह से गोवंश के शव मिलने की खबरें किसी बड़ी साज़िश ओर संकेत करती हैं. एक साथ अलग-अलग स्थानों पर लगभग एक जैसी संख्या में गोवंश के शव पाए जाने से साज़िश की आशंका को बल मिलता है. इतनी बड़ी संख्या में शवों की बरामदगी यह भी सवाल पैदा करती है कि क्या इतनी संख्या में शव नहर के बहाव में एक साथ बह सकते हैं. ऐसा तो नहीं कि कहीं से लाकर एक साथ साजिशन डाला गया.  आज़मगढ़ भाजपा जिलाध्यक्ष को इस विषय में अधिक जानकारी है क्यों