संदेश

मई 9, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

NSD द्वारा उभरते कलाकारों और थिएटर में दिलचस्‍पी रखने वालों के लिए 10 से 17 मई तक वेबिनार श्रृंखला का आयोजन

चित्र
नयी दिल्ली - राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) 10 मई से लगातार एक सप्‍ताह के लिए थिएटर के वरिष्‍ठ कलाकारों द्वारा दैनिक वेबिनार आयोजित करने की योजना बनाई है। इच्छुक लोग एनएसडी  के यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज के जरिए इन वेबिनार्स में शामिल हो सकते हैं। एक घंटे का वेबिनार रोजाना शाम 4 बजे शुरू होगा और लोगों को सवाल जवाब के लिए 30 मिनट का अतिरिक्त समय मिलेगा। वेबिनार्स केवल थिएटर के इतिहास और आलोचना पर ही नहीं, बल्कि डिजिटल माध्यम से व्‍यावहारिक प्रशिक्षण पर भी ध्यान केंद्रित करेंगे।  इसमें  व्याख्यान,लेक-डेम, मास्टर क्लास, थिएटर और कला के अन्य क्षेत्रों की प्रसिद्ध हस्तियों के साथ बातचीत और भारतीय थिएटर में महारत रखने वालों के साथ गहन बातचीत को शामिल किया जाएगा। इस सीमित और मध्यवर्ती बातचीत से न केवल ऐसे समय में लाखों लोगों की सीखने की ललक पूर्ण होगी, बल्कि ये शोध एवं अध्‍ययन के लिए संसाधन सामग्री भी साबित होगी। दिलचस्‍पी रखने वाले इच्‍छुक लोग वेबिनार में  https://www.youtube.com/c/nationalschoolofdrama   पर शामिल हो सकते हैं। वेबिनार एनएसडी के आधिकारिक फेसबुक पेज  https://www.facebo

रेड क्रॉस की तरह हमारा ध्येय मानवतावादी गतिविधियों को प्रेरित करने वाला होना चाहिए - डॉ.हर्ष वर्धन

चित्र
आईआरसीएस की स्थापना एक स्वैच्छिक मानवतावादी संगठन के रूप में 1920 में हुई थी। आज देश भर में 1,100 से अधिक शाखाओं के नेटवर्क के साथ यह आपदाओं/आपातकाल स्थितियों के समय राहत उपलब्ध कराता है, साथ ही निर्बल लोगों एवं समुदायों के स्वास्थ्य की देखभाल को बढ़ावा भी देता है। यह विश्व में सबसे बड़ा स्वतंत्र मानवतावादी संगठन, इंटरनेशनल रेड क्रॉस सोसाइटी और रेड क्रेसेंट आंदोलन का अग्रिम सदस्य है। इंडियन रेड क्रॉस का मिशन हर वक्त, सभी प्रकार की मानवतावादी गतिविधियों को प्रेरित, प्रोत्साहित एवं आरंभ करना है जिससे कि मानव कष्टों को न्यूनतम बनाया जा सके एवं यहां तक कि रोका जा सके और इस प्रकार शांति के लिए अधिक अनुकूल माहौल के सृजन में योगदान दिया जा सके। नयी दिल्ली - केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने ‘विश्व रेड क्रॉस दिवस‘ के अवसर पर इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी (आईआरसीएस) के शताब्दी समारोहों में भाग लिया। डॉ. हर्ष वर्धन ने विश्व रेड क्रॉस दिवस के संस्थापक हेनरी डुरंट की वक्ष प्रतिमा को माला पहनाई और इस अवसर को चिन्हित करने के लिए पीपीई, मास्क, वेट पाइप्स, बॉडी बैग्स आदि से निर

 क्या बोले रे जोगी

चित्र
वी0 एस0 बिष्ट क्या बोले ये जोगी, तेरी वीणा का इकतारा, तारा बोले छोड़ दे जोगी, माया का चौबारा। दर दर भटके कहीं न अटके, नदिया की ज्यों धारा, ठाठ पड़ा सब रह जाता है, कूच करे जब बंजारा। दुनिया की यह भूल भुलैया, इसका आर न पारा। माया महाठगिनी साधु, नामुमकिन छुटकारा। शूरा ज्ञानी शाह रंक को, इसने चुन चुन मारा। क्या बोले रे जोगी , तेरी वीणा का इकतारा। राज गये दरवार गये, औ खाक हुआ सरमाया, जोड़ी लाखों की थी माया, साथ न कुछ ले पाया। माया के चक्कर में फंसकर, मिलता है सम्मान नहीं, नशा चढ़े जब दौलत का तो, रहता फिर कुछ ज्ञान नहीं, रानी ज्ञानी के चक्कर में, खत्म हुआ दरवारा। क्या बोले रे जोगी , तेरी वीणा का इकतारा। झूठे रिस्ते झूठे नाते, झूठ का ये बाजारा, जैसे आए वैसे जाए, छूटे सब संसारा, चलती फिरती इस मंडी में, बसे नहीं घरबारा, फिर क्यों… जाने कितनी बार बनी होगी बिगड़ी होगी बस्ती, मिट्टी में है आखिर मिलती सबकी एक दिन हस्ती, आनी जानी दुनिया है ए, चार दिनों का मेला, ज्ञानी है वह हंस हंस करके, सुख-दुख इसके झेला, प्यार से रहना और बनाए रखना भाईचारा। क्या बोली रे जोगी तेरा इकतारा। आंख खुली तो जागा जोग

क्यों खोली शराब की दूकान

चित्र

सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं

चित्र