संदेश

सितंबर 6, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए 53 कौशल प्रशिक्षकों को पुरस्‍कृत किया गया

चित्र
नयी दिल्ली - कौशलाचार्य पुरस्‍कार प्रत्‍येक वर्ष आयोजित किया जाएगा। इससे कौशल प्रशिक्षकों के योगदान को पहचान मिलेगी। अनुमान है कि 2022 तक भारत में 2.5 लाख प्रशिक्षकों की आवश्‍यकता होगी। मंत्रालय ने ऐसे कार्यक्रमों की शुरुआत की है जिससे राष्‍ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्‍थान की अवसंरचना और क्षमता का प्रभावी उपयोग होगा। प्रशिक्षकों को और भी बेहतर बनाने के लिए एनआईएमआई, एनएसटीआई, केंद्रीय कर्मचारी प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्‍थान (सीएसटीआरआई) जैसे संगठन साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। एनएसटीआई, आईटीआई, जेएसएस तथा अन्‍य प्रतिष्ठित संस्‍थानों के प्रशिक्षकों तथा विश्‍व कौशल प्रतियोगिता के विजेताओं समेत 53 प्रशिक्षकों को उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए सम्‍मानित किया गया। इस अवसर पर मंत्रालय ने अगस्‍त 22-27 तक कजान, रूस में आयोजित वर्ल्‍ड स्किल प्रतियोगिता 2019 के दौरान पदक जीतने वाले 19 प्रतिभागियों को भी सम्‍मानित किया गया। इस प्रतियोगिता में भारत ने एक स्‍वर्ण, एक रजत और दो कांस्‍य पदकों सहित 15 उत्‍कृष्‍ट पदक जीते थे। 63 देशों में भारत को 13वां स्‍थान मिला। सामान्‍य प्रशिक्षण निदेशालय (डीजीटी) के प्रश

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत राज्‍यों और जिलों को सम्‍मानित किया जाएगा

चित्र
नयी दिल्ली - बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत 22 जनवरी, 2015 में हुई थी। अब यह 640 जिलों में लागू हैं और इन सभी जिलों को मीडिया अभियान में शामिल किया गया है। इन जिलों में से 405 बहुक्षेत्रीय कार्यक्रम के अंतर्गत शामिल है जिसमें बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के लिए डीएम/डीसी को सीधे केन्द्र प्रायोजित योजना के तहत 100 प्रतिशत सहायता दी जाती है। केन्‍द्रीय महिला और बाल विकास तथा वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी उन जिलों और राज्यों को सम्मानित करेंगी जिन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) को सफलतापूर्वक लागू किया है। सम्मान और पुरस्कार समारोह आज नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर राज्य मंत्री देबाश्री चौधरी सम्मानित अतिथि होंगी। कार्यक्रम का उद्देश्य उन राज्यों और जिलों को सम्मानित करना है जो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों की स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) के अनुसार जन्म के समय लिंग अनुपात सुधारने में कामयाब हुए हैं और जिन्होंने जागरूकता पैदा करने और आगे बढ़ने में उत्‍कृष्‍ट कार्य किया है। इस अवसर पर केन्‍द्रीय महिला और बाल विकास मंत्री 5 राज्‍यों के प्रधा

राष्‍ट्रपति ने 46 शिक्षकों को उनके असाधारण योगदान के लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्रदान किए

चित्र
नयी दिल्ली - राष्‍ट्रपति ने शिक्षकों से ज्ञान और विवेक से सम्‍पन्‍न नई पीढ़ी तैयार करने का आग्रह किया ताकि नई पीढ़ी सभी समकालीन चुनौतियों का सफल समाधान कर सके। राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने एक समारोह में देश के 46 शिक्षकों को उनके असाधरण योगदान के लिए पुरस्‍कार प्रदान किए। इस अवसर पर मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक'और मानव संसाधन विकास राज्‍य मंत्री धोत्रे संजय शामराव भी उपस्थित थे। इस अवसर पर राष्‍ट्रपति ने कहा कि चरित्र निर्माण की आधारशिला स्‍कूलों में रखी जाती है। शिक्षा का मुख्‍य उद्देश्‍य विद्यार्थियों को अच्‍छा इंसान बनाना है। उन्‍होंने कहा कि शिक्षक यह कार्य विद्यार्थियों में ईमानदारी और अनुशासन का महत्व बताकर करते हैं। इन मूल्‍यों वाला बेहतर इंसान प्रत्‍येक क्षेत्र में अच्‍छा साबित होगा। शिक्षक विद्यार्थियों को अच्‍छा इंसान बनाकर राष्‍ट्र निर्माण प्रक्रिया में योगदान करते हैं।       राष्‍ट्रपति ने कहा कि आज विश्‍व सूचना के युग से ज्ञान के युग में बढ़ रहा है, लेकिन केवल ज्ञान से ही मानव सभ्‍यता की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं होगी। ज्ञान के साथ-साथ विवेक आवश्

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने निगम शिक्षक पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया

चित्र
नयी दिल्ली - सत्य साईं सभागार,लोदी रोड में दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने निगम शिक्षक पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया इसमें चारों क्षेत्र पश्चिमी, नजफगढ़, मध्य व दक्षिणी के उत्कृष्ट मुख्य अध्यापकों / अध्यापकों व विशेष अध्यापकों को  महापौर सुनीता कांगडा, मेम्बर ऑफ़ पार्लियामेन्ट मीनाक्षी लेखी, शिक्षा विभाग के विभिन्न अधिकारी व शिक्षा सीमिति की अध्यक्ष नन्दिनी शर्मा व शिक्षा विभाग के डायरेक्टर शिरीष शर्मा द्वारा सम्मानित किया गया । इस अवसर पर लेखिका और अध्यापिका सुषमा भंडारी द्वारा लिखित एक बाल पुस्तिका " नई कहानी" का विमोचन भी किया गया तथा अध्यापकों द्वारा ही सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किये गये।  पश्चिमी क्षेत्र के डी डी ई रिषिपाल राणा के दिशा निर्देशों का लाभ लेते हुये पश्चिमी क्षेत्र के खेल अध्यापक यशपाल चौहान, नर्सरी अध्यापिका उषा खन्ना, व पांच प्राइमरी अध्यापिकओं को सम्मानित किया गया।