संदेश

जनवरी 8, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

50% से अधिक भारतीय छात्र समान सोच वाले साथियों से जुड़ने और सीखने के लिए ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म पर आते हैं

चित्र
‘ द पावर ऑफ पीयर ’ शीर्षक से यह सर्वेक्षण 1700+ छात्रों के बीच कराया गया और उन्होंने अपने साथियों और ऑनलाइन शिक्षण प्लेटफार्मों को लेकर अपनी धारणा को लेकर  महत्वपूर्ण जानकारियां दी। 20 मिलियन भारतीय यूजर-बेस के साथ ब्रेनली ने सबसे प्रभावी ऑनलाइन चैनल में से एक होने में अपनी श्रेष्ठता साबित की है, जिसका फोकस अकादमिक संदेह दूर करने और गहन समझ विकसित करने पर है। यह छात्रों को साथियों, माता-पिता, शिक्षकों और विशेषज्ञों का व्यापक नेटवर्क प्रदान करते हुए एक लचीला और व्यापक लर्निंग अनुभव प्रदान करता है। इस तरह भारतीय शिक्षा परिदृश्य में सबसे पसंदीदा ऑनलाइन पोर्टल में से एक बन गया है। इस सर्वेक्षण के निष्कर्ष यह दोहराते हैं कि कैसे ब्रेनली जैसे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म भारत में लगातार ध्यान खींच रहे हैं, छात्रों को दुनिया भर के साथी लर्नर्स और विशेषज्ञों से जोड़ रहे हैं। ऑनलाइन लर्निंग अब वैश्विक स्तर पर सीखने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक माना जाने लगा है। फिर भी इसके वास्तविक लाभों पर बहुत कम शोध अब तक हुए हैं। इस मुद्दे को संबोधित करने के लिए छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए दुनि

पियरसन इंडिया नये फॉर्मेट की 10वीं बोर्ड परीक्षाओं की प्रभावी तैयारी करने में स्‍टूडेंट्स की मदद करेगी

चित्र
नई दिल्ली : परीक्षा की तैयारी को अधिक प्रभावी बनाने के अपने प्रयास में विश्व की अग्रणी डिजिटल लर्निंग कंपनी, पियरसन ने आज विज्ञान और गणित के लिये सीबीएसई एक्सपर्ट 2020 सीरीज क्वेश्चन बैंक्स का अनावरण किया है। यह क्वेश्चर बैंक्स फटाफट रिवीजन करने के लिये एक प्रभावी टूल हैं, दसवीं बोर्ड के लिये परीक्षा प्रारूप में सीबीएसई द्वारा हाल ही में किये गये बदलावों के अनुसार हैं और परीक्षा के नये फॉर्मेट के लिये तैयारी करने में विद्यार्थियों की मदद करेंगे। सीबीएसई ने हाल ही में वर्ष 2023 तक के लिये 10वीं और 12वीं में प्रश्नपत्रों के पैटर्न में बड़े बदलाव किये थे, ताकि विद्यार्थियों में रचनात्मक, तार्किक और विश्लेषणात्मक चिंतन को बढ़ावा मिले। वर्ष 2020 की 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 20 प्रतिशत वस्तुनिष्ठ प्रश्न और 10 प्रतिशत प्रश्न रचनात्मक चिंतन पर आधारित होंगे। गणित और विज्ञान के लिये पियरसन सीबीएसई एक्सपर्ट सीरीज क्वेश्चन बैंक्स की संलग्नता एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम से है और यह सीबीएसई जैसे प्रश्नों, पिछले सालों के प्रश्नों और स्व-मूल्यांकन के लिये योजनाबद्ध समाधान वाले एनसीईआरटी के उदाहरणों के सा

बजाज फाइनेंस ने इंडस्ट्री में सबसे पहले सिस्टमेटिक डिपॉजिट प्लान लॉन्च किया

चित्र
बजाज फिनसर्व की ऋण देने वाली और निवेश करने वाली शाखा बजाज फाइनेंस लिमिटेड ने छोटी मासिक बचत के जरिए फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश के अवसर तलाश करने वालों के लिए एक मासिक बचत योजना- सिस्टमेटिक डिपॉजिट प्लान शुरू की है। महज 5000 रुपए प्रति माह से शुरू करके निवेशक हर मासिक जमा की तिथि पर प्रचलित ब्याज दरों का लाभ उठा सकेंगे, जो उस विशेष जमा राशि पर लागू होते हैं। 6 से 48 तक की मासिक जमा संख्याओं की रेंज में निवेशक 12 से 60 महीने तक के कार्यकाल चुन सकते हैं। प्रत्येक मासिक जमा के लिए कार्यकाल की समाप्ति पर निवेश राशि और अर्जित ब्याज को मिलाकर बनने वाली परिपक्वता राशि निवेशकों के संबंधित खातों में जमा कर दी जाएगी। बजाज फाइनेंस लिमिटेड के चीफ बिजनेस ऑफिसर-रिटेल एंड कॉरपोरेट लायबिलिटीज,सचिन सिक्का ने इस लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए कहा: "सिस्टमैटिक डिपॉजिट प्लान अपनी तरह की पहली ऐसी बचत योजना है, जो न सिर्फ धनी और संपन्न लोगों की जरूरतों को पूरा करेगी, बल्कि बचत करने वाले आम लोगों के समूह तक भी पहुंचेगी।” यहां बताया गया है कि सिस्टमेटिक डिपॉजिट प्लान को कौन-कौन-सी बातें निवेश का एक असाधारण

मीडिया के लिए ख़ास शो होगा ऑस्कर विजेता फिल्म "स्पॉसटलाइट"

चित्र
जयपुर । पांच दिवसीय जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में 69 देशों से आई 240 फिल्मों का सिलसिलेवार प्रदर्शन होगा। वहीं, फेस्टिवल में कुछ नॉन कॉमर्शिल शो रखे गए हैं, जो जिफ 2020 को और ख़ास बनाते हैं। जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ट्रस्ट और आर्यन रोज़ फाउण्डेशन की ओर से आयोजित जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल [ जिफ] का आगाज़ इस वर्ष 17 से 21 जनवरी को आयनॉक्स सिनेमा हॉल, जी.टी. सेन्ट्रल में होने जा रहा है। हिन्दू – मुस्लिम एकता का संदेश देती है वी. शांताराम की सोशल ड्रामा फिल्म  पड़ौसी फेस्टिवल में फिल्मप्रेमियों के लिए कुछ स्पेशल शोज़ रखे गए हैं। इनमें वी. शांताराम की साम्प्रदायिक एकता पर आधारित फिल्म  पड़ौसी  का प्रदर्शन ख़ास होगा।  वी. शांताराम के फैन्स के लिए यह फिल्म 20 जनवरी को शाम 6 बजे आइनॉक्स  [ जी. टी. सेन्ट्रल ]   के स्क्रीन 1, ऑडी 1 में दिखाई जाएगी। वी शांताराम की बहुचर्चित फिल्म  पड़ौसी  [1941] सामाजिक मुद्दों को छूती हुई फिल्म है। इस सोशल ड्रामा फिल्म को ख़ास और आज के वक्त में प्रासंगिक बनाता है इसका विषय, जो हिन्दू – मुस्लिम एकता की बात करता है। मुस्लिम लीग के बनने पर देश म

राष्ट्र निर्माण पार्टी ने केजरीवाल सरकार की खोली पोल

चित्र

अब आईपीएस ऑफिसर और जज भी राजनीति में 

चित्र
नयी दिल्ली - पिछले कुछ महीनों में दिल्ली में कई ऐसी घटनाएं हुईं जिसमें आम लोग प्रभावित हुए, आगजनी की तीन भीषण दुर्घटनाएं हो चुकी हैं जिसमें 52 से ज्यादा लोग ज़िंदा जल गए और उससे अधिक लोग घायल हुए और करोड़ो की सम्पति का नुकसान हुआ वो अलग, इन दुर्घटनाओं में मरने वाले गरीब प्रवासी लोग थे।  दिल्ली में बिना लाइसेंस के फ़ैक्ट्री चलती है जहाँ इन मजदूरों का न तो कोई बीमा होता है न कोई मेडिकल फिर भी हज़ारो ऐसी फ़ैक्ट्री, होटल और मार्किट चल रही हैं जहाँ पर फायरब्रिगेड की गाड़ियां तक नहीं पहुँच पाती, इस अराजकता के लिए कोई सरकार, कोई विभाग जिम्मेदारी नहीं लेता, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कला केंद्र में पत्रकारों से बात करते हुए राष्ट्र निर्माण पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व गृह मंत्रालय के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर डॉ. आनंद कुमार का, उन्होंने बताया कि इस प्रकार की अव्यवस्था केवल एक क्षेत्र में ही नहीं है अपितु पूरी दिल्ली में है यहीं नहीं दिल्ली में प्रदूषण की समस्या भयावह हो चुकी है, हवा - पानी जहरीला है, यमुना नदी, नाले, गलियां, गंदगी से भरपूर हैं, आज दिल्ली की हालत नरक से भी बदतर हो चुकी है और इसके लिए आ

भारत में ई-कॉमर्स इंडस्ट्री की बड़ी कंपनियां आवश्यक वस्तुओं की तुरंत खरीददारी के लिए

चित्र
इस साल 2020 में भारत में ई-कॉमर्स का भविष्य सबसे अधिक चर्चित विषयों में से एक है क्योंकि अधिक से अधिक भारतीय अपनी खरीदारी की जरूरतें पूरी करने के लिए ऑनलाइन जा रहे हैं। ई-कॉमर्स ने पिछले दशकों में भारी लोकप्रियता हासिल की है और बड़े पैमाने पर पारंपरिक स्टोर की जगह ले ली है। लोगों के पास बाहर जाने और आवश्यक वस्तुओं को तुरंत खरीदने के लिए समय नहीं है और यही कारण है कि लोग समय और सुविधा के कारण बहुत सारी चीजें मुख्य रूप से ऑनलाइन खरीद रहे हैं। यहां भारत के ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में अगले बड़ी कंपनियों की सूची दी गई है डिजिटल मॉल ऑफ एशिया - डिजिटल मार्केट में हो रहे बदलावों और रिटेल की दुनिया में एक बड़ा आविष्कार है- डिजिटल मॉल ऑफ एशिया (डीएमए)। यह रियल एस्टेट और डिजिटल क्षेत्र को मर्ज करने वाला अपनी तरह का पहला डिजिटल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है। डीएमए एक अनूठी अवधारणा है जो ग्राहक को ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीदारी का सबसे अच्छा अनुभव देती है। डीएमए केवल ऑनलाइन खरीदारी के लिए बना एक विशिष्ट ई-कॉमर्स पोर्टल नहीं है बल्कि इसमें डिजिटल रिटेल शॉप्स, ट्रायल रूम, हाइपरमार्केट, इलेक्ट्रॉनिक्स, शिक्षा, वित्त