संदेश

जून 7, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

धार्मिक स्थलों के लिए जारी की गाइड लाइन,नमाज़ियों से विशेष अपील

चित्र
नयी दिल्ली - इंडियन मुस्लिमस फॉर प्रोग्रेस एंड रिफॉर्म्स ने धार्मिक स्थलों मस्जिदों और नमाजियों के लिए गाइडलाइन जारी की है। IMPAR ने गाइड लाइन जारी करते वक्त मस्जिद के रखरखाव करने वालों और नमाजियों से अपील की है कि वह इन नियमों का विशेषकर पालन करें ताकि करोना के प्रकोप के फैलाव से लोगों को बचाया जा सके। इम्पार की ओर से यह भी कहा गया है कि अगर कोई भी संदिग्ध व्यक्ति मस्जिद परिसर में पाया जाए तो उसको चिन्हित करके लोगों से अलग थलग करें और उस वक्त तक उसको फेस मास्क या अन्य चीजें दें जब तक की उसको स्वास्थ्य केंद्रों तक न पहुंचा दिया जाए और किसी भी संदिग्ध व्यक्ति की सूचना तुरंत अस्पतालों को दी जाए। इम्पार ने 23 बिंदुओं पर आधारित एक बयान मीडिया को जारी किया है जिस में मस्जिदों के लिए गाइड लाइन की बात कही गयी है और साथ ही नमाज़ियों के लिए एक्सट्रा गाइड लाइन की बात कही गयी है। इम्पार की ओर से कहा गया है कि उम्मीद यही है कि लोग इस का पूरी ईमानदारी से पालन करेंगे।     IMPAR (इंडियन मुस्लिम्स फॉर प्रोग्रेस एंड रिफॉर्म्स)ने धार्मिक स्थलों / इबादत गाहों में COVID 19 के प्रकोप/ फैलाव को रोकने के

‘खुशी’- ए हेल्पिंग हैंड द्वारा ‘आमार बंगला आबर सोबुज होक’अभियान के तहत एक लाख पौधे लगाने का लक्ष्य

चित्र
कोलकाता . महानगर कोलकाता की एक गैर-लाभकारी स्वैच्छिक संस्था ‘खुशी’ - ए हेल्पिंग हैंड संस्था द्वारा सामुदायिक वृक्षारोपन की पहल – ‘आमार बंगला आबार सोबुज होक’ (हमारा बंगाल फिर से हरा-भरा हो) अभियान को पर्यावरण दिवस के मौके पर हरी झंडी दिखाई गई। इस योजना के तहत पूरे बंगाल के विभिन्न कोने में अगले छह महीनों एक लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें कोलकाता व इसके आस-पास के जिलों में पांच जगहों पर वृक्षारोपण की शुरूआत की गयी। अगले छह महीनों में इस अभियान के तहत विभिन्न संस्था के स्वयंसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, स्कूली छात्रों, शिक्षकों, अभिभावकों, प्रख्यात नागरिकों और सामुदायिक समूहों को साथ लेकर इस लक्ष्य को पूरा करने की शुरुआत की गयी है। शुक्रवार को विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर संस्था द्वारा एक हजार से अधिक पौधे वितरित किए गए। कोलकाता के अलावा शांतिनिकेतन, सोनारपुर और अन्य स्थानों में ‘खुशी- ए हेल्पिंग हैंड’ की तरफ से कई स्थानों पर पेड़ पौधे लगाए गए। पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण चारो तरफ काफी हरियाली को क्षति पहुंची है। इस तूफान ने सिर्फ पश्चिम बंगाल ही नहीं ओ

जियो प्लेटफॉर्म्स पर 45 दिन में 92,202 करोड़ का हुआ निवेश

चित्र
नई दिल्ली : कोरोना वायरस के बीच मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स ने धमाल मचा रखा है। पिछले 45 दिनों में 7 चरणों में जियो प्लेटफॉर्म्स 19.90% इक्विटी के लिए कुल 92,202.15 करोड़ रु का निवेश हो चुका है। यह निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक और केकेआर ने निवेश किया। शुक्रवार को पहले यूएई की मुबाडला और फिर कुछ घंटों बाद अमेरीका की सिल्वर लेक ने अतिरिक्त निवेश किया। दोनों ने मिलकर जियो प्लेटफॉर्म्स में 24 घंटों के भीतर 13640.40 करोड़ का निवेश कर डाला। अमेरीका की सिल्वर लेक और सहयोगी पार्टनर्स ने मिलकर 0.93% इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 4,546.80 करोड़ रु के निवेश की घोषणा की है। यह सिल्वर लेक का जियो प्लेटफॉर्म्स में दूसरा इंवेस्टमेंट है। इससे पहले भी सिल्वर लेक पार्टनर्स ने 4 मई को जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.15% इक्विटी के लिए 5,655.75 करोड़ का इंवेस्टमेंट किया था। सिल्वर लेक का कुल इंवेस्टमेंट बढ़कर अब 2.08% इक्विटी के लिए 10,202.55 करोड़ रु हो गया है। इससे कुछ घंटे पहले आबूधाबी की मुबाडला ने जियो में 1.85% इक्विटी के लिए जिय

भाजपा की डिज़िटल "बिहार जनसंवाद रैली" ऐतिहासिक होगी

चित्र
बिहार ,मशरक :  7 जून को संध्या 4 बजे से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरे कार्यकाल के 1 साल पूरे होने पर  भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय  अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की "बिहार जनसंवाद रैली" न केवल ऐतिहासिक होने वाली है , बल्कि उनकी यह डिजिटल रैली सफलता की कई नई कीर्तिमान स्थापित करने वाली है।  भाजपा नेता उपेंद्र कुमार सिंह के आवास पर भाजपा के मशरक दक्षिणी मंडल के पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए गंगा समग्र अभियान के प्रदेश संयोजक अजय यादव ने कहा। बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक श्री तारकेश्वर सिंह ने कहा की रैली को लेकर पूरे बिहार के भाजपा कार्यकर्ताओं में बड़ा उत्साह है, यह इसी से चलता है की पहले यह आयोजन 22 जिलों में होने वाला था। लेकिन लोगो की मांग पर अब यह पूरे प्रदेश में होने वाला है। इस रैली के प्रति लोगो में उमंग एवं उत्साह देखकर हमे पूर्ण विश्वास है की इस कार्यक्रम में दर्शकों की संख्या 2 लाख से अधिक होगी। बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा मशरक दक्षिणी मंडल के अध्यक्ष जमादार यादव ने कहा की प्रखंड के सभी शक्ति केंद्र पर केंद्री

बदलाव की बयार "समाज की विकृतियों से जूझती लघु कथाएं"

चित्र
समीक्षक / साहित्यकार  सुरेखा शर्मा पुस्तक- बदलाव की बयार ( लघुकथा संग्रह ) लेखिका- सविता इन्द्र गुप्ता , प्रकाशन-साहित्य संस्थान मूल्य -300/₹,पृष्ठ -120. प्रथम संस्करण -2019 " जहाँ तक निगाह जाती है,न कोई जीवन है न कोई चिह्न ।गर्म रेत ही रेत,बारिश और हवाओं का चमत्कार ही तो था कि रेत में विचित्र कंपन हुआ और शक्तिमान अवतरित हुआ  एक आदमी के रूप में ।फिजाएं महक उठी जब एक परी ने भी जन्म लिया ।एक रात खूब आंधी तुफान,पानी बरसा,तो उगा एक पेड़ जिस पर लगा था एक सेब।जाने अनजाने में इस सेब को खाते ही सृजन की घंटियां ध्वनित होने लगी। चहुं  ओर प्रकृति की  छटा अंगड़ाई लेने लगी कण-कण  जीवंत हो उठा।लेकिन एक दिन शक्तिमान ने परी को भूला दिया "--- ये पंक्तियाँ  हैं लघुकथा संग्रह "बदलाव की बयार" की लघुकथा 'दूसरी औरत' से। जब शक्तिमान का परी से मन भर गया तो छोड़ने से पूर्व  परी ने पूछा कि, ' मेरा कसूर तो बताओ क्या है ?' तो पुरुष प्रवृति सामने आती है -- " एक हो तो बतााऊं, तुम बदसूरत हो, झगड़ालू हो, गंवार हो।" परी  जोर से चिल्लाई, बस चुप करो।" यह किसी प्रक

मीडिया नेक्स्ट इवेंट : राजस्थानी पारंपरिक लोक गीत और नत्य कलाकारों द्वारा ऑन लाइन प्रस्तुति

चित्र
जोधपुर . एक बार फिर राजस्थान के कलाकारों ने अपने लोक गीत और नत्य, "मरु मणि" सोशल मीडिया कैम्पेन के माध्यम से ज़ूम वेबिनार पर मीडिया नेक्स्ट इवेंट के लिए ऑन लाइन लाईव प्रस्तुति दी।  लोक संवाद संस्थान और रुपायन संस्थान (राजस्थानी लोक साहित्य संस्थान) ने साथ जुड़ कर  COVID-19 को ध्यान मे रखते हुए 14 कलाकारों की ज़ूम वेबिनार के माध्यम से ऑन लाइन प्रथम राष्ट्रीय प्रस्तुति करवाई । कोलकाता के मीडिया संचार और फेशन स्कूल,एडएमेस यूनिवर्सिटी ने विख्यात मिडिया संस्थानों के साथ जुड़ कर 10 दिन का मीडिया नेक्स्ट इवेंट का आयोजन किया है। यह सांस्कृतिक कार्यक्रम यूटूब और फेसबुक पर भी लाइव किया गया जिसमे कोमल कोठारी स्कूल के बच्चो ने गीत गायन किया, सकूर खान लंगा ने अल्गोजा और मुरचंग पर अपनी प्रस्तुति दी और कुसुम  कछावाह् ने हयात मो.के साथ नत्य प्रस्तुति दी वही सैफ खान लंगा, सदम खान लंगा और पूरे समूह ने इस कार्यक्रम का समा बांधे रखा।  इस कैम्पेन का उदेश्य डिजिटल चैनल के माध्यम से इन कलाकारों  के लिए सहायता और जगरूको फेलना है, ताकि क्राउड फंडिंग के माध्यम से इन कलाकारों की सहायता की जा सके। 

ऑन लाइन महिला लघुकथा गोष्ठी

चित्र
मुंबई -"वैश्विक महामारी के संकट काल में जब हम एक दूसरे से मिल नहीं सकते ऑनलाइन गोष्ठियों में मिलना और एक दूसरे को सुनना बहुत आसान हो गया है । ये उद्गार थे कार्यक्रम की अध्यक्ष संतोष श्रीवास्तव के जो उन्होंने अंतरराष्ट्रीय विश्व मैत्री मंच की महाराष्ट्र इकाई द्वारा आयोजित ऑनलाइन महिला लघुकथा गोष्ठी में व्यक्त किए। यह कार्यक्रम "विश्व मैत्री मंच" की महाराष्ट्र इकाई की प्रांतीय अध्यक्ष लेखिका आभा दवे द्वारा आयोजित किया गया। जिसमे देश-विदेश के पच्चीस लघुकथाकारों ने भाग लिया। कार्यक्रम का सुंदर संचालन नम्रता सरन सोना ने किया और सरस्वती वंदना शिप्रा वर्मा द्वारा प्रस्तुत किया गया तथा आभार मृदुला मिश्र ने प्रकट किया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि रूपेंद्र राज तिवारी ने सभी की लघुकथाओं का बेहतरीन आकलन करते हुए अपनी बहुत ही मार्मिक लघुकथा सोशल डिस्टेंस का पाठ किया जिसमें कथा नायिका अम्मा की पीड़ा उभर कर आई। इस कार्यक्रम में सबसे पहले उषा सक्सेना ने अपनी लघुकथा फिर मिलेंगे का पाठ किया। उनकी रचना कलात्मक,बिंबात्मक ,सुंदर शैली में मार्मिक कथा प्रस्तुत की। इसी कर्म में शोभा रानी तिवारी