संदेश

मई 8, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

केरल के सुदूर मल्लापुरम में फंसे निज़ामाबाद,आजमगढ़ के मजदूरों को भेजने की अपील

चित्र
लखनऊ - रिहाई मंच ने केरल के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आजमगढ़ के निज़ामाबाद के छियासी मजदूर जो लॉक डाउन में मल्लापुरम में फसे हैं की घर वापसी सुनिश्चित करने की मांग की है. मंच ने कहा कि विभिन्न प्रदेशों में सुदूर क्षेत्रों में पूर्वांचल के मजदूर फसे हैं. केरल प्रशासन ने आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन रिहाई मंच को दिया है. कोरोनो महामारी से निपटने के प्रयासों के लिए धन्यवाद देते हुए रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने पत्र में बताया है कि निज़ामाबाद, आजमगढ़ के अजय यादव ने रिहाई मंच से संपर्क कर अवगत कराया कि वे और उनके 86 साथी केरल के जनपद मल्लापुरम के तिरुर में कांजराकोल में हैं। सभी टाइल्स मार्बल के काम में मजदूर हैं। इनके साथ तीन महिलाएं भी हैं। कोरोना महामारी की वजह से लंबे लाक डाउन की स्थिति में यह सभी अपने गृह जनपद आजमगढ़ आना चाहते हैं। इन सभी को जब मालूम चला कि घर वापसी के लिए तिरुर थाने में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया चल रही है तो वे वहां गए जहां उन्हें केरल पुलिस कोविड 19 माइग्रेंट लेबर आइडेंटी कार्ड जारी किया है। पूछने पर कि गाड़ी कब आएगी उनको कोई कन्फर्म सूचना नहीं मिली। कोरोना महामारी के दौर

15 मई को रिलीज होगा फिल्‍म ‘दिल में रहना है’ का म्‍यूजिक

चित्र
मुंबई - ताहिर कमाल खान की अपकमिंग फिल्‍म ‘दिल में रहना है’ का म्‍यूजिक इस महीने 15 मई को यूट्यूब पर रिलीज किया जायेगा। उससे पहले इस फिल्‍म का ट्रेलर भी रिलीज होने वाला है। हालांकि फिल्‍म के रिलीज के बारे में संशय बरकरार है, क्‍योंकि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से संपूर्ण देश में लॉक डाउन है। इसलिए अगले कई महीनों तक सिनेमाघरों के बंद रहने के आसार प्रबल हैं, लेकिन फिल्‍म के प्रोड्यूसर साजिद अफजल ने तब तक इस फिल्‍म के गाने को यूट्यूब पर जारी करने का फैसला किया है।   एस मन्‍नत फिल्‍म्‍स्‍ प्रस्‍तुत और आलम अकील अंसारी एज इकबाल फिल्‍म्स इंटरटेंमेंट की फिल्‍म ‘दिल में रहना है’ एक रोमांटिक फिल्‍म है, जिसकी एक झलक आज फिल्‍म के ट्रेलर में शाम में देखने को मिलेगा। इसको लेकर ताहिर कमाल खान काफी एक्‍साइटेड हैं। उनका कहना है कि फिल्‍म काफी शानदार होने वाली है। दुख इस बात का है कि फिल्‍म के रिलीज में वक्‍त लग जायेगा। क्‍योंकि अभी हमें सबसे पहले कोरोना संकट को देश से हराना है। लेकिन फिल्‍म की कुछ झलकियां आज से सोशल मीडिया में दर्शकों के सामने होगी।   ताहिर कमाल खान की इस फिल्‍म के को प्रोड्

हमारी कोशिश है कि भोजपुरी को स्‍वच्‍छ बनायें और अश्‍लीलता से दूर ले जायें-सिंगर ओम प्रकाश दीवाना

चित्र
मुंबई - भोजपुरी सिंगर ओम प्रकाश दीवाना का इन दिनों टिक टॉक, वीगो, लाईकी जैसे एप पर जलवा खूब देखने को मिल रहा है। इन एप्‍स पर ओम प्रकाश दीवाना के गाने पर लोग खूब सारे वीडियोज बना रहे हैं, जिसके लिए ओम प्रकाश दीवाना ने अपने फैंस का शुक्रिया अदा करते हुए आभार व्‍यक्‍त किया है। उन्‍होंने कहा कि यह मेरे लिए फख्र की बात है कि लोगों को मेरा गाना पसंद आ रहा है और वे अपने तरीके से इन गानों को टिक टॉक आदि के जरिये रिक्रियेट कर रहे हैं। इस प्‍यार और दुलार के लिए मैं सबों का आभार व्‍यक्‍त करता हूं।   टिक टॉक, वीगो, लाईकी जैसे एप पर सिंगर ओम प्रकाश दीवाना ‘मेरा हस्‍बैंड हाफ माइंड है’, ‘बनवा तनी खैनी’, ‘अंखिया के झुलवा’, ‘सासु जी के धियवा’, ‘दाबा राजा टूटे ला कमरिया’, ‘पेटवा छोडले बा घर’ जैसे गाने लोगों को खूब पसंद आ रहे हैं। ये गाने तीन चार महीने से लोगों के लिए पसंद बने हुए हैं। इसको लेकर ओम प्रकाश दीवाना ने कहा कि आप लोगों का प्‍यार हमेशा इसी तरह बना रहे है। हम इसके लिए आपके आभारी हैं। और आपको भरोसा दिलाते हैं कि आने वाले दिनों में हम आपके लिए और अच्‍छे गाने लेकर आयेंगे, जिसे आप परिवार के सा

एडवांस्ड मॉइस्चर-बूस्टिंग कॉम्प्लेक्स के साथ फेस मास्क को ताजगी और त्वचा को नमी देते हैं

चित्र
नई दिल्ली : प्रमुख डायरेक्ट-सेलिंग स्वीडिश ब्यूटी ब्रांड ऑरिफ्लेम प्रगतिशील विज्ञान का लाभ उठाकर ऐसे प्रोडक्ट्स बनाते हैं जो आपको सुंदर दिखने और महसूस करने में मदद करते हैं। भारत में फेस मास्क की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए ब्रांड ने अपने नोवएज फेस मास्क के 2 नए वैरिएंट्स लॉन्च किए हैं। नोवएज स्ट्रेंग्थनिंग फेस मास्क और नोवएज रीप्लेनिशिंग फेस मास्क में एंटी-ऑक्सिडेंट प्लांट स्टेम सेल के एक्स्ट्रेक्ट होते हैं जो फ्री रेडिकल्स से निपटते हैं और ऑक्सीडेटिव डैमेज से त्वचा की रक्षा करते हैं। एडवांस्ड मॉइस्चर-बूस्टिंग कॉम्प्लेक्स के साथ फेस मास्क गहराई से त्वचा को कंडीशन करते हैं जिससे त्वचा अधिक जवां और चमकदार दिखती है। स्ट्रेग्थनिंग फेस मास्क त्वचा के लोच और लचीलेपन को बहाल करने में मदद करता है, जबकि रीप्लेनिशिंग फेस मास्क तेजी से हाइड्रेट करता है, त्वचा को चमकदार और फिर से जवां बनाने में मदद करता है। दोनों फेस मास्क त्वचा को पहले जैसा बनाते हैं जबकि त्वचा के प्रोटेक्टिंग बैरियर को समर्थन देकर क्षति रोकते हैं। नए लॉन्च पर ऑरिफ्लेम में सीनियर डायरेक्टर रीजनल मार्केटिंग साउथ एशिया नवीन

‘‘थैलीसीमिया की रोकथाम व इलाज के लिए एक प्रभावशाली,देशव्यापी कार्यक्रम समय की ज़रूरत है’’

चित्र
थैलीसीमिया एक अनुवांशिक विकृति है, जिसमें शरीर कम मात्रा में खून का उत्पादन करता है। भारत के वर्तमान संदर्भ में हर साल थैलीसीमिया के 10,000 नए मामले सामने आते हैं। जो माता पिता आम तौर पर लक्षण विहीन होते हैं, वो इस बीमारी के कैरियर बनते हैं और उनसे बच्चों में ये बीमारी जाने की संभावना 25 फीसदी होती है। बैंगलोर । विश्व थैलीसीमिया दिवस हर साल 8 मई को मनाया जाता है। इस दिन थैलीसीमिया की बीमारी की ओर ध्यान आकर्षित किया जाता है, जिसमें हीमोग्लोबीन असामान्य रूप से बनने लगता है। थैलीसीमिया के मरीज के लिए सबसे महत्वपूर्ण इलाज ब्लड स्टेम सेल ट्रांसप्लांट है। इसलिए इस विश्व थैलीसीमिया दिवस पर डीकेएमएस बीएमएसटी फाउंडेशन इंडिया भारत के नागरिकों से आग्रह कर रहा है कि वो ब्लड स्टेम सेल डोनर के रूप में रजिस्ट्रेशन कराएं एवं किसी के जीवनरक्षक बनें। डॉक्टर सुनील भट्ट, डायरेक्टर एवं क्लिनिकल लीड, पीडियाट्रिक हीमेटोलॉजी, ऑन्कोलॉजी एवं ब्लड एंड मैरो ट्रांसप्लांटेशन, नारायणा हैल्थ, बैंगलुरू ने कहा, ‘‘भारत में थैलीसीमिया के मामले देखते हुए इस बीमारी का भार बहुत ज्यादा है और इस पर तत्काल ध्यान दिए जाने क

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का हुआ तलाक़

चित्र

आंध्र प्रदेश के कैमिकल प्लांट में गैस लीक

चित्र

प्रवासी मजदूर दरवाज़ा तोड़ सड़कों पर आए

चित्र