संदेश

जनवरी 2, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

प्रधानमंत्री का "परीक्षा पे चर्चा" 20 जनवरी को होगा

चित्र
नयी दिल्ली - MyGov के साथ साझेदारी में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने स्कूली छात्रों के साथ "परीक्षा पे चर्चा 2020" के प्रधानमंत्री संवाद कार्यक्रम के लिए कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों के लिए एक 'लघु निबंध' प्रतियोगिता शुरू की थी। प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए दो दिसंबर, 2019 से 23 दिसंबर, 2019 तक www.mygov.in के माध्यम से आवेदन मांगे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 'परीक्षा पे चर्चा 2020' कार्यक्रम पोंगल, मकर संक्रांति, लोहड़ी, ओणम और अन्य त्योहारों के चलते अब 20 जनवरी, 2020 को सुबह 11 बजे आयोजित किया जाएगा। विद्यार्थियों के परीक्षा के तनाव को कम करने के मकसद से आयोजित किया जाने वाला यह कार्यक्रम पहले 16 जनवरी के लिए निर्धारित किया गया था। प्रधानमंत्री के बहुमूल्य सुझाव भी प्राप्त करने और इस अनूठे आयोजन में भाग लेने के लिए विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों में बहुत उत्साह देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री चाहते हैं कि विद्यार्थी एक शांत माहौल में परीक्षा दें और बेहतर परिणाम हासिल करने के लिए परीक्षा के समय तनाव न लें। जिन छात्रों की प्रविष्टियाँ उनके ऑनल

जनरल बिपिन रावत देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ नियुक्त

चित्र
नयी दिल्ली -जनरल रावत ने तीनों सेनाओं के बीच बेहतर समन्‍वय बनाने का वादा किया। उन्‍होंने कहा  “सीडीएस को तीनों सेनाओं के बीच बेहतर समन्‍वय बनाने, सशस्त्र बलों को आवंटित संसाधनों का सर्वोत्तम आर्थिक उपयोग सुनिश्चित करने और खरीद प्रक्रिया में एकरूपता लाने की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि सेना, नौसेना और वायु सेना एक टीम के रूप में काम करेगी और सीडीएस इन सब के बीच बेहतर समन्‍वय सुनिश्चित करेगा, ”। जनरल बिपिन रावत ने देश के पहले चीफ आफॅ डिफेंस स्‍टाफ (सीडीएस) के रूप में पदभार संभाला। चीफ ऑफ स्‍टाफ के तौर पर जनरल रावत तीनों सेनाओं के बारे में रक्षा मंत्री के मुख्‍य सैन्‍य सलाहकार होंगे। उनकी सेना को आंबटित बजट का युक्तिसंगत इस्‍तेमाल सुनिश्चित करने तथा संयुक्‍त नियोजन और एकीकरण के माध्‍यम से तीनों सेनाओं के लिए खरीद,प्रशिक्षण, और संचालन में बेहतर समन्‍वय बनाने में बड़ी भूमिका होगी। उन्‍हें तीनों सेनाओं के लिए रक्षा खरीद येाजना तैयार करते समय स्‍वेदशी हथियारों तथा रक्षा उपकरणों की खरीद को बढ़ावा देने के हर संभव प्रयास भी करने होंगे। इससे पहले जनरल रावत ने नय