संदेश

अगस्त 18, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

रितेश अग्रवाल वेंचर कैटालिस्ट्स के साथ भारत में शुरुआती स्तर के स्टार्टअप इकोसिस्टम से जुड़े

चित्र
नयी दिल्ली : भारत के बढ़ते स्टार्टअप इकोसिस्टम और युवा उद्यमियों का समर्थन करने के लिए रितेश अग्रवाल देश के टिअर 1, 2 और 3 शहरों में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए सलाहकार की भूमिका निभाएंगे और देश के सबसे बड़े इन्क्यूबेटर वेंचर कैटालिस्ट्स (वीकैट्स) के साथ मिलकर काम करेंगे। तेजी से बढ़ते हुए इकोसिस्टम, भारत को, जो दुनिया में सबसे बड़े और सबसे तेजी से बढ़ते हुए इकोसिस्टम में से एक है, ज़्यादा से ज़्यादा अनुभवी और सफ़ल लोगों की ज़रूरत है जो आगे आकर एक-दूसरे की मदद कर सकें और साथ मिलकर इकोसिस्टम को आगे बढ़ाते हुए देश को ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाएं। रितेश देश और अपने साथ उद्यमियों का समर्थन करने के लिए इस दिशा में काम कर रहे हैं, जिसमें उनके साथ डॉ. अपूर्व शर्मा भी हैं, जो उन शुरुआती लोगों में से हैं, जिन्होंने रितेश के विज़न का तब समर्थन किया था, जब उन्होंने 2012 में ओरावेल स्टेस शुरू किया था, और 2013 में ओयो स्थापित किया था। एक उद्यमी के रूप में, उड़ीसा के रायगडा के रहने वाले, रितेश ने कम उम्र में अपना सफ़र शुरू किया। 

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर ऑनलाइन काव्य गोष्ठी

चित्र
नयी दिल्ली - स्वाबलंबन ट्रस्ट साहित्यिक  प्रकोष्ठ  (स्वावलंबन" शब्द सार") के द्वारा भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी  वाजपेयी   की पुण्यतिथि के अवसर पर उनको श्रद्धांजली अर्पित करते हुए अखिल भारतीय स्तर पर ऑनलाइन का०य गोष्ठी का आयोजन किया गया , जिसमें देश के विभिन्न साहित्यकारों की सहभागिता रही |कार्यक्रम की अध्यक्षता मेघना श्रीवास्तव राष्ट्रीय अध्यक्षा द्वारा की गई।   कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सुरेखा शर्मा की उपस्थिति रही၊ कार्यक्रम का शुभारंभ दिल्ली प्रान्त की अध्यक्षा डाॅ ममता सोनी के द्वारा माँ शारदे का माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन के साथ  किया गया ၊  दिल्ली प्रांत संयोजिका  (स्वावलम्बन शब्द सार ) रचना निर्मल  द्वारा माँ सरस्वती की वंदना प्रस्तुत की गई एवम् कुशल मंच संचालन किया गया। आमंत्रित कलमकारों ने अपनी रचनाओं के द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री तथा सुप्रसिद्ध कवि अटल बिहारी वाजपेई को श्रद्धांजली अर्पित की। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय अध्यक्षा  मेघना श्रीवास्तव,राष्ट्रीय महामंत्री राघवेंद्र मिश्रा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीरेंद्र गौड़, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अतुल श्रीव

आज़मगढ़ में दलित प्रधान की हत्या का संज्ञान लेते हुए रिहाई मंच ने बांसगांव का दौरा किया

चित्र
आज़मगढ़ /  स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आज़मगढ़ में दलित प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू प्रधान की हत्या का संज्ञान लेते हुए रिहाई मंच ने तरवां थाना अंतर्गत बांसगांव का दौरा किया. मृतक प्रधान और 12 वर्षीय सूरज कुमार के परिजनों से मुलाकात की. ग्राम प्रधान के परिजनों ने जातिगत कारणों से लगाया हत्या का आरोप. मृतक प्रधान की पत्नी विलाप करते हुए कहती हैं कि मेरे पति ही मेरे और मेरे तीन बच्चों का सहारा थे. वह भी हत्यारों ने छीन लिया. ये कैसी सरकार है जहां जनता का प्रतिनिधि ही सुरक्षित नहीं है. उसे दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी जा रही है. पति की मौत के सदमे में पत्नी विलाप करते हुए न्याय की भीख मांगते हुए कहती है कि जैसे मेरे पति की हत्या हुई है सरकार उसी तरह से दोषियों को फांसी दे. क्या योगी सरकार के दिए हुए पांच लाख से मेरे पति वापस आ जाएंगे, मेरे बच्चों के सर पर बाप का साया वापस आ जायेगा, मुझे न्याय चाहिए. प्रधान की पत्नी कहती हैं कि अगर सरकार उन हत्यारों को सजा नहीं देती है तो सरकार भी उतनी ही दोषी होगी जितने कि वह हत्यारे हैं. मृतक प्रधान की भतीजी रो-रो कर कहती हैं कि यह कैसी आजा