संदेश

जनवरी 9, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

पूर्वोत्तर के 8 राज्य गुजरात के माधवपुर मेले में हिस्सा लेंगे

चित्र
इस वर्ष अप्रैल के पहले सप्ताह में गुजरात में आयोजित होने वाले माधवपुर मेले में पूर्वोत्तर के 8 राज्य भाग लेंगे। पोरबंदर जिले के माधवपुर घेड में यह वार्षिक मेला आयोजित किया जाता है और इस वर्ष यह रामनवमी उत्सव के एक दिन बाद 2 अप्रैल से शुरू होगा। माधवपुर मेले का संबंध अरुणाचल प्रदेश के मिशमी जनजाति से है। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार भगवान श्रीकृष्‍ण का विवाह मिशमी जनजाति के राजा भिष्‍मक की पुत्री रूक्‍मणि के साथ हुआ था। यह मेला भगवान श्रीकृष्‍ण और रूक्‍मणि के विवाह के प्रतीके के रूप में मनाया जाता है। इसका वर्णन कलिका पुराण में पाया जाता है। सप्‍ताह भर चलने वाले इस आयोजन में पूर्वोत्‍तर और गुजरात की कला, संगीत,‍कविता और लोकनृत्‍यों की अनुपम छटा देखने को मिलेगी। पूर्वोत्‍तर क्षेत्र की कला,संस्‍कृति, हस्‍तशिल्‍प , व्‍यंजनों और अन्‍य उत्‍पादों को माधवपुर के अलावा अहमदाबाद सहित गुजरात के अन्‍य हिस्‍सों में भी प्रदर्शित किया जायेगा ।  पूर्वोत्‍तर तथा गुजरात के बीच सांस्‍कृतिक निकटता प्रदर्शित करने के लिए विशेष रूप से एक प्रतीक चिन्‍ह बनाया जायेगा और भारतीय सांस्‍कृतिक संबंध परिषद् ,क्षेत्

भारतीय राजनीति का बदलता स्वरूप

चित्र
विजय सिंह बिष्ट  भारत के लोगों में आजादी प्राप्ति की इतनी खुशी थी,कि इसको प्राप्त करने में  अंग्रेजी शासन द्वारा दी गई यातनाओं और अपनों की मौतों को भी भूल गए। पराधीनता के आज़ादी में बदलने का उत्सव पंद्रह अगस्त को हर्षोल्लास से मनाया गया। यह स्वतंत्रता दिवस था, जिसे आज भी बड़े उत्साह से मनाया जाता है। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि इसको पाना कितना कठिन था। गुलामी एक कैदी की तरह जेल की चारदीवारी में रहने जैसा है। किंतु जब वह आजाद होकर बाहर आता है तब यदि वह बेगुनाह था तो अपने को आजाद समझता है ,उसको अपनी शासन सत्ता चाहिए। उद्देश्यों की पूर्ति के विधान की आवश्यकता होती है। इसलिए भारतवासियों को पूर्ण स्वतंत्रता के रूप में गणतंत्र दिवस की प्राप्ति हुई। अपना संविधान अपने राज्य के रूप में।         विधानसभा और लोकसभा के चुनाव आरंभ हुए। वर्ष 1955/56ई0 में चुनावों का दौर आरम्भ हुआ। हमारे क्षेत्र से सर्व प्रथम राम प्रसाद नौटियाल, मेहरबान सिंह कंण्डारी कांग्रेस से विधायक हुए थे। उस समय उत्तर प्रदेश हमारा राज्य था।  भक्त दर्शन सिंह रावत केंद्र में शिक्षा मंत्री जगमोहन सिंह नेगी खाद्य मंत्री एव

रिलायंस जियो ने लॉन्च की वाई-फाई पर वॉयस और वीडियो कॉलिंग सुविधा 

चित्र
  बिना किसी अतिरिक्त लागत के वाई-फाई के माध्यम से क्रिस्टल क्लियर वॉयस और वीडियो कॉल करें, यह भारत में कहीं भी और किसी भी वाई-फाई पर काम करता है, 150 से अधिक हैंडसेट मॉडल पर काम करता है। Jio Wi-Fi कॉलिंग को अपने हैंडसेट में एक्टिवेट करने के लिए Jio.com/wificalling पर विजिट करें। जहां पर एक्टिवेशन गाइड उपलब्ध है। • Jio Wi-Fi कॉलिंग को 7 और 16 जनवरी, 2020 के बीच पूरे भारत में एक्टिवेट कर दिया जाएगा।   नई दिल्ली : अपने उपभोक्ताओं को बेहतरीन उत्पाद और अनुभव प्रदान करने के लिए , Jio ने आज वाई-फाई पर चलने वाली राष्ट्रव्यापी वॉयस और वीडियो कॉलिंग लॉन्च की। Jio पिछले कुछ महीनों से इस सेवा का परीक्षण कर रहा था , ताकि लॉन्च के समय हर ग्राहक को एक बेहतरीन अनुभव दिया जा सके। Jio Wi-Fi कॉलिंग के मुख्य बिंदु:  ग्राहक Jio Wi-Fi कॉलिंग के लिए किसी भी वाई-फाई नेटवर्क का उपयोग कर सकते हैं वॉयस और वीडियो कॉल निर्बाध रूप से VoLTE और वाई-फाई के बीच स्विच-ओवर कर सकेंगी। इससे कॉलिंग के अनुभवों में सुधार होगा।  Jio वाई-फाई कॉलिंग, हैंडसेट के ज्यादा बड़े इकोसिस्टम पर काम करेगा। Jio ग्राहक वाई-फा