संदेश

अगस्त 1, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

दक्षिण दिल्ली नगर निगम विद्यालय में अध्यापक खेल प्रशिक्षण धूमधाम से सम्पन्न

चित्र
नयी दिल्ली - एस डी एम सी पश्चिमी क्षेत्र नवादा दक्षिण दिल्ली नगर निगम विद्यालय में चल रहे पाक्षिक अध्यापक खेल प्रशिक्षण का बड़ी धूमधाम से समापन हुआ । यह प्रशिक्षण विद्यालय निरीक्षिका (शारीरिक ) श्रीमती अनीता देवी व भूपेन्द्र सिंह के दिशा-निर्देश में हुआ। इस प्रशिक्षण में  पश्चिमी क्षेत्र के भिन्न भिन्न स्कूलों के अध्यापक/ अध्यपिकाओं ने भाग लिया । प्रशिक्षण के दौरान सीखे गये क्रिया कलापों की झलकियां प्रस्तुत की गईं।  इन्ही क्रियाकलापों को विद्यालय में प्रशिक्षित अध्यापक/अध्यापिका बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये करवाते हैं।  समापन समारोह क्षेत्र के डी डी ई रिषिपाल राणा की अध्यक्षता में हुआ । इस अवसर पर क्षेत्र के सभी  विद्यालय निरीक्षक  मौजूद थे । क्षेत्र की निगम पार्षद आभा चौहान  व शिक्षा सीमिति के भूतपूर्व अध्यक्ष व वर्तमान में शिक्षा सीमिति के सदस्य यशपाल आर्य जी विशिष्ट अतिथि रहे। इस अभूतपूर्व कार्यक्रम का सफल संचालन विभाग  की गरिमा सुप्रीती चावला ने किया।

जीवन की पावन धरा से

चित्र
जीवन की पावन धरा से इस आलम को सजना है कहीं छा कहीं धूप छुप-छुपकर इसे सवारना है नफरत है इस मुल्क में कहीं मायूसी कहीं खामोशी इस जहां से मतभेद मिटाकर जीवन धारा से जुड़ना है  जो मुल्क नफरत की आग में सुलग रहा इससे उबर कर शांति का पाठ पढ़ाना है......  कश्मीर मुद्दा कहीं सियासत आलोचना  की तह में जो अवाम  तुल देते जरा अपने दामन में तो देख सियाचिन हो रहे हैं सब..... बदलती मासूमियत कहीं जुझारु पन में पल रही  जिंदगी..... जीवन की पावन धरा ...... 

पहली फिल्‍म से दर्शकों ने दिलाई मुझे इंडस्‍ट्री में पहचान : राज रंजीत

चित्र
अभिनय के बाद सिंगिंग में मिल रही सफलता के लिए मुजफ्फरपुर से आने वाले राज रंजीत ने भोजपुरी के दर्शकों का आभार जताया और कहा कि भोजपुरी के दर्शकों ने पहली ही फिल्‍म के बाद जो मुझे मुकाम दिया है, उसका मैं शुक्रगुजार हूं। लोगों ने मुझे पहली ही फिल्‍म के बाद सुपर स्‍टार बना दिया था। फिल्‍म का नाम पहली नजर को सलाम है, जिसका दूसरा पार्ट अब मशहूर गीतकार/संगीतकार विनय बिहारी के निर्देशन और प्रोडक्‍शन में बनने वाला है। वहीं, संतोष मिश्रा के साथ भी मेरी दो फिल्‍में 'रब ने बनाया तूझे मेरे लिए' और 'हैलो हम संतोष' आने वाली है। उससे पहले मैंने गायिकी के क्षेत्र में भी अपना हाथ आजमाया है, जो लोगों को पसंद आ रही है।   अपनी पहली ही फिल्‍म 'पहली नजर को सलाम' से भोजपुरी के दर्शकों के दिल में उतर जाने वाले अभिनेता व सिंगर राज रंजीत की चर्चा इन दिनों इंडस्‍ट्री में खूब है। वजह उनके वे चार गाने हैं, जो अभी हाल ही में रिलीज हुए हैं। खास कर 'आलिया भट्ट संग करा दी बियाह' और 'शिव तांडव नृत्‍य दिखाइ के' खूब वायरल हो रहा है। इन दोनों गानों को दर्शकों ने खूब सराया है। वही

पावन मंजू मातृभूमि से

चित्र
पावन मातृभूमि सब चाहे तुम्हें निर्मल मन से छवि अनूठी और अलौकिक यहां एकमत जान से..... सच्चे लोग  यहां सब तेरी देश का गुण गाते है शांति का मसाल जलाकर आपस में इतराते हैं तुमसा नहीं है अखिल विश्व में आई आवाज वतन से .... पावन मंजू मातृभूमि से मंदिर मस्जिद गिरजा घर गुरुद्वारा तेरा घर है एक दूजे का भाव अनूठा तेरे यहां  नहीं छोटा वर है.... हर दिल तेरा ज्ञान का सागर नहीं भेट कदन से  पवन मंजू मातृभूमि सब चाहे तू हे निर्मल मन से.... भक्त तेरे गागर का सागर और गुदरी का लाल है इ शिया दिवेश नहीं लेस मात्र भी कितना हिरदय विशाल है.      .... झरने झील पहाड़ों से तू सुंदर लगता नंदनवन से पावन मंजू मातृभूमि सब चाहे तुम्हें निर्मल मन से.....