गर्म हवा / लू से बचाव के लिए एहतियात बरतें

नयी दिल्ली - केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गर्म हवा/लू की स्थितियों के दौरान लोगों के सुरक्षित रहने के लिए स्वास्थ्य परामर्श जारी किया है। वर्तमान में, पूर्वी उत्‍तर प्रदेश, पश्चिम राजस्थान, विदर्भ,पश्चिम मध्य प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, पूर्वी राजस्थान,  पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश, और पूर्वी मध्य प्रदेश के भागों में लू की स्थिति बनी हुई है।


गर्म हवा/लू का अन्‍य क्षेत्रों सहित मानव स्‍वास्‍थ्‍य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने नागरिकों को निम्‍न कार्य करने या नहीं करने की सलाह दी है।


क्‍या करें:-



  • घरों के अन्‍दर और छायादार स्‍थानों पर रहें।

  • बाहर निकलने पर छाते/हैट/टोपी/तौलिए का इस्‍तेमाल करें।

  • पतले, ढीले व हल्‍के रंगों के सूती कपड़े पहनें।

  • बार-बार पानी और नमकीन पेय – लस्‍सी, शिकंजी, फलों का रस, ओआरएस (ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्‍यूशन) का सेवन करें। तरबूज, खीरा, नीबू, संतरा आदि जैसे फल खाएं।

  • बार-बार ठंडे पानी से नहाएं और कमरे का तापमान कम रखें :विंडो शेड/ पर्दे, पंखे, कूलर, एयर कंडीशनर, हवादार कमरे,पानी का छिड़काव करें, इनडोर पौधों का उपयोग करें।

  • अ‍स्‍वस्‍थ महसूस कर रहे लोगों- विशेषकर वृद्धों, छोटे बच्‍चों, गर्भवती महिलाओं, पहले से बीमार लोगों और खुले में काम करने वाले कामगारों को फौरन ठंडे स्‍थान पर ले जाना चाहिए, हल्‍के कपड़े पहनाने चाहिए, ठंडे पानी की पट्टियां रखनी चाहिए, कपड़े में बर्फ के टुकड़ों वाले आइस पैक का इस्‍तेमाल करना चाहिए और नजदीकी स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र ले जाना चाहिए।


क्‍या न करें :-



  • धूप में, विशेष रूप से दोपहर 12 बजे से अपराह्न 3 बजे के बीच बाहर जाना

  • दोपहर में बाहर जाने पर श्रमसाध्‍य गतिविधियां करना।

  • शराब, चाय, कॉफी और कार्बोनेटेड शीतल पेय पीना

  • बच्चों या पालतू जानवरों को खड़ी गाड़ी में छोड़ना।

  • गहरे रंग के, सिंथेटिक और चुस्त कपड़े पहनना।