अश्लील गाने समाज में ज़्यादा समय तक नहीं टिकते - ममता भाष्कर


बिहार / रोहतास सासाराम , भारतीय संस्कृति और लोक गायकी के क्षेत्र में काफी नाम और शोहरत हासिल करने वाली ममता भास्कर से हुई बातचीत के दौरान उन्होंने अपने गायन से जुडी अनेक बातें शेयर की।  वह अपने गायन से लोगों के दिलों पर राज करती हैं साथ ही साथ ही वह अनेक एल्बम में भक्ति गाने तथा फिल्म में भी अभिनय कर चुकी है.


नवोदित कलाकारों के लिए वह कहती हैं कि जो गायकी के क्षेत्र में अपना नाम शोहरत हासिल करना चाहता है वह आत्मविश्वास लगन से कामयाब हो सकता है. वह अपने बचपन के दिनों में स्कूल कॉलेजों में टीचर और बच्चों के लिए गायन कर लोगों को बीच में विशेष आकर्षण का केंद्र बनी रहती थी।  वह आज भी क्लासिकल गाने की ट्रेनिंग अपने गुरु से लेती है.


वह हाउसवाइफ होते हुए भी गायन के प्रति उत्सुकता लग्न देखने को मिलती है. वह कहती हैं कि आजकल के जो अश्लील गानों से कोई लोगों के मनोरंजन के क्षेत्र में काफी समय तक नहीं बने रहते हैं।  इस पर भी चिंता ममता भास्कर ने जाहिर की कि हमारी संस्कृति हमारी धरोहर को बचाए रखने के लिए शास्त्रीय संगीत कथक आदि पर काफी जोर दिया जाना चाहिए। 
ममता भाष्कर एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी जानी जाती हैं साथ ही वह समय-समय पर देवी जागरण के माध्यम से लोगों में लोकप्रिय हैं.


ममता भास्कर के अनेक एल्बम मार्किट में आ चुके हैं जिन में बंधन तीज के, राखी में बा प्यार, सावन में  शोभे देवघर आदि में वह काम कर चुकी है.