हिंदुस्तान में जन्मी हिंदी नहीं बनी महान


हिंदी की बिंदी
हिंदी की बिंदी मां के माथे की शान।
हिंदी हिंदू मेरा भारत महान।।
बिबिताओ का ये भारत,
भाषाओं में अनजान।



पंजाबी, उड़िया,असमी,तैलगू तमिल सभी महान।
हिंदुस्तान में जन्मी हिंदी नहीं बनी महान।
हिंदी हिंदू  भारत मां की शान।
राष्ट्र भाषा हिंदी कब बनेगी महान।।



बैदिक भाषा लुप्त हो चली,
संस्कृत का भी अधूरा ज्ञान,
बेद ऋचाओं का ये भारत विश्व में रहा महान।
पशु पक्षी भी अपनी भाषा नहीं बदलते,
बदल रहा भाषा केवल इन्सान।



फिर हम कैसे बोलें हिंदी देश की शान।
कब होगी राष्ट्र भाषा  हिंदी,मातृ भाषा की शान।
तब सचमुच होगी हिंदी , गौरवशाली होगा हिंन्दुस्तान।।
हिंदी की बिंदी भारत मां की शान।।
।। हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर हिंदी को शत् शत् प्रणाम्।।