रईस अहमद कम्युनल हार्मनी अवार्ड से सम्मानित

नई दिल्ली - दिल्ली सरकार द्वारा गठित दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने दिल्ली के समाज सेवी व एडवोकेट रईस अहमद को 2019 के लिये अवार्ड देकर सम्मानित करने की घोषणा की है। वहीं उनकी कारवां फाउंडेशन को कम्युनिटी सर्विस अवार्ड से नवाज़ा जाएगा। जिसके लिए दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग सलाहकार समिति सदस्य एडवोकेट रईस अहमद ने दिल्ली सरकार और खासतौर से दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के चैयरमेन ज़फरुल इस्लाम ख़ान का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया।



गौरतलब है कि भाजपा सांसद परवेश वर्मा द्वारा पश्चिमी दिल्ली में स्थित मस्जिदों, दरगाहों और मुस्लिम क़ब्रिस्तानों पर झूंठे इल्ज़ाम लगाकर कार्यवाही के लिये दिल्ली के उपराज्यपाल को शिकायत दी गई थी, जिसकी जांच के लिए दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग द्वारा गठित जांच कमिटी में एडवोकेट रईस अहमद ने अन्य कमिटी सदस्यों के साथ जांच कर रिपोर्ट आयोग को सौंपी थी। जिसे दिल्ली सरकार व उपराज्यपाल को भेजा गया। इसी के लिए रईस अहमद को कम्युनल हार्मनी अवार्ड से नवाज़ने की घोषणा की गई है।


वहीं दूसरा अवार्ड उनकी कारवां फाउंडेशन को कम्यूनिटी सर्विसेस के लिए दिया गया। कारवां फॉउंडेशन गरीबों व बेसहारा लोगों के लिए दिल्ली व आसपास विशेषतौर से पश्चिमी दिल्ली में कई प्रकार की सेवा प्रदान करती आ रही है। जिसके तहत कई स्थानों पर नेकी की दीवारों का निर्माण किया गया, जहां गरीबों के लिए सर्दी में गर्म कपडों का फ्री इन्तज़ाम किया जाता है, साथ ही शिक्षा रोज़गार व क़ानूनी सहायता के लिए कैरियर, एजुकेशनल व लीगल कॉउंसलिंग जैसी सेवाएं कारवां फॉउंडेशन द्वारा प्रदान की जा रही हैं और हाल ही में लॉक डाउन के दौरान बेसहारा भूंखे व गरीबों के बीच एक लाख रुपये का राशन बाटने का काम अंजाम दिया गया।


जिनमें कारवां फाउंडेशन के फाउंडर रईस अहमद के साथ सगीर ख़ान, रज़्ज़ाक ख़ान, फ़रज़न्द ख़ान, परवेज़ अहमद, इस्राईल अंसारी, नदीम ख़ान, मो. इरफान, मो. हुसैन, सदरे आलम, मो. मुर्तज़ा के साथ फाउंडेशन के तमाम साथियों ने सराहनीय योगदान दिया।